चलती ट्रेन से महिला ने बच्चे को फेंका, पिता ने कूदकर बचाई जान

प्रयागराज : चलती ट्रेन से महिला ने बच्चे को फेंका, पिता ने कूदकर बचाई जान

चलती ट्रेन से महिला ने बच्चे को फेंका, पिता ने कूदकर बचाई जान

Google Image | चलती ट्रेन से महिला ने बच्चे को फेंका, पिता ने कूदकर बचाई जान

चलती ट्रेन से महिला ने बच्चे को फेंका, पिता ने कूदकर बचाई जान प्रयागराज में यमुनापार के छिवकी रेलवे स्टेशन पर गुरुवार को एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया। पति से विवाद के बाद पत्नी ने अपने दो वर्ष के बच्चे को उठाकर चलती ट्रेन से बाहर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। यह देख साथ में सफर कर रहे उसके पति ने चलती ट्रेन से कूदकर बच्चे को उठा लिया। इस घटना से ट्रेन में सफर कर रहे लोग अवाक रह गए। रेलवे पुलिस की मदद से उसे पास के अस्पताल ले जाया गया।

मिर्जापुर जिले के चुनार स्टेशन से गुरुवार को शिवम सिंह पत्नी और दो वर्ष के बेटे के साथ 03201 पटना-एलटीटी जनता एक्सप्रेस में मुंबई जाने के लिए सवार हुआ। ट्रेन जब प्रयागराज के छिवकी स्टेशन पर पहुंची तो बी-2 कोच में बैठे दंपत्ति में किसी बात को लेकर कुछ कहासुनी हो गई। गुस्से में आकर पत्नी ने चलती ट्रेन से बेटे को बाहर फेंक दिया। ट्रेन से कूदकर पिता ने रो रहे बेटे को ट्रैक से उठा लिया। बच्चे को बहुत अधिक चोट नहीं आई थी। जीआरपी पुलिस की मदद से बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

उत्तर मध्य रेलवे के छिवकी स्टेशन पर पूछताछ में युवक ने अपना नाम शिवम सिंह निवासी गुरुखुली, पडरी, मिर्जापुर बताया। उसकी पत्नी का नाम अंशु सिंह और बेटा शुभ है। शिवम सिंह मुंबई में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। कोरोना काल में वह घर चला आया था। अब फिर से मुंबई जा रहा था। गनीमत यह रही कि उस वक्त कोई ट्रेन नहीं आई वरना पिता पुत्र दोनों की जान जा सकती थी। महिला यह रूप देखकर बोगी के अंदर और उसके बाहर खड़े लोग सन्न रह गए थे।

पारिवारिक मामला होने से कोई एफआईआर नहीं
प्रयागराज छिवकी रेलवे स्टेशन आरपीएफ पोस्ट के प्रभारी इंस्पेक्टर जीएस उपाध्याय का कहना है कि पारिवारिक मामला होने की वजह से इस घटना में कोई केस नहीं लिखा गया है। बच्चा खतरे से बाहर है। ट्रेन चली गई थी इसलिए सूचना देकर सतना स्टेशन पर आरपीएफ की टीम ने उसकी पत्नी अंशु को ट्रेन से उतरवाया गया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.