सब इंस्पेक्टर की करतूत ने नोएडा पुलिस को किया शर्मसार, सस्पेंड किया गया और डीसीपी ने माफ़ी मांगी, जानिए पूरा मामला

NOIDA BREAKING : सब इंस्पेक्टर की करतूत ने नोएडा पुलिस को किया शर्मसार, सस्पेंड किया गया और डीसीपी ने माफ़ी मांगी, जानिए पूरा मामला

सब इंस्पेक्टर की करतूत ने नोएडा पुलिस को किया शर्मसार, सस्पेंड किया गया और डीसीपी ने माफ़ी मांगी, जानिए पूरा मामला

Tricity Today | सब इंस्पेक्टर की करतूत

सब इंस्पेक्टर की करतूत ने नोएडा पुलिस को किया शर्मसार, सस्पेंड किया गया और डीसीपी ने माफ़ी मांगी, जानिए पूरा मामला Noida News : नोएडा पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर की करतूत ने कमिश्नरेट (Noida Police) को शर्मसार किया है। नोएडा के डीसीपी ने सब इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया है। उसके खिलाफ विभागीय इंक्वायरी का आदेश दिया गया है। साथ ही डीसीपी ने आम आदमी से सब इंस्पेक्टर की इस हरकत के लिए माफी मांगी है। आपको बता दें कि नोएडा में तैनात सब इंस्पेक्टर पंकज यादव ने एक व्यक्ति को बुरी तरह पीटा। उसे उठाकर अवैध हिरासत में रखा। इस पूरी घटना का एक वीडियो उत्तर प्रदेश पुलिस से जबरिया सेवानिवृत्त किए गए आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने ट्वीट किया है। जिस पर नोएडा पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की है। अमिताभ ठाकुर ने सोमवार की सुबह एक ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने बताया है कि 9 अप्रैल को नोएडा के सेक्टर-19 में तैनात सब इंस्पेक्टर पंकज यादव ने आशीष गुप्ता नाम के एक व्यक्ति को जबरन हिरासत में लिया। पंकज यादव आशीष गुप्ता के सेक्टर-16 स्थित ऑफिस में जा घुसे। उनके साथ बुरी तरह मारपीट की गई। गाली गलौज किया गया। जबरन उठाकर थाने में बंद कर दिया गया। करीब 12 घंटे तक आशीष गुप्ता को अवैध हिरासत में रखा गया। पंकज यादव की अवैध हिरासत से छूटने के बाद आशीष गुप्ता ने उत्तर प्रदेश सरकार के आइजीआरएस पोर्टल पर शिकायत भेजी। पूरी घटना का वीडियो भी शासन को भेजा गया। 

अमिताभ ठाकुर ने गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी, उत्तर प्रदेश पुलिस और पुलिस महानिदेशक को टैग करते हुए पूरे घटनाक्रम का वीडियो ट्वीट किया है। इस पर नोएडा पुलिस ने संज्ञान लिया। नोएडा के डीसीपी फर्स्ट राजेश एस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से अमिताभ ठाकुर को अब से थोड़ी देर पहले जवाब दिया है। जिसमें डीसीपी ने लिखा, "सब इंस्पेक्टर का व्यवहार पूरी तरह गलत है। नोएडा पुलिस इसके लिए अफसोस जाहिर करती है। सब इंस्पेक्टर को तत्काल निलंबित कर दिया गया है और उसके खिलाफ डिपार्टमेंटल इंक्वायरी बैठाई गई है। उत्तर प्रदेश पुलिस नागरिकों के प्रति संवेदनशील व्यवहार करने के लिए प्रतिबंध है।"

अमिताभ ठाकुर की ओर से ट्वीट किए गए वीडियो को देखने पर पता चलता है कि सब इंस्पेक्टर पंकज यादव ने मनीष गुप्ता के साथ मारपीट की है। उन्हें बेहद अभद्र भाषा में गालियां दी हैं। उन्हें उनके दफ्तर से जबरन उठाकर गाड़ी में डाला गया। इस दौरान सब इंस्पेक्टर पंकज यादव धमकियां दे रहा है। जब मनीष गुप्ता इस पूरे वाकये की वीडियो बनाते हैं तो सब इंस्पेक्टर उन्हें देख लेने की धमकी भी देता है। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान पंकज यादव के साथ कुछ और पुलिसकर्मी भी थे। जिनकी आवाज वीडियो में सुनाई देती हैं, लेकिन उनका चेहरा नहीं दिख रहा है। 

पूरे घटनाक्रम के दौरान मनीष गुप्ता बेहद शालीन तरीके से अपनी गलती के बारे में सब इंस्पेक्टर से पूछ रहे हैं। सब इंस्पेक्टर उन्हें बार-बार एक ही बात कहता है कि तुझे वीडियो बनाने का सबक सिखाएंगे। वीडियो की शुरुआत में सब इंस्पेक्टर पंकज यादव सिगरेट पीते हुए और धुआं उड़ाते हुए नजर आता है। इसके बाद वीडियो "आउट ऑफ फोकस" हो जाती है। जिसमें दृश्य नजर नहीं आते हैं, लेकिन संवाद पूरी तरह से साफ-साफ सुनाई पड़ रहे हैं। इस दौरान पंकज यादव की ओर से किए गए गाली गलौज और मारपीट की आवाज स्पष्ट रूप से सुनी जा सकती हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.