Noida News: आरबीआई की पहल पर फर्जी फाइनेंस कंपनी की खुली पोल, लोन दिलाने के नाम पर करते थे खेल, जानें कैसे

आरबीआई की पहल पर फर्जी फाइनेंस कंपनी की खुली पोल, लोन दिलाने के नाम पर करते थे खेल, जानें कैसे

Tricity Today | एडिश्नल डीसीपी रणविजय सिंह

भारतीय रिजर्व बैंक के एक अधिकारी ने नोएडा सेक्टर-20 थाने में दो लोगों के खिलाफ फर्जी तरीके से फाइनेंस कंपनी चलाने की शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने कहा है कि ये दोनों आरबीआई के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं और ठगी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस ने कंपनी और उक्त दोनों के खिलाफ मामला पंजीकृत कर लिया है। आगे की जांच की जा रही है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।     

नोएडा के एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक के सहायक प्रबंधक विजय पुंडीर ने उक्त कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इसमें कहा गया है कि सेक्टर - 2 में मैसर्स यस फिनस्टॉक सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड नाम की फर्जी कंपनी संचालित की जा रही है। विशाल दीक्षित और त्रिशांत शर्मा इस फाइनेंस कंपनी की आड़ में ठगी कर रहे हैं।

आरबीआई में पंजीकृत बताते थे     
दरअसल इन दोनों नामजद लोगों ने उक्त कंपनी को भारतीय रिजर्व बैंक से रजिस्टर्ड बताया था। जबकि, जांच के दौरान यह पाया गया कि यह फाइनेंस कंपनी भारतीय रिजर्व बैंक में पंजीकृत नहीं है। मामले की जांच आर्थिक अपराध शाखा को सौंपी गई थी। उसकी रिपोर्ट आने के बाद नोएडा सेक्टर-20 थाने में धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज हुआ है। 

लोगों को देते थे धोखा
कंपनी लंबे समय से लोन देने की एडवर्टाइजिंग करके मासूम लोगो के साथ धोखा कर रही थी। यहां से बाइक लोन, गोल्ड लोन और अन्य फाइनेंस देने का झांसा दिया जाता था। पुलिस ने दोनों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 467, 468, 58ब सहित अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। सेक्टर-20 पुलिस इनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.