बेरोजगारों को शिकार बनाने वाली महिला लखनऊ में गिरफ्तार, 300 करोड़ का लगाया चूना, नोएडा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में...

बड़ी खबर : बेरोजगारों को शिकार बनाने वाली महिला लखनऊ में गिरफ्तार, 300 करोड़ का लगाया चूना, नोएडा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में...

बेरोजगारों को शिकार बनाने वाली महिला लखनऊ में गिरफ्तार, 300 करोड़ का लगाया चूना, नोएडा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में...

Tricity Today | गिरफ्तार महिला

बेरोजगारों को शिकार बनाने वाली महिला लखनऊ में गिरफ्तार, 300 करोड़ का लगाया चूना, नोएडा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में... Noida|Lucknow : लखनऊ में पुलिस ने महिलाओं सहित 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। यह गिरोह आयकर विभाग की कैंटीन में बैठकर लोगों को फर्जी नियुक्ति पत्र बांट रहा था। इनके पास से आयकर विभाग की फर्जी मोहरें और कई कागजात बरामद भी बरामद हुए है। दोपहर के वक्त गिरोह के सदस्य आयकर विभाग के दफ्तर की कैंटीन में बैठकर कुछ बाहरी लोगों को नियुक्ति पत्र बांट रहे थे। अज्ञात लोगों को कैंटीन में देखकर वहां मौजूद लोगों ने पूछताछ शुरू की, जिसके बाद मामले का भंडाफोड़ हो गया।

नोएडा आयकर विभाग में थी तैनात
इस कारनामे में एक महिला भी गिरफ्तार हुई है। जिसका नाम प्रियंका मिश्रा है। शुरुआती विभागीय जांच में पता चला है कि प्रियंका मिश्रा वर्ष 2016-17 में संविदा पर नोएडा आयकर विभाग में डाटा आपरेटर का काम करती थी। 2017 में उसने खुद को आइएएस क्वालीफाई बताकर पूरे विभाग में मिठाई थी बांटी थी। नोएडा कार्यालय में भी शातिर महिला कुछ युवकों को नियुक्ति कराने के नाम पर चुना लगा चुकी है। कार्यालय में भनक होने के बाद महिला नोएडा से भागकर लखनऊ आ गई। यहां पर यह किराए के मकान पर रहने लगी। यहां पर भी महिला ने लोगों को ठग ना शुरू कर दिया। आयकर कार्यालय के गेट पर वह गार्ड को टैक्स प्रैक्टिशनर बताती थी।

300 करोड़ से अधिक की ठगी
आयकर विभाग में नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने के मामले में गिरफ्तार प्रियंका मिश्रा के तार लखनऊ से लेकर दिल्ली, नोएडा और हरियाणा तक जुड़े हैं। प्रियंका और उसके गिरोह से जुड़े लोग, हजारों बेरोजगारों को गुमराह करके आयकर समेत अन्य विभागों ने नौकरी लगवाने के नाम पर 300 करोड़ से अधिक की ठगी कर चुके हैं। प्रियंका छह साल पहले नोएडा में भी फर्जी तरीके से नौकरी दिलाने का झांसा देकर कई लोगों को शिकार बनाकर फरार हुई थी। इसके साथ एक बड़े गिरोह के शामिल होने की बात भी सामने आ रही है। फिलहाल महिला को जेल भेज दिया गया है।

ऐसे हुआ खुलासा
दरअसल, जालसाजों के साथ मौजूद प्रियंका मिश्रा नामक महिला अधिकारियों के सवालों पर विरोधाभासी बयान देने लगी, जिसके बाद आयकर विभाग के अधिकारियों को शक हुआ। विभाग के अधिकारियों ने महिला और उसकी निशानदेही पर छह लोगों को पकड़ लिया। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपितों से दो घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ में खुलासा हुआ कि ये लोग आयकर विभाग में नौकरी के फर्जी नियुक्ति पत्र बांट रहे थे। सूचना के बाद आयकर विभाग की टीम ने महिला से पूछताछ की। साथ ही गिरोह में कुछ विभागीय लोग के जुड़े होने की बात सामने आ रही है। वहीं, पुलिस ने गिरफ्तार प्रियंका को बुधवार को जेल भेज दिया। महिला के पास से कई डेबिट कार्ड, आयकर के मोहर, दस्तावेज मिले थे। जिनकी जांच की जा रही है।

ब्योरा खंगाला में जुटी पुलिस
डीसीपी सेंट्रल अपर्णा रजत कौशिक ने बताया कि प्रियंका खुद को आयकर विभाग का अधिकारी और लखनऊ में तैनाती बताती थी। उसने अपने कुछ रिश्तेदारों को भी यही बता रखा था। रिश्तेदारों और परिचितों के माध्यम से बेरोजगारों से संपर्क करती थी। कई खातों में रुपये भी ट्रांसफर हुए हैं। जिनकी जांच की जा रही है। सबका ब्योरा खंगाला जा रहा है। आयकर इंस्पेक्टर की नियुक्ति पत्र जारी करने वाली महिला लखनऊ एक निजी कालेज से बीटेक कर चुकी है। अब एलएलबी कर रही है। शाहजहांपुर की रहने वाली है। हरदोई में उसकी ससुराल है। एक चार साल की बेटी भी है। महिला अभी चार महीना की गर्भवती है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.