कूड़ा उठाने वाली एजेंसी से नाराज इस सेक्टर के निवासी नहीं करेंगे भुगतान, प्राधिकरण से बड़ी मांग की

नोएडा : कूड़ा उठाने वाली एजेंसी से नाराज इस सेक्टर के निवासी नहीं करेंगे भुगतान, प्राधिकरण से बड़ी मांग की

कूड़ा उठाने वाली एजेंसी से नाराज इस सेक्टर के निवासी नहीं करेंगे भुगतान, प्राधिकरण से बड़ी मांग की

Google Image | हाईराइज सोसाइटी

कूड़ा उठाने वाली एजेंसी से नाराज इस सेक्टर के निवासी नहीं करेंगे भुगतान, प्राधिकरण से बड़ी मांग की Noida News : तमाम प्रयासों के बावजूद नोएडा में कूड़ा उठाने और उसके सही ढंग से निस्तारण के इंतजाम नहीं हो पा रहे हैं। इसको लेकर कई हाईराइज सोसाइटी में निवासी रोष में है। अब शहर की एक बड़ी सोसाइटी ने कूड़ा उठाने वाली एजेंसी का पेमेंट रोकने की चेतावनी दी है। निवासियों से कहा गया है कि अगर वादे के मुताबिक एजेंसी कूड़ा उठाने का प्रबंध नहीं करेगी, तो सोसाइटी के लोग एक हफ्ते तक इसका भुगतान नहीं करेंगे। 

सेक्टर-51 आरडब्लूए के महासचिव संजीव कुमार ने कहा कि कूड़ा उठाने वाली एजेंसी मनमानी कर रही है। इसलिए सेक्टर के सभी निवासियों से कहा गया है कि डोर टू डोर एजेंसी, गार्बेज कूड़ा उठाने वाली एजेंसी की पेमेंट अगले एक सप्ताह तक न की जाए। अगर सेक्टर में कूड़ा उठाने की व्यवस्था ठीक नहीं होगी, तो हम एजेंसी को भुगतान नहीं करेंगे। 

एजेंसी ने आरडब्लूए-51 से वादा किया है कि बुधवार से एक और गार्बेज कलेक्शन व्हीकल सेक्टर के डी ब्लॉक में लगाई जाएगी। ताकि निवासियों को कूड़े से संबंधित समस्याओं का सामना ना करना पड़े। आरडब्लूए ने सेक्टर के लोगों से अनुरोध करते हुए कहा है, अगर एजेंसी कल से गाड़ी डी ब्लॉक में लगाती है, आगामी 1 सप्ताह तक कूड़ा सही समय पर और लगातार उठता है, तो ही एजेंसी को भुगतान करें। अन्यथा पेमेंट न करें। 

प्लांट्स बंद हो गए
महासचिव ने कहा, नोएडा प्राधिकरण के सहयोग से शहर के तमाम सेक्टरों में 90 फीसदी सीएसआर फंड की मदद से वेस्ट डिस्पोजेबल कंपोस्ट प्लांट्स लगाए गए थे। इनमें से अधिकतर इन दिनों बंद हो चुके हैं। इसका मुख्य कारण पीवीवीएनएल विभाग का कमर्शियल रेट पर बिजली चार्ज वसूलना है। यह बिल्कुल जायज नहीं है। वेस्ट कंपोस्ट प्लांट बंद होने के मुख्य कारण वेस्ट प्लांट संचालित करने की लागत, मेंटेनेंस, बिजली खर्च, वेस्ट कलेक्शन और मैन पावर के खर्चे हैं। ये खर्च इतना अधिक होता है कि प्लांट बंद करने की नौबत आ जाती है।

कॉमर्शियल दर पर न करें चार्ज
इस कारण डोर टू डोर एजेंसी पर अधिक लोड आ गया है। इसलिए वेस्ट कलेक्शन सही ढंग से नहीं हो पा रहा है। पीवीवीएनएल विभाग और उत्तर प्रदेश शासन से अनुरोध है कि कंपोस्ट वेस्ट प्लांट के लिए विद्युत सप्लाई कॉमर्शियल रेट पर चार्ज न करें। बल्कि इन्हें खेती की तरह न्यूनतम दरों पर चार्ज की जाए। उन्होंने कहा, नोएडा प्राधिकरण के उच्चाधिकारियों से अपील है कि समस्या के उचित समाधान के लिए सभी कंपोस्ट प्लांट एरिया की छतों पर सौर ऊर्जा प्लांट सीएसआर फंड से लगाए जाएं। इससे बिजली समस्या का भी निवारण हो सकेगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.