गौतमबुद्ध नगर के गांवों के बीच नहीं होगा सीमा विवाद, प्रशासन ने ये काम शुरू किया

बड़ी खबर : गौतमबुद्ध नगर के गांवों के बीच नहीं होगा सीमा विवाद, प्रशासन ने ये काम शुरू किया

गौतमबुद्ध नगर के गांवों के बीच नहीं होगा सीमा विवाद, प्रशासन ने ये काम शुरू किया

Tricity Today | गौतमबुद्ध नगर

गौतमबुद्ध नगर के गांवों के बीच नहीं होगा सीमा विवाद, प्रशासन ने ये काम शुरू किया Gautam Buddh Nagar : गौतमबुद्ध नगर के गांव में सीमा विवाद को सुलझाने के लिए प्रशासन ने बड़ी पहल शुरू की है। सीमांकन के लिए सीमा स्तंभ लगवाए जा रहे हैं। जिले के तीनों तहसील में कुल 468 सीमा स्तंभ लगेंगे। इससे 2 गांव के बीच की जमीन चिन्हित हो सकेगी। उसके बाद जमीन के विवाद का निस्तारण तथा राजस्व से जुड़े मामलों को सुलझाने में सहूलियत मिलेगी। इसके लिए शासन से बजट जारी हो चुका है।

बताते चलें कि गौतमबुद्ध नगर के विभिन्न गावों का सीमांकन करीब 20 साल पहले हुआ था। उसके बाद गांव का बंटवारा तीनों प्राधिकरण के क्षेत्रों में हुआ। कई गांव ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण के दायरे में चले गए। जबकि कई गांव के सीमा स्तंभ समय के साथ गायब हो गए। इस वजह से इनकी सीमा का पता नहीं चल पाता है। ऐसे में राजस्व और जमीन के मामलों को सुलझाने में दिक्कत आती है। मौजूदा योगी सरकार ने इन समस्याओं से पार पाने के लिए सीमा चिन्हित करने का आदेश दिया था।

जिला प्रशासन ने सभी गांव का सर्वे करवाया। इसके बाद कुल 468 सीमा स्तंभ लगाने की जरूरत सामने आई। जानकारी के मुताबिक एक स्तंभ लगाने पर करीब 1100 रुपए का खर्च आएगा। इसी को ध्यान में रखते हुए शासन ने 5.14 लाख रुपए का बजट जारी कर दिया है।

इसमें से सदर तहसील को 2.29 लाख, जेवर को 4400 रुपए और दादरी तहसील को 2.80 लाख रुपए का बजट जारी हुआ है। धनराशि मिलने के बाद तीनों तहसीलों में स्तंभ लगाने का काम शुरू हो गया है। राजस्व टीम सभी गांव की सीमाओं को चिन्हित कर स्तंभ लगवा रही हैं। एक गांव में दो से 6 स्तंभ लगाए जाने का ही प्रावधान रखा गया है। ताकि सीमांकन में समस्या ना हो। इसके अलावा कई जगह पुराने, उखड़े स्तंभों के जगह नए लगाए जाएंगे।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.