अतीक अहमद के साथ खड़ी हमारी पार्टी, मंच पर मौजूद थी शाइस्ता परवीन

प्रयागराज में असदुद्दीन ओवैसी बोले- अतीक अहमद के साथ खड़ी हमारी पार्टी, मंच पर मौजूद थी शाइस्ता परवीन

अतीक अहमद के साथ खड़ी हमारी पार्टी, मंच पर मौजूद थी शाइस्ता परवीन

Social Media | प्रयागराज में असदुद्दीन ओवैसी बोले

अतीक अहमद के साथ खड़ी हमारी पार्टी, मंच पर मौजूद थी शाइस्ता परवीन Prayagraj : उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर अब हर राजनीतिक पार्टियों की गतिविधियां तेज हो गई हैं। शनिवार को प्रयागराज के अटाला के मजीदिया इस्लामिया इंटर कॉलेज में AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी प्रयागराज आए। करीब दो से ढ़ाई घंटे तक अटाला क्षेत्र के मजीदिया इस्लामिया इंटर कॉलेज के ग्राउंड में एक सभा को संबोधित किया। इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए बाहुबली नेता पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन और उनके बेटे भी मंच पर उपस्थित थे। अतीक अहमद की पत्नी ने जेल से आए पैगाम को पढ़कर सुनाया। उनके बेटे अली ने अपनी और अपने पिता की पुरानी बातों को लोगों के बीच में रखा।

हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी शनिवार को प्रयागराज में  लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अब तक सपा बसपा कांग्रेस ने मुस्लिम वोटों को लिया और मुस्लिम समाज के लोगों को इस्तेमाल किया है। लेकिन अब मुसलमान अपना हक लेकर रहेगा और उन्होंने एकजुट होने की भी अपील की है। प्रयागराज में अटाला स्थित मजीदिया इस्‍लामिया इंटर कालेज में कार्यकर्ता सम्‍मेलन को उन्‍होंने संबोधित किया। उन्‍हें सुनने के लिए हजारों की संख्‍या में भीड़ जुटी थी। उन्‍होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार ने जनता के साथ धोखा किया है। पिछड़े वर्ग के लोगों के साथ धोखा किया गया है। ओवैसी ने कहा कि किसी के खिलाफ अगर जुल्म होता है तो ओवैसी सबसे पहले आवाज उठायेगा।

मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मुसलमानों से उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार का समर्थन करने का आग्रह किया। पुराने शहर के मजीदिया इस्लामिया कॉलेज के ग्राउंड में एक बड़ी सभा को संबोधित किया। ओवैसी ने मेरठ में मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी पर चुप रहने के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर निशाना पर साधा। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस मुसलमानों को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करती रही हैं। लेकिन राजनीति और नौकरियों में उनके समान प्रतिनिधित्व के लिए कुछ भी नहीं किया है। वे मुसलमानों को 60 साल से धोखा देते आ रहे हैं। सपा और कांग्रेस के नेता खुद मुसलमानों के साथ हो रहे अन्याय पर खामोश रहते हैं।

एआईएमआईएम प्रमुख ने इन समुदायों से आगामी चुनावों में अपनी पार्टी का समर्थन करने और वोट देने का आग्रह करते हुए कहा कि न केवल मुसलमानों बल्कि ओबीसी दलितों आदिवासियों के अधिकार भी खतरे में है। अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन द्वारा पढ़े गए अहमदाबाद जेल से आए अतीक के पत्र पर टिप्पणी करते हुए ओवैसी ने कहा कि वह देश में किसी के साथ अन्याय के खिलाफ हैं। अतीक और उनका परिवार पीड़ित हैं लेकिन समाजवादी पार्टी जिन्होंने कई सालों तक उनका इस्तेमाल किया। अब समय आ गया है कि मुसलमानों को किसी डर के बिना एआईएमआईएम को वोट देना चाहिए।

सांप्रदायिक राजनीति करने के लिए भाजपा पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि अतीक अहमद मुख्तार अंसारी आजम खान और सैकड़ों मुसलमान जेल में बंद हैं। जबकि मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी भाजपा नेताओं के खिलाफ मामले वापस ले लिए गए हैं। यहां तक ​​कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अपने खिलाफ आपराधिक मामले वापस ले लिया। भाजपा सरकार ने समुदाय विशेष पर कार्रवाई के तहत अतीक और कई अन्य कई मुसलमानों के घरों को ध्वस्त करवा दिया। इसके अलावा हाल ही में भाजपा सरकार द्वारा पेश किया गया धर्मांतरण विरोधी कानून अत्यधिक विवादास्पद है। ओवैसी ने कहा कि यूपी में दोबारा भाजपा की सरकार नहीं बने इसके लिए सभी को एकजुट होना होगा। मुसलमानों को अपना वोट सही जगह पर देना होगा और अब नहीं जागे तो कब जागोगे।
 
अतीक अहमद का जेल आया पत्र उनकी पत्नी शाइस्ता ने पढ़ा
पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन ने लोगों को संबोधित किया। शाइस्ता परवीन ने अतीक अहमद द्वारा भेजे गए पत्र को पढ़ते हुए भावुक हो उठी। शाइस्ता परवीन के साथ तमाम मुस्लिम महिलाएं भी आई थी। अतीक ने अपने पत्र में आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी ने कई वर्षों तक राजनीतिक लाभ के लिए उनका इस्तेमाल किया और चुनाव नजदीक आने पर उन्हें जेल भेज दिया। समाजवादी पार्टी ऐसे मुस्लिम नेताओं को चाहती है जो अपने समुदाय के लिए आवाज नहीं उठाते। मैंने समाजवादी पार्टी को इस क्षेत्र में जमीन हासिल करने में पार्टी की मदद की। अतीक ने पुलिस और अन्य नौकरियों में 22 प्रतिशत मुस्लिम प्रतिनिधित्व की मांग की। उनके बेटे अली ने भी अपने पिता अतीक अहमद की पुरानी बातों को बताया।

अतीक अहमद ने बीजेपी पर अहमदाबाद जेल में AIMIM प्रमुख से मिलने नहीं देने का आरोप लगाया। अतीक ने कहा कि उनके और रिश्तेदारों एवं सहयोगियों द्वारा गलतियाँ हुई हैं। मैं मानता हूं कि मेरे कुछ रिश्तेदारों ने लोगों को परेशान किया लेकिन मुझे उनकी हरकतों की जानकारी नहीं थी। उन्होंने मुझे धोखा भी दिया और मैं सभी गलत कामों के लिए माफी मांगता हूं। मैं प्रयागराज और प्रदेश के अन्य जगहों के लोगों से आगामी चुनावों में AIMIM का समर्थन करने और धर्मनिरपेक्ष होने का दिखावा करने वाली अन्य पार्टियों का बहिष्कार करने का आग्रह करता हूं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.