देश के सबसे अच्छे विस्फोटक विशेषज्ञ बुलाए गए, तेज हुई ध्वस्तीकरण की तैयारी

Supertech Twins Tower : देश के सबसे अच्छे विस्फोटक विशेषज्ञ बुलाए गए, तेज हुई ध्वस्तीकरण की तैयारी

देश के सबसे अच्छे विस्फोटक विशेषज्ञ बुलाए गए, तेज हुई ध्वस्तीकरण की तैयारी

Tricity Today | सुपरटेक ट्विंस टावर

देश के सबसे अच्छे विस्फोटक विशेषज्ञ बुलाए गए, तेज हुई ध्वस्तीकरण की तैयारी Noida News : शहर के सेक्टर-93ए सुपरटेक एमरॉल्ड कोर्ट परिसर में बने ट्विन टावर के ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया अब तेजी से चल रही है। मंगलवार को यहां चल रहे कामकाज को देखने सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीटयूट (सीबीआरआई) और सेंट्रल इंस्टीटयूट ऑफ माइनिंग एंड फ्यूल रिसर्च (सीआईएमएफआर) की टीम मौके पर पहुंची। टीम के सदस्यों ने करीब दो घंटे तक रुककर जगह-जगह चल रहे काम को देखा। अभी ये टीम दो दिन और रुककर टावर ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया देखेंगी।

विस्फोटकों में विशेषज्ञता नहीं
सीबीआरआई के अधिकारियों ने नोएडा प्राधिकरण से ब्लास्ट डिजाइन का मूल्यांकन करने के लिए एक विशेषज्ञ कंपनी को नियुक्त करने का आग्रह किया था। सीबीआरआई ने प्राधिकरण के अधिकारियों से कहा था कि उनके पास विस्फोटकों में विशेषज्ञता नहीं है और वे स्ट्रक्चरल मामलों से निपटते हैं। बाद में उन्हें अपने स्तर पर अन्य एजेंसियों को शामिल करने की सलाह दी गई, जिनके पास विस्फोटकों और विस्फोट डिजाइन से संबंधित विशेषज्ञता हो।

धनबाद की सीआईएमएफआर टीम शामिल
ऐसे में अब सीबीआरआई अपने सहयोग के लिए धनबाद की सीआईएमएफआर टीम को साथ लेकर आई है। सीआईएमएफआर के वैज्ञानिकों की टीम ब्लास्ट डिजाइन रिपोर्ट के हिसाब से ध्वस्तीकरण से होने वाली नुकसान से बचाने के लिए जरूरी व्यवस्था तैयार करने में मदद करेगी। एडीफाइस एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि 21 अगस्त को ट्विन टावरों का ध्वस्तीकरण होना है। ध्वस्तीकरण में करीब 3500 किलो बारूद लगने का अनुमान है। एपेक्स व सियान टावर में किए जा रहे करीब 9 हजार छेदों में यह बारूद लगाया जाएगा।

500 से अधिक पुलिसकर्मी रहेंगे मौजूद
21 अगस्त को रिमोट दबाकर विस्फोट के जरिए जरिए ट्विन टावर ध्वस्त किए जाएंगे। उस दौरान आसपास लोगों को आने से रोकने, कोई हादसा होने पर तुरंत मदद करने, ट्रैफिक डायवर्ट करने आदि काम के लिए पुलिसकर्मियों की जरूरत पड़ेगी। एजेंसी के अधिकारियों ने बताया कि ध्वस्तीकरण वाले दिन ट्विन टावर के आसपास 500 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाएगा। इसके अलावा यातायात व्यवस्था बनाने के लिए करीब 150 यातायात पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे। उस दिन दोपहर करीब दो बजे के आसपास नोएडा-ग्रेनो एक्सप्रेस वे को भी आधा घंटे तक वाहनों के लिए बंद रखा जाएगा।

एक अगस्त से शुरू होगा बारूद लगाने का काम
अधिकारियों ने बताया कि टावरों में किए जा रहे छेदों में बारूद लगाने का काम 1 अगस्त से शुरू होने की उम्मीद है। बारूद लगाने वाले दिन से ही दोनों टावरों को पुलिस अपनी सुरक्षा में ले लेगी। उस दिन से रोजाना करीब 20 पुलिस कर्मियों के जिम्मे वहां की सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। ये पुलिसकर्मी अधिकृत कर्मचारियों को ही टावर परिसर में जाने की अनुमति देंगे। बारूद रोजाना पलवल से पुलिस सुरक्षा में नोएडा आया करेगा। जो बारूद बचेगा, वह पुलिस सुरक्षा में ही वापस जाया करेगा। यहां पर बचा बारूद नहीं रखा जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.