गौतमबुद्ध नगर के दो अस्पतालों में महिलाओं के लिए ‘पिंक बूथ’ शुरू, विमला बाथम बोलीं- ‘सभी कराएं टीकाकरण’

अच्छी खबर : गौतमबुद्ध नगर के दो अस्पतालों में महिलाओं के लिए ‘पिंक बूथ’ शुरू, विमला बाथम बोलीं- ‘सभी कराएं टीकाकरण’

गौतमबुद्ध नगर के दो अस्पतालों में महिलाओं के लिए ‘पिंक बूथ’ शुरू, विमला बाथम बोलीं- ‘सभी कराएं टीकाकरण’

Tricity Today | विमला बाथम

गौतमबुद्ध नगर के दो अस्पतालों में महिलाओं के लिए ‘पिंक बूथ’ शुरू, विमला बाथम बोलीं- ‘सभी कराएं टीकाकरण’ गौतमबुद्ध नगर में वैक्सीनेशन प्रोग्राम में तेजी लाने के मकसद से महिलाओं के लिए 'स्पेशल पिंक बूथ' शुरू किया गया है। इन बूथों पर सिर्फ महिलाओं और युवतियों को ही कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। नोएडा के जिला अस्पताल में आज से इस बूथ की शुरुआत हो गई है। आरम्भ में यूपी के सभी 75 जिलों में दो-दो पिंक बूथ बनाए गए हैं। नोएडा के जिला अस्पताल और ग्रेटर नोएडा जिम्स में पिंक बूथ बने हैं। खास बात यह है कि इन बूथ पर हेल्थ वर्कर्स भी महिलाएं ही होंगी। 

ये फैसला इसलिए लिया गया है, ताकि वैक्सीन को लेकर महिलाओं की झिझक दूर हो सके। उत्तर प्रदेश महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम ने जिला अस्पताल में बने बूथ का दौरा किया और वहां चल रहे टीकाकरण कार्यक्रम का जायजा लिया। बातचीत में उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशानुसार सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं। महिलाओं के लिए पिंक वैक्सीनेशन बूथ बनाए गए हैं। जहां उन्हें टीके की खुराक दी जा रही है।

केंद्र-राज्य सरकार महिला उत्थान के लिए समर्पित हैं
पूर्व विधायक विमला बाथम ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की राज्य सरकार महिलाओं के सामाजिक विकास के लिए प्रयासरत है। इसके लिए महिला सशक्तिकरण अभियान चलाए गए। टीकाकरण में भी उनके लिए अलग बूथ बनाए गए हैं। इसके लिए सभी जिला अस्पतालों और वैक्सीनेशन सेंटर में बूथ बने हैं। जिसके तहत महिलाओं को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी। हालांकि रजिस्ट्रेशन और स्लॉट बुकिंग फिलहाल एक समस्या है। लेकिन जल्द ही इससे पार पा लिया जाएगा। महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा संख्या में यहां आकर वैक्सीन लगवानी चाहिए। पिंक बूथ की शुरुआत सिर्फ महिलाओं के लिए ही की गई है।” 

सभी टीकाकरण कराएं
उन्होंने सभी महिलाओं से टीकाकरण कराने की अपील की। विमला बाथम ने महिलाओं को जागरूक करते हुए कहा, “भारत में बनी स्वदेशी तकनीक की वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। इसे लगाने के बाद कोई परेशानी नहीं है। मैंने स्वयं टीका लगवाया और मैं बिल्कुल स्वस्थ हूं। मुझे कोई तकलीफ नहीं हुई। इसलिए अपना नंबर आने पर वैक्सीन की डोज अवश्य लें। ऐसा करके महामारी से बचा जा सकता है। याद रखें, वायरस खत्म नहीं हुआ है। वैक्सीन के जरिए खुद को सुरक्षित किया जा सकता है। जिला अस्पताल में सारी सुविधाएं उपलब्ध हैं। टीकाकरण के लिए आने वाली महिलाओं के बैठने की पूरी व्यवस्था है। कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जा रहा है। इसके लिए सीएमएस का धन्यवाद।”

यूपी सरकार का अहम आदेश
दरअसल यूपी की योगी सरकार ने महिलाओं के टीकाकरण को लेकर महत्वपूर्ण आदेश दिया है। इसके मुताबिक हर जिले में कम से कम दो महिला बूथ के साथ वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू की जाए। एक बूथ में 18 से 44 साल और दूसरे बूथ में 45 साल से ऊपर की महिलाओं को वैक्सीन लगाई जाए। सरकार ने इन बूथों को जिला महिला अस्पतालों या जिला संयुक्त अस्पताल में बनाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही, अगर जरूरत पड़ी तो सरकार के आदेश पर तहसीलों में भी ऐसे बूथ बनाए जा सकते हैं।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.