बिना एक्शन प्लान के ट्विन टावर को गिराने आई एजेंसी, सीईओ ने लगाई फटकार

बड़ी खबर : बिना एक्शन प्लान के ट्विन टावर को गिराने आई एजेंसी, सीईओ ने लगाई फटकार

बिना एक्शन प्लान के ट्विन टावर को गिराने आई एजेंसी, सीईओ ने लगाई फटकार

Tricity Today | ट्विन टावर

बिना एक्शन प्लान के ट्विन टावर को गिराने आई एजेंसी, सीईओ ने लगाई फटकार Noida News : सुपरटेक एमेरल्ड कोर्ट ट्विन टावर को गिराने की योजना सोमवार को भी मूर्त रूप नहीं ले सकी। सुपरटेक बिल्डर ने जिन एजेंसी को टावर गिराने के लिए प्रेजेंटेशन का मौका दिलाया था, वे एक्शन प्लान नहीं दिखा सकी। सोमवार को हुई प्रेजेंटेशन बैठक में नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority), सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीबीआरआई) और गठित कमेटी के सदस्य शामिल थे। 

अफसरों ने बताया कि ऑनलाइन हुई इस बैठक में दो एजेंसियां बिल्डर की तरफ से प्रेजेंटेशन देने आई थीं। उन्होंने इमारतों को गिराने का अपना अनुभव बताया। लेकिन ट्विन टॉवर्स के लिए सीबीआरआई ने दोनों एजेंसियों से एक्शन प्लान मांगा। मगर दोनों के पास कोई प्लान नहीं था। इस पर अथॉरिटी के अफसरों ने नाराजगी जताई। दोनों एजेंसियों को एक्शन प्लान तैयार कर फिर से अगले सोमवार को प्रेजेंटेशन देने के लिए कहा गया है। 

बैठक में नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु महेश्वरी भी शामिल हुई थीं। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के दिए गए समय के अंदर दोनों टावर ध्वस्त किए जाने हैं। इसलिए इसमें किसी तरह की देरी स्वीकार्य नहीं है। जो भी एजेंसी चुनी जाए, वह प्रेजेंटेशन में अपना पूरा एक्शन प्लान दिखाए। ताकि चयन में देरी ना हो। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक 3 महीने में इन दोनों टावर को गिराया जाना है। मतलब 30 नवंबर से पहले इन्हें ध्वस्त करना पड़ेगा। लेकिन अब तक प्राधिकरण ने किसी एजेंसी का चयन नहीं किया है।

एजेंसी से कहा गया है कि वह अगले सोमवार को ट्विन टावर के स्ट्रक्चरल डिजाइन पर रिसर्च, मजबूती और आसपास की स्थिति, प्रदूषण रोकने, ट्रैफिक डायवर्ट करने जैसे बिंदुओं पर एक्शन प्लान तैयार कर साझा करे। अथॉरिटी के अधिकारियों ने कहा कि अगर बिल्डर को जोखिम लगता है, तो उसके आसपास की इमारत का बीमा करवाया जा सकता है। इस पर भी मंथन हुई है। फिलहाल कुछ फाइनल नहीं हो पाया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.