नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ जमा हुए हजारों किसान, दी बड़ी चेतावनी

बड़ी खबर : नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ जमा हुए हजारों किसान, दी बड़ी चेतावनी

नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ जमा हुए हजारों किसान, दी बड़ी चेतावनी

Tricity Today | 81 गांवों के किसानों का प्रदर्शन जारी

नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ जमा हुए हजारों किसान, दी बड़ी चेतावनी Noida News : अपनी चार अहम मांगों को लेकर नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) के खिलाफ 81 गांवों के किसानों का प्रदर्शन लगातार दूसरे हफ्ते जारी है। हालांकि बारिश की वजह से सोमवार को किसान एकत्र नहीं हो पाए थे। लेकिन आज मंगलवार को फिर से नोएडा के सेक्टर-5 के हरौला में हजारों की संख्या में किसान इकट्ठा हुए हैं। भारी संख्या में महिलाएं में प्रदर्शन में पहुंची हैं। उनका कहना है कि जब तक नोएडा प्राधिकरण उनकी मांगें पूरी नहीं करेगा, प्रदर्शन जारी रहेगा। 

उनका कहना है कि अगर मांगे पूरी नहीं हुईं, तो वे बड़े आंदोलन के लिए मजबूर होंगे। इसकी पूरी जिम्मेदारी नोएडा प्राधिकरण की होगी। भारतीय किसान परिषद इस प्रदर्शन की अगुवाई कर रहा है। बताते चलें कि अपनी मांगों को लेकर किसान 1 सितंबर से आंदोलन कर रहे हैं। सुरक्षा-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए नोएडा पुलिस ने 103 किसानों और नेताओं को जेल भेजा था। जिन्हें बाद में रिहा किया गया। उसके बाद फिर से प्रदर्शनकारी किसान रणनीति बनाकर अथॉरिटी के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। 

प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे किसान नेता सुखवीर सिंह खलीफा ने आज कहा, निश्चित तौर पर रोज धरना होगा। प्रदर्शन होगा। हम अपनी ताकत लगाएंगे। हमारा जो हक भ्रष्टाचारियों ने दबा कर रखा है, उसे छीन कर लेंगे। अब आर-पार की लड़ाई होगी। पीछे हटने का कोई सवाल नहीं। यहां पूरी तरह पीड़ित किसान बैठे हैं। कोई नेता नहीं है। 81 गांवों के किसान आ रहे हैं। 40 साल हो गए हमें अपनी मांगे रखते हुए, लेकिन अब तक समाधान नहीं मिला है। अफसर सिर्फ अपना समय निकालते हैं। भ्रष्टाचार और लूट करके चले जाते हैं। लेकिन इस बार किसानों ने पूरा मन बना लिया है। अब हम उनके झांसे में नहीं आएंगे। हम रोज धरना-प्रदर्शन करते रहेंगे। तब तक करेंगे, जब तक हमें हमारा अधिकार नहीं मिल जाता।

उन्होंने बताया, अफसरों से अभी किसी स्तर की कोई बात नहीं हुई है। हर बार किसानों को धोखा दिया गया। शब्दों को तोड़-मरोड़ कर उस अलग ढंग से किसानों के सामने रखा गया। लेकिन इस बार हम कही-सुनी बातों पर यकीन नहीं करेंगे। हमें प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में पास किए गए और शासन से स्वीकृत दस्तावेज स्वीकार्य होंगे। बिना लिखित में समाधान लिए किसान प्रदर्शन खत्म नहीं करेंगे।

किसान नेता ने आगे बताया, वरिष्ठ अफसरों से एक बार बात हुई थी। उसके बाद लगा था कि मामले सुलझ जाएंगे। लेकिन एक बार फिर अफसर सुस्त रवैया अपना रहे हैं। अब तक कोई मिलने या बात करने के लिए नहीं आया है। हम शांति से बैठे हैं। लेकिन अगर हमारी मांगे पूरी नहीं हुईं तो शहर में बड़े आंदोलन होंगे। हमारी पूरी कोशिश है कि शांतिपूर्ण तरीके से मांगे पूरी हो जाएं। हजारों की संख्या में मातृशक्ति और किसान यहां शांतिपूर्ण ढंग से अपनी बात रख रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि नोएडा प्राधिकरण भ्रष्ट निकाय है। कुछ अधिकारी, नेता और एजेंट इसे भ्रष्टाचार का गढ़ बनाए रखना चाहते हैं। इसीलिए हमारी मांगे पूरी नहीं हो रहीं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.