श्रीकांत त्यागी को लेकर गौतमबुद्ध नगर में हाईअलर्ट जारी, बिना जांच के नहीं हो सकता आवागमन

NOIDA BREAKING : श्रीकांत त्यागी को लेकर गौतमबुद्ध नगर में हाईअलर्ट जारी, बिना जांच के नहीं हो सकता आवागमन

श्रीकांत त्यागी को लेकर गौतमबुद्ध नगर में हाईअलर्ट जारी, बिना जांच के नहीं हो सकता आवागमन

Tricity Today | श्रीकांत त्यागी

श्रीकांत त्यागी को लेकर गौतमबुद्ध नगर में हाईअलर्ट जारी, बिना जांच के नहीं हो सकता आवागमन Greater Noida/Noida News : महिला के साथ बदसलूकी करने वाले श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी के लिए नोएडा पुलिस ने हाईअलर्ट जारी कर दिया है। जिले में एंट्री करने वाले और बाहर जाने वाले हर एक वाहन की काफी सख्ती से जांच की जा रही है। पुलिस का मानना है कि श्रीकांत त्यागी जिले में ही कहीं छुपा हुआ है और पकड़ने वाली टीम का गठन होने के बाद वह भागने की फिराक में है, इसलिए जनपद में चारों तरफ हाई अलर्ट जारी है। दावा है कि जल्द से जल्द आरोपी श्रीकांत त्यागी नोएडा पुलिस की गिरफ्त में होगा।

इन स्थानों पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात
इस समय ग्रेटर नोएडा के परी चौक, कासना, सूरजपुर, P3 गोल चक्कर, ग्रेटर नोएडा वेस्ट के चार मूर्ति गोल चक्कर, एक मूर्ति गोल चक्कर, हिंडन पुल, नोएडा के सेक्टर-37, रजनीगंधा चौक, नोएडा चिल्ला बॉर्डर, नोएडा कालिंदी कुंज बॉर्डर, महामाया फ्लाईओवर और अन्य स्थानों पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं। यहां से गुजरने वाले हर वाहन की काफी गंभीरता से जांच की जा रही है।

नोएडा से लखनऊ तक ताबड़तोड़ छापेमारी  
नोएडा की ओमेक्स ग्रैंड हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाली महिला के साथ अभद्रता और मारपीट करने वाले श्रीकांत त्यागी को गिरफ्तार करने के लिए गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने ताबड़तोड़ छापे मारे हैं। पुलिस ने पिछले करीब 24 घंटों में श्रीकांत त्यागी को तलाश करने के लिए दिल्ली, लखनऊ, गुरुग्राम, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर और वेस्टर्न यूपी के कई जिलों में दबिश दी हैं। शनिवार की देर शाम यह जानकारी गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट के एडिशनल डीसीपी लॉ एंड ऑर्डर रणविजय सिंह ने दी है।

घर के बाहर लगी थी बैरिकेडिंग और मेटल डिटेक्टर
श्रीकांत त्यागी खुद को भारतीय जनता पार्टी की टॉप लीडरशिप का करीबी बताता था। उसके रसूख का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब वह अपने गांव भंगेल में रहता था तो घर के बाहर बैरिकेडिंग, पुलिस पिकेट, बूम बैरियर और मेटल डिटेक्टर लगाकर रखता था। गली में प्रवेश करने से पहले बाहर से आने वाले लोगों की तलाशी ली जाती थी। घर में प्रवेश करने के लिए मेटल डिटेक्टर से होकर लोगों को गुजरना पड़ता था। इतना ही नहीं श्रीकांत त्यागी के घर पर स्निफर डॉग भी लगाए गए थे। जब वह घर से निकलता था तो उसके आगे और पीछे चार एस्कॉर्ट कारें चलती थीं। जिन पर बाकायदा पुलिस लिखा होता है। नोएडा पुलिस ने दो एस्कॉर्ट गाड़ियां जब्त की हैं। श्रीकांत त्यागी के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस के सिक्योरिटी गार्ड चलते थे। वह करीब एक दर्जन बाउंसर अपनी निजी सुरक्षा में रखता है।

गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने श्रीकांत को कोई सुरक्षा नहीं दी
एडीसीपी कुमार रणविजय सिंह ने कहा, "गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने श्रीकांत त्यागी को कोई सुरक्षा मुहैया नहीं करवाई है। उसके खिलाफ कार्रवाई चल रही है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी। उसके घर से तीन कारें सीज की गई हैं। मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों को जब्त कर लिया गया है। एक कार पर उत्तर प्रदेश सरकार का राजकीय चिन्ह लगा मिला है। यह पूरी तरह राजकीय चिन्ह का दुरुपयोग है। इस मामले में भी उसके खिलाफ अलग से मुकदमा दर्ज किया गया है। गौतमबुद्ध नगर पुलिस श्रीकांत त्यागी को गिरफ्तार करने के लिए भरसक प्रयास कर रही है। उसकी तलाश में दिल्ली-एनसीआर, वेस्टर्न यूपी और कई दूसरे राज्यों में दबिश दी गई हैं। पुलिस कमिश्नरेट के अफसरों की निगरानी में कई टीमों का गठन किया गया है।"

भंगेल गांव छोड़कर सेक्टर-92 में रहने लगा
करीब तीन-चार साल पहले श्रीकांत त्यागी ने भंगेल गांव छोड़ दिया था। वह शहर के सेक्टर-92 में रहने लगा था। वहां भी उसका यह जलवा बरकरार रहा। सेक्टर के तमाम लोग उससे परेशान रहते थे। लोगों ने बताया कि श्रीकांत त्यागी के घर तमाम सरकारी अफसरों का आना-जाना लगा रहता था। अकसर बड़े-बड़े नेता, विधायक, सांसद और मंत्री उसके घर आया करते थे। सेक्टर के लोग उसे भारतीय जनता पार्टी का दिग्गज नेता समझते थे।  दरअसल, सोशल मीडिया पर श्रीकांत त्यागी के साथ भारतीय जनता पार्टी की तमाम लीडरशिप के बेहद करीबी वाले फोटो पोस्ट होते रहते हैं। यह सिलसिला अभी भी बरकरार है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.