35 करोड़ की चोरी का खुलासा करने वाली टीम को योगी सरकार देगी 2 लाख का इनाम, अवनीश अवस्थी ने घोषणा की

Noida Breaking : 35 करोड़ की चोरी का खुलासा करने वाली टीम को योगी सरकार देगी 2 लाख का इनाम, अवनीश अवस्थी ने घोषणा की

35 करोड़ की चोरी का खुलासा करने वाली टीम को योगी सरकार देगी 2 लाख का इनाम, अवनीश अवस्थी ने घोषणा की

Tricity Today | अवनीश अवस्थी

35 करोड़ की चोरी का खुलासा करने वाली टीम को योगी सरकार देगी 2 लाख का इनाम, अवनीश अवस्थी ने घोषणा की NOIDA : गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने शुक्रवार को जिले की सबसे बड़ी चोरी का खुलासा करते हुए 6 शातिर चोरों किया था। गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट की इस बड़ी सफलता पर उत्तर सरकार के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने चोरी का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 2 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। इससे पहले  ही नोएडा पुलिस कमिश्नर अलोक सिंह ने खुलासा करने वाली पुलिस टीम को एक लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा की एक सोसाइटी में रखे गए करोड़ों रुपये का काला धन और सोना चोरी करने के मामले में थाना सेक्टर-39 पुलिस ने शुक्रवार को 6 लोगों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने इनके पास से करीब 13 किलो सोना, एक करोड़ से ज्यादा की संपत्ति के कागजात और 57 लाख रुपए की नगदी बरामद की है। पूछताछ के दौरान पुलिस को कई चौंकाने वाले तथ्य पता चले हैं। आपको बता दें कि आपके अपने न्यूज़ पोर्टल ट्राईसिटी टुडे ने शुक्रवार की सुबह इस पूरे घटनाक्रम पर विस्तृत खबर प्रकाशित की थी। जिसके बाद गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट ने मामले का खुलासा किया है।

फ्लैट में रखा था काला धन
बताया जाता है कि जिस फ्लैट में चोरी हुई थी, वहां पर 35 करोड़ से ज्यादा की नकदी और भारी मात्रा में सोना रखा था। इन चोरों ने करीब 7 करोड़ रुपए की नगदी और 40 किलो के आसपास सोना चोरी किया। उसके बाद अगली बार चोरी करने की नीयत से वहां रखी नगदी और सोना छोड़कर चले आए। चोरों ने नगदी और सोना फ्लैट में छोड़ दिया था। यह सबकुछ रखवाली करने वाला नौकर गोपाल लेकर फरार हो गया है। इस मामले में फ्लैट के मालिक राम मणि पांडे और उसके बेटे कृष्लय पांडे ने अभी तक पुलिस से कोई शिकायत नहीं की है। बताया जाता है कि काला धन छुपाने के लिए प्रभावशाली व्यक्ति इस मामले की शिकायत करना नहीं चाह रहे हैं। पुलिस ने चोर गैंग की गिरफ्तारी की सूचना पाकर राम मणि अपने बेटे सहित विदेश चला गया है। पुलिस ईडी और आयकर विभाग को सूचना दे रही है।

35 करोड़ से ज्यादा की चोरी, कोर्ट-कचहरी के लिए रखा था अलग पैसा
पुलिस उपायुक्त राजेश एस ने बताया कि ग्रेटर नोएडा की सिल्वर सिटी सोसाइटी स्थित एक फ्लैट में करीब 10 माह पहले चोरी हुई थी। चोरों ने फ्लैट में रखे करीब 40 किलो सोना और 7 करोड रुपए से ज्यादा की नकदी चोरी की थी। इसके बाद चोर फ्लैट में रखी करोड़ों की नकदी और सोना छोड़ कर चले गए। बताया जाता है कि फ्लैट की रखवाली के लिए वहां मौजूद गोपाल नामक अन्य नौकर ने इस चोरी का फायदा उठाया। फ्लैट में रखा करोड़ो का काला धन और सोना लेकर फरार हो गया। उन्होंने बताया कि 10 माह पूर्व हुई इस चोरी में नोएडा और गाजियाबाद के रहने वाले चोर शामिल थे। चोरों ने धन और सोने का बंटवारा कर लिया। कुछ पैसा इन लोगों ने कोर्ट-कचहरी के लिए रख लिया था।

6 चोर गिरफ्तार और 4 फरार
जब काफी दिनों तक इस मामले में कोई हलचल नहीं हुई तो रखे गए धन और सोना के बंटवारे को लेकर नोएडा और गाजियाबाद में रहने वाले चोरों के बीच आपस में विवाद हो गया। चोरों के बीच हुए विवाद के चलते सूचना पुलिस तक पहुंची। थाना सेक्टर-39 पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले में कार्रवाई करते हुए 6 चोरों को हिरासत मे ले लिया है। हिरासत में लिए गए चोरों के नाम अरुण, राजन, जय सिंह नीरज, अनिल और बिन्टु शर्मा है। इनके 4 साथी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। पकड़े गए बदमाशों के पास से 13 किलो सोना, एक करोड़ से ज्यादा की संपत्ति के कागजात और 57 लाखों रुपए नगद मिला है। 

10 महीने पहले दिया था वारदात को अंजाम
डीसीपी ने बताया कि कालेधन का कारोबारी ने गोपाल नामक एक व्यक्ति को अपने काले धन की सुरक्षा के लिए फ्लैट पर तैनात किया था। गोपाल के मन में लालच आ गया और उसने इस बात की सूचना अपने कुछ साथियों को दी। इसके बाद बिन्टू शर्मा, नीरज, जयसिंह ,राजन, अरून अनिल और गाजियाबाद के रहने वाले कुछ बदमाशों ने मिलकर इस चोरी को अंजाम देने की योजना बनाई। 10 माह पूर्व घटना को अंजाम दिया। 

बाप-बेटे ने छुपाया था काला धन, अभी तक नहीं की पुलिस से शिकायत
उन्होंने बताया कि चोरी की गई रकम और सोने को चोरों ने बराबर-बराबर आपस में बांट लिया गया। कुछ सोना और नकदी एक जगह रखा थी। जिसके बंटवारे को लेकर गाजियाबाद के रहने वाले बदमाशों नोएडा के सलारपुर में रहने वाले चोरों के बीच आपस में विवाद हुआ। इसके बाद यह मामला किसी तरह से पुलिस के मुखबिरो तक पहुंचा, पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आज  लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। डीसीपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि काला धन के मालिक राममणि पांडे और कृष्लय पांडे के खिलाफ दिल्ली और हरियाणा के कुछ जगहों पर भी मुकदमा दर्ज है। बताया जाता है कि पांडे पिता पुत्र का इंडिया बुल्स नामक फाइनेंस  कंपनी से भी विवाद चल रहा है। पुलिस को शक है कि यह रकम व सोना कई बड़ी कंपनियों को ब्लैकमेल करके हासिल की गई थी।
 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.