ओपीडी शुरू होने से नॉन कोविड मरीजों को मिली राहत, अस्पतालों में उमड़ी भीड़

गौतमबुद्ध नगर: ओपीडी शुरू होने से नॉन कोविड मरीजों को मिली राहत, अस्पतालों में उमड़ी भीड़

ओपीडी शुरू होने से नॉन कोविड मरीजों को मिली राहत, अस्पतालों में उमड़ी भीड़

Google Image | अस्पतालों में उमड़ी भीड़

ओपीडी शुरू होने से नॉन कोविड मरीजों को मिली राहत, अस्पतालों में उमड़ी भीड़ जिला अस्पताल की ओपीडी व सर्जरी विभाग शुरू होने के साथ ही मरीजों की संख्या भी बढ़नी शुरू हो गई है। सप्ताह के पहले दिन सोमवार को जिला अस्पताल में पांच मरीजों की हड्डी का आपरेशन हुआ, जबकि 484 विभिन्न बीमारियों से पीड़ित मरीजों को ओपीडी में उपचार मिला। लगभग 10 मरीजों को आपरेशन के लिए मंगलवार यानी आज की तारीख भी गई है। अप्रैल में संक्रमण बढ़ने के चलते जिला अस्पताल में सर्जरी व ओपीडी सेवा बंद कर दी गई थी। कुछ मरीजों ने पोस्ट कोविड लक्षण होने पर भी दवा ली। 

जिला अस्पताल की सीएमएस डॉ. रेनू अग्रवाल ने बताया कि सोमवार से अस्पताल में सर्जरी शुरू कर दी है। शासन के आदेश अनुसार शुक्रवार को ही अस्पताल में नान कोविड मरीजों के इलाज की व्यवस्था शुरू कर दी थी, लेकिन सोमवार को अस्पताल में इलाज के लिए ज्यादा मरीज पहुंचे। दो बड़े व तीन छोटे आपरेशन किए गए। लेबर रूम में पांच गर्भवतियों का प्रसव भी कराया, इनमें चार सामान्य व एक सिजेरियन प्रसव हुआ। 

484 मरीजों ने कराया इलाज
अस्पताल में धीरे-धीरे मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। ऐसे में जिन मरीजों की कोरोना संक्रमण के कारण सर्जरी रुक गई थी, उन्हें शुरू कर दिया गया है। अप्रैल में संक्रमण बढ़ने के चलते जिला अस्पताल में सर्जरी व ओपीडी सेवा बंद कर दी गई थी। ओपीडी में पहुंचे 484 लोगों में सर्वाधिक बुखार के ही मरीज पहुंचे। उनकी कोरोना जांच भी कराई गई, हालांकि एंटीजन जांच में कोई भी संक्रमित नहीं मिला। इसके अलावा कुछ मरीजों ने पोस्ट कोविड लक्षण होने पर भी दवा ली। 

6 मरीजों की सर्जरी की गई
सेक्टर-30 स्थित जिला अस्पताल में सोमवार से मरीजों की सर्जरी शुरू कर दी गई है। पहले दिन अपताल में कुल 6 सर्जरी हुई। इनमें तीन माइनर सर्जरी हुई, जबकि दो मेजर सर्जरी हुई। इसके अलावा एक लेबर सर्जरी हुई। वहीं चार नॉर्मल डिलीवरी हुई। सीएमएस डॉ रेनू अग्रवाल ने‌ बताया कि जिन लोगों को सर्जरी का टाइम दिया गया उनकी सर्जरी करनी शुरू कर दी गई है। दरअसल कोरोना की वजह से जिला अस्पताल में सर्जरी बंद कर दी गई थी‌। चार अप्रैल से शासन ने जिले में सर्जरी ओपीडी शुरू करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद से सर्जरी ओपीडी सेवा शुरू कर दी गई है।
महिलाओं के लिए विशेष कैंप
स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को जिला अस्पताल व जिम्स में महिलाओं के लिए विशेष टीकाकरण बूथ का शुरू हो गया है। प्रथम दिन विशेष टीकाकरण बूथ में महिलाओं की संख्या कम रही। जिला अस्पताल में 100 महिलाओं के लक्ष्य के सापेक्ष 44 और जिम्स में 15 ने टीका लगवाकर खुद को सुरक्षित कर लिया। उधर, 24 घंटे में विभिन्न 69 केंद्रों पर 10,469 लोगों ने टीकाकरण कराया। जिला अस्पताल में महिलाओं के लिए बने विशेष टीकाकरण बूथ का सीएमएस डॉ. रेनू अग्रवाल ने फीता काटकर शुभारंभ किया। यहां टीका लगाने के लिए भी महिलाओं की ड्यूटी तय की गई। वहीं, एक बूथ जिम्स में भी तैयार किया गया है।

100 महिलाओं को लगेगा टीका
यहां प्रतिदिन 100-100 महिलाओं के स्लाट के आधार पर टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वहीं, जिले में अब तक साढ़े चार लाख से अधिक लोग टीके की पहली डोज ले चुके हैं। सोमवार को 18 से 44 वर्ष के बीच आयु के 6,846 लोगों ने पहली डोज ली। 45 से 59 वर्ष के बीच 2,692 लोगों ने पहली और 153 ने दूसरी डोज ली। 60 वर्ष से अधिक उम्र के 720 बुजुर्गों ने पहली और 48 ने दूसरी डोज लगवाई। इसके अलावा चार स्वास्थ्यकर्मियों व छह अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों ने टीके की दूसरी डोज लगवाकर खुद को सुरक्षित कर लिया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.