मुख्यमंत्री ने महंत नरेंद्र गिरि को दी श्रद्धांजलि, बोले- घटना की जांच में दोषियों को दी जाएगी कठोर सजा

प्रयागराज : मुख्यमंत्री ने महंत नरेंद्र गिरि को दी श्रद्धांजलि, बोले- घटना की जांच में दोषियों को दी जाएगी कठोर सजा

मुख्यमंत्री ने महंत नरेंद्र गिरि को दी श्रद्धांजलि, बोले- घटना की जांच में दोषियों को दी जाएगी कठोर सजा

Google Image | मुख्यमंत्री योगी ने महंत रहे महंत नरेंद्र गिरि को श्रद्धांजलि अर्पित की

मुख्यमंत्री ने महंत नरेंद्र गिरि को दी श्रद्धांजलि, बोले- घटना की जांच में दोषियों को दी जाएगी कठोर सजा Prayagraj : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रयागराज के श्री मठ बाघम्बरी गद्दी पहुंचकर अखाड़ा परिषद अध्यक्ष और बंधवा स्थित लेटे बड़े हनुमान मंदिर के मुख्य महंत रहे महंत नरेंद्र गिरि को श्रद्धांजलि अर्पित की। वहां सीएम योगी ने कहा कि इस दु:खद घटना से हम सब दु:खी हैं। कुंभ के सफल आयोजन में महंत नरेंद्र गिरि का बड़ा योगदान था। इस दौरान उन्होंने कहा कि पुलिस के चार बड़े अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। जो भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें सजा दी जाएगी। दोषियों को कठोर सजा मिलेगी किसी को बख्शा नहीं जाएगा। प्रयागराज पुलिस के अनुसार इस मामले में एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें लिखा गया है कि महंत नरेंद्र गिरि अपने शिष्य से दु:खी थे।

मुख्यमंत्री बोले- मामले में बेवजह की बयानबाजी से बचें
प्रयागराज में मंगलवार को मुख्यमंत्री ने कहा कि महंत नरेंद्र गिरी की आकस्मिक मृत्यु के मामले की जांच की जा रही है। इसलिए किसी तरह की बेवजह की बयानबाजी से बचना चाहिए। सीएम ने कहा कि पंचक होने के कारण आज महंत नरेंद्र गिरी को समाधि नहीं दी जाएगी। आज उनके पार्थिव शरीर को जनता के दर्शन के लिए श्री मठ बाघंम्बरी में रखा रहेगा। बुधवार को पांच सदस्यीय टीम उनके पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम करेगी। वहीं पोस्टमार्टम के बाद धार्मिक विधि-विधान से उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस बीच न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक सीएम योगी ने कहा है कि ''घटना से संबंधित कई सबूत जुटाए गए हैं। एडीजी जोन, आईजी रेंज, डीआईजी प्रयागराज समेत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की एक टीम मामले की जांच कर रही है।''

महंत नरेंद्र गिरि का इस तरह से जाना संत समाज के लिए अपूर्णीय क्षति
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि महंत नरेंद्र गिरि का इस तरह से जाना संत समाज के लिए अपूर्णीय क्षति है। उन्होंने कहा कि महंत नरेंद्र गिरी के निधन से बेहद दुःखी हूं। मैं संत समाज की ओर से श्रद्धांजलि देने आया हूं। इस दु:खद घटना से हम सब बहुत व्यथित हैं। यह हमारे आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूर्णीय क्षति है। किसी प्रकार के मान अपमान की चिंता किए बगैर उन्होंने प्रयागराज कुंभ को भव्यता के साथ आयोजित करने में योगदान दिया था। देश और समाज के हित में किए जाने वाले हर कार्य में उनका सहयोग प्राप्त होता रहा है। इसके साथ ही उन्होंने तमाम साधु-संतों से भी बात कर हालात का जायजा लिया।

शिष्य योगगुरु आनंद गिरी समेत छह लोग हिरासत में
देश भर में अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार की शाम संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई। उनका शव अल्लापुर में स्थित श्री मठ बाघमबारी गद्दी के कमरे में फंदे से लटका मिला। इस मामले में पुलिस ने उनके शिष्य योगगुरु आनंद गिरी लेटे हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी समेत कुल छह लोगों को हिरासत में लिया है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि महंत नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरि के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 आत्महत्या के लिए उकसाना के तहत मामला दर्ज किया गया है। जिनका नाम महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु के मामले में सुसाइड नोट में भी मिला है, इसकी जांच की जा रही है। उनके शिष्य आनंद गिरि को कल ही पुलिस हिरासत में लिया गया था।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.