डकैत अजय कालिया के मौत की जांच होगी, एनकाउंटर में गोली लगने से गई थी जान

BIG BREAKING: डकैत अजय कालिया के मौत की जांच होगी, एनकाउंटर में गोली लगने से गई थी जान

डकैत अजय कालिया के मौत की जांच होगी, एनकाउंटर में गोली लगने से गई थी जान

Tricity Today | मुठभेड़ स्थल पर पुलिसकर्मी

डकैत अजय कालिया के मौत की जांच होगी, एनकाउंटर में गोली लगने से गई थी जान
  • इसी महीने 7 जुलाई की दोपहर को एनकाउंटर के दौरान घायल अजय कालिया घायल हुआ था
  • घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया
  • वहां इलाज के दौरान उसी दिन कालिया की मृत्यु हो गई
  • 12 अगस्त 2021 तक कलेक्ट्रेट कार्यालय में दर्ज करा सकेंगे बयान
Noida News: यूपी एसटीएफ (UP STF) और नोएडा सेक्टर-20 थाना पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में मारे गए कुख्यात डकैत अजय कालिया की मौत की मजिस्ट्रीयल जांच होगी। इसी महीने 7 जुलाई की दोपहर को एनकाउंटर के दौरान घायल अजय कालिया घायल हुआ था। यूपी एसटीएफ नोएडा व प्रभारी थाना सेक्टर-20 की संयुक्त टीम की मुख्य मार्ग गंदा नाला उत्तरी पटरी की ओर, सेक्टर 14ए नोएडा में 7 जुलाई को कालिया के साथ मुठभेड़ हुई थी। इस दौरान उसे गोली लगी थी। 

घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया गया। वहां इलाज के दौरान उसी दिन कालिया की मृत्यु हो गई। अब इस मामले में नया पेंच फंस गया है। अजय कालिया की उपचार के दौरान हुई मृत्यु की परिस्थितियों की मजिस्ट्रीयल जांच अधोहस्ताक्षरी के द्वारा की जा रही है। उप जिला मजिस्ट्रेट सदर गौतम बुद्ध नगर इस बारे में लोगों से मदद मांगी है। उन्होंने कहा है कि उक्त घटना के संबंध में किसी व्यक्ति को कोई जानकारी हो अथवा कोई व्यक्ति अपना मौखिक, लिखित साक्ष्य, बयान देना चाहता है, तो वह दिनांक 12 अगस्त 2021 तक कलेक्ट्रेट कार्यालय कक्ष संख्या-119 में उपस्थित होकर जानकारी साझा कर सकता है।



7 जुलाई को हुई एनकाउंटर
इसी महीने 7 जुलाई, बुधवार को यूपी एसटीएफ ने बड़ी कामयाबी हासिल की थी। एक एनकाउंटर के दौरान कुख्यात डकैत अजय कालिया को घायल किया। किसी वारदात को अंजाम देने के लिए अजय कालिया शहर में आया था। इसकी भनक यूपी एसटीएफ को लग गई। एसटीएफ ने घेराबंदी की। अजय कालिया को गिरफ्तार करने की कोशिश की गई, लेकिन उसने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी गोलीबारी में अजय कालिया जख्मी हो गया। उसे नोएडा जिला अस्पताल लाया गया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 

दो लाख का इनाम था
एसटीएफ ने बताया कि अजय कालिया हाईवे पर लूट, डकैती और रेप करने वाले घुमन्तु गैंग का लीडर था। वह हरियाणा के रेवाड़ी शहर में रह रहा था। अजय उर्फ कालिया पर लूट, डकैती के साथ दुष्कर्म के कई मामलों में उत्तर प्रदेश के मथुरा, अलीगढ़, बदायूं और हरियाणा पलवल में मुकदमे दर्ज हैं। अजय पर मथुरा और अलीगढ़ पुलिस ने एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.