...लेकिन पुलिस सुरक्षा, 20 गार्ड, बैरिकेडिंग, 4 एस्कॉर्ट और मेटल डिटेक्टर

श्रीकांत त्यागी भाजपा नेता नहीं! ...लेकिन पुलिस सुरक्षा, 20 गार्ड, बैरिकेडिंग, 4 एस्कॉर्ट और मेटल डिटेक्टर

...लेकिन पुलिस सुरक्षा, 20 गार्ड, बैरिकेडिंग, 4 एस्कॉर्ट और मेटल डिटेक्टर

Tricity Today | लखनऊ थाने में बैठा श्रीकांत त्यागी (File Photo)

...लेकिन पुलिस सुरक्षा, 20 गार्ड, बैरिकेडिंग, 4 एस्कॉर्ट और मेटल डिटेक्टर Noida News : नोएडा में ओमेक्स ग्रैंड हाउसिंग सोसाइटी में शुक्रवार को महिला के साथ अभद्रता करने वाले तथाकथित भाजपा नेता की कुंडली खुलकर सामने आने लगी है। श्रीकांत त्यागी से भारतीय जनता पार्टी ने पल्ला झाड़ लिया है। भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने साफ तौर पर कहा, "श्रीकांत त्यागी नाम का कोई व्यक्ति किसान मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में सदस्य नहीं था और आज भी नहीं है।" इस सबके बावजूद सवाल यह उठता है, श्रीकांत त्यागी भारी-भरकम सुरक्षा लेकर कैसे चल रहा था? उसके काफिले में पुलिस की 4 एस्कॉर्ट चलती थीं। वह करीब 10 सरकारी और 10 गैर सरकारी गनर लेकर चल रहा था।

घर के बाहर लगी थी बैरिकेडिंग और मेटल डिटेक्टर
श्रीकांत त्यागी खुद को भारतीय जनता पार्टी की टॉप लीडरशिप का करीबी बताता था। उसके रसूख का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब वह अपने गांव भंगेल में रहता था तो घर के बाहर बैरिकेडिंग, पुलिस पिकेट, बूम बैरियर और मेटल डिटेक्टर लगाकर रखता था। गली में प्रवेश करने से पहले बाहर से आने वाले लोगों की तलाशी ली जाती थी। घर में प्रवेश करने के लिए मेटल डिटेक्टर से होकर लोगों को गुजरना पड़ता था। इतना ही नहीं श्रीकांत त्यागी के घर पर स्निफर डॉग भी लगाए गए थे। जब वह घर से निकलता था तो उसके आगे और पीछे चार एस्कॉर्ट कारें चलती थीं। जिन पर बाकायदा पुलिस लिखा होता है। नोएडा पुलिस ने दो एस्कॉर्ट गाड़ियां जब्त की हैं। श्रीकांत त्यागी के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस के सिक्योरिटी गार्ड चलते थे। वह करीब एक दर्जन बाउंसर अपनी निजी सुरक्षा में रखता है।

भंगेल गांव छोड़कर सेक्टर-92 में रहने लगा
करीब तीन-चार साल पहले श्रीकांत त्यागी ने भंगेल गांव छोड़ दिया था। वह शहर के सेक्टर-92 में रहने लगा था। वहां भी उसका यह जलवा बरकरार रहा। सेक्टर के तमाम लोग उससे परेशान रहते थे। लोगों ने बताया कि श्रीकांत त्यागी के घर तमाम सरकारी अफसरों का आना-जाना लगा रहता था। अकसर बड़े-बड़े नेता, विधायक, सांसद और मंत्री उसके घर आया करते थे। सेक्टर के लोग उसे भारतीय जनता पार्टी का दिग्गज नेता समझते थे।  दरअसल, सोशल मीडिया पर श्रीकांत त्यागी के साथ भारतीय जनता पार्टी की तमाम लीडरशिप के बेहद करीबी वाले फोटो पोस्ट होते रहते हैं। यह सिलसिला अभी भी बरकरार है।

सेक्टर से ओमेक्स ग्रैंड सोसायटी में रहने लगा
फिलहाल श्रीकांत त्यागी ओमेक्स ग्रैंड हाउसिंग सोसाइटी में रह रहा था। यहां भी उसने अपने कारनामों से सोसाइटी के निवासियों की नाक में दम कर रखा था। पूरी पार्किंग पर कब्जा किया हुआ है। सोसाइटी के पार्कों और रास्तों पर भी उसने कब्जा कर रखा था। जिस फ्लोर पर श्रीकांत त्यागी का घर है, वहां सिक्योरिटी के नाम पर लोगों को आने-जाने की मनाई थी। सोसायटी के लोगों ने बताया कि वह जब फ्लैट से बाहर निकलता था तो उसके आगे-पीछे एक दर्जन सिक्योरिटी गार्ड रहते थे। वह जब पार्क में घूमने आता था तो बाकी लोगों को दूर हटा दिया जाता था। उसके सिक्योरिटी गार्ड पार्क को चारों ओर से घेरकर खड़े हो जाते थे। जब श्रीकांत त्यागी पार्क में खेलता था तो सोसायटी के बच्चों को भी खेलने की इजाजत नहीं दी जाती थी। सोसाइटी के निवासियों का कहना है कि उसके साथ पिस्टल, कार्बाइन और कई दूसरे अत्याधुनिक हथियार लेकर सिक्योरिटी गार्ड चलते थे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.