NOIDA BREAKING: एक लाख रुपये में कोविड इंजेक्शन बेचने वाले गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

एक लाख रुपये में कोविड इंजेक्शन बेचने वाले गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

Tricity Today | दो गिरफ्तार

नोएडा पुलिस ने मंगलवार को एक बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने कोरोना वायरस की दवाई के रूप इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इन दोनों के कब्जे से इंजेक्शन भी बरामद किए है। यह लोग कोरेाना वायरस से पीड़ित व्यक्ति का फायदा उठाकर उससे एक इंजेक्शन के नाम पर 80 हजार रुपये से एक लाख रुपये तक वसूलते थे। 

थाना सेक्टर-20 के प्रभारी निरीक्षक मुनीष चौहान ने बताया कि एक सूचना के आधार पर पुलिस ने सेक्टर-29 के पास से मंगलवार की सुबह को रवि और जुनेद नामक दो लोगों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी कोविड-19 के संक्रमण में मरीजों को दी जाने विली इंजेक्शन एस्पमार की कालाबाजारी कर रहे थे। ये लोग 80 हजार रुपये में एक इंजेक्शन बेच रहे थे।  

पुलिस ने बताया कि इनके पास से एक इंजेक्शन बरामद किया गया है। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि ये लोग कई दिनों से कोरोना वायरस के उपचार उपचार में प्रयोग होने वाली दवाइयों की कालाबाजारी कर रहे हैं। इनके साथ कुछ डॉक्टरों के मिले होने की भी संभावना है। पुलिस इनसे गहनता से पूछताछ कर रही है।

आधा दर्जन लोग अभी तक गिरफ्तार
आपकों बता दें कि इससे पहले भी नोएडा और ग्रेटर नोएडा में करीब आधा दर्जन लोग इस तरीके की कालाबजारी करते हुए पकड़े गए है। सभी के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की गई है। सबसे पहले दिल्ली में रहने वाला एक रचित घई नामक आरोपी पकड़ा गया था। जिसके कब्जे से 105 रेमडेसीवीर इंजेक्शन और लाखों रूपए बरामद किए गए थे।

पुलिस कमिश्नर का सख्त आदेश
पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह का आदेश है कि ऐसे गिरोह के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जो लोग ऐसे समय में लोगों की मजबूरी का फायदा उठाकर इस गलत तरीके से कालाबजारी करते है। शहर में जहां कहीं भी दवाओं की कालाबाजारी के बारे में जानकारी मिलेगी तत्काल एक्शन होगा।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.