धर्म

पंचशील ग्रीन्स में हुआ डिस्को डांडिया 2019 का आयोजन

पंचशील ग्रीन्स में हुआ डिस्को डांडिया 2019 का आयोजन

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के पंचशील ग्रीस में 1 अक्टूबर 2019 को डिस्को डांडिया 2019 का आयोजन हुआ।पंचशील ग्रीस के निवासी मनीष अवस्थी ने बताया कि पंचशील ग्रीस में कई वर्षो से नवरात्रि में डिस्को डांडिया का आयोजन होता है, जिसमे सोसाइटी में सभी परिवार बड़े धूम धाम और उल्लास से मनाते है। डिस्को डांडिया 2019 में सूर्यकांत, अनूप, रमेश, राजकुमार सारस्वत, अंकित, अमित, सतपाल, हरकेश, गजेंद्र आदि लोग शामिल हुए।

More Stories

भगवान हनुमान के इस मंत्र का जाप करने से कट जाएंगे सारे संकट
भगवान हनुमान के इस मंत्र का जाप करने से कट जाएंगे सारे संकट
सुख-सम्पत्ति, यश और संतान प्राप्ति के लिए मंगलवार का व्रत रखना शुभ माना जाता है। अगर आप शत्रुओं से परेशान हैं तो इस दिन श्रीराम दूत पवन सुत हनुमान के वियजश्री मंत्र का जाप करें। इससे सारे संकट दूर हो जाते हैं। भगवान हनुमान बल और बुद्धि के दाता हैं।
जानिए, भगवान शनिदेव को उनकी पत्नी ने इस कारण दिया था श्राप
जानिए, भगवान शनिदेव को उनकी पत्नी ने इस कारण दिया था श्राप
जीवन में ग्रहों का प्रभाव बहुत प्रबल माना जाता है। अगर शनि ग्रह अशांत हो जाएं तो जीवन में कष्टों का आगमन शुरू हो जाता है। शनि, भगवान सूर्य और छाया के पुत्र हैं। शनि को क्रूर दृष्टि का ग्रह माना जाता है, जो किसी के भी जीवन में उथल-पुथल मचा सकते हैं। लेकिन भगवान शनि देव को उनकी पत्नी ने श्राप क्यों दिया था, इस बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी है।
चेरी काउंटी में माँ दुर्गा की स्थापना
चेरी काउंटी में माँ दुर्गा की स्थापना
ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित चेरी काउंटी में पहली बार पंचमी नवरात्रि को माँ दुर्गा की स्थापना पूरे विधि विधान से की गई। जिसमें सोसाइटी के निवासियों बढ चढ कर हिस्सा लिया।
भारत की वो पांच जगह जहां दशहरा के दिन मनाते है शोक
भारत की वो पांच जगह जहां दशहरा के दिन मनाते है शोक
मां भगवती की आराधना नवरात्रि के नौ दिन पूरे होने के बाद दशमी तिथि को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम ने लंकाधिपति दशानन का वध कर सीता को छुड़ाया था। दशानन जिसे रावण के तौर पर जानते हैं बहुत बड़ा विद्वान था। लेकिन सीता माता के हरण करने पर उसे पूरे विश्व में राक्षस कहलाने लगा। रावण शिव जी का बहुत बड़ा भक्त था। उसके विद्वानता के कारण भारत में कई जगह पर उसके मंदिर हैं। जिन जगहों पर रावण का मंदिर है वहां के लोग उसे भगवान मानते हैं। आज हम आपको भारत के उन 5 जगहों के बारे में बताएंगे जहां रावण की पूजा होती है।
नारद पुराणः इन आठ चीजों को छू लिया तो जिदंगी भर पीछा नहीं छोड़ेगा दुर्भाग्य
नारद पुराणः इन आठ चीजों को छू लिया तो जिदंगी भर पीछा नहीं छोड़ेगा दुर्भाग्य
हर कोई कामयाब होना चाहता है। अच्छी जिंदगी जीने के लिए धन कमाना चाहता है। दूसरों से अलग अपना बेहतर लाइफ स्टाइल बनाना चाहता है। इसके लिए लागतार संघर्ष भी करते हैं लेकिन छोटी-छोटी गलतियों की वजह से पूरी मेहनत करने के बाद भी उस कामयाबी में कमी रह जाती हैं जो आप चाहते हैं। शास्त्र और ज्योतिष के मुताबिक कुछ ऐसी बातें हैं जिनको नजरअंदाज करने से हमे पूरी जिंदगी पछताना पड़ता है। नारद पुराण के मुताबिक आठ ऐसी गलतियां हैं जो हमे कामयाबी से कोसो दूर और नाकरात्मकता में धकेल देती हैं और लाख कोशिशों के बाद भी इन्हें हल नहीं ढूंढ पाते। जानिए वो गलतियां।
भारत की वो पांच जगह जहां दशहरा के दिन मनाते है शोक
भारत की वो पांच जगह जहां दशहरा के दिन मनाते है शोक
मां भगवती की आराधना नवरात्रि के नौ दिन पूरे होने के बाद दशमी तिथि को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम ने लंकाधिपति दशानन का वध कर सीता को छुड़ाया था। दशानन जिसे रावण के तौर पर जानते हैं बहुत बड़ा विद्वान था। लेकिन सीता माता के हरण करने पर उसे पूरे विश्व में राक्षस कहलाने लगा। रावण शिव जी का बहुत बड़ा भक्त था। उसके विद्वानता के कारण भारत में कई जगह पर उसके मंदिर हैं। जिन जगहों पर रावण का मंदिर है वहां के लोग उसे भगवान मानते हैं। आज हम आपको भारत के उन 5 जगहों के बारे में बताएंगे जहां रावण की पूजा होती है।
नारद पुराणः इन आठ चीजों को छू लिया तो जिदंगी भर पीछा नहीं छोड़ेगा दुर्भाग्य
नारद पुराणः इन आठ चीजों को छू लिया तो जिदंगी भर पीछा नहीं छोड़ेगा दुर्भाग्य
हर कोई कामयाब होना चाहता है। अच्छी जिंदगी जीने के लिए धन कमाना चाहता है। दूसरों से अलग अपना बेहतर लाइफ स्टाइल बनाना चाहता है। इसके लिए लागतार संघर्ष भी करते हैं लेकिन छोटी-छोटी गलतियों की वजह से पूरी मेहनत करने के बाद भी उस कामयाबी में कमी रह जाती हैं जो आप चाहते हैं। शास्त्र और ज्योतिष के मुताबिक कुछ ऐसी बातें हैं जिनको नजरअंदाज करने से हमे पूरी जिंदगी पछताना पड़ता है। नारद पुराण के मुताबिक आठ ऐसी गलतियां हैं जो हमे कामयाबी से कोसो दूर और नाकरात्मकता में धकेल देती हैं और लाख कोशिशों के बाद भी इन्हें हल नहीं ढूंढ पाते। जानिए वो गलतियां।
योगी आदित्यनाथ पांच दिन संभालेंगे गोरक्षपीठाधीश्वर
योगी आदित्यनाथ पांच दिन संभालेंगे गोरक्षपीठाधीश्वर
उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठ के उत्तराधिकारी योगी आदित्यनाथ शनिवार से बुधवार पांच दिन तक गोरखपुर मंदिर में गोरक्षपीठाधीश्वर की भूमिका में रहेंगे।
गाजियाबाद में 121 वर्षों से हो रही इस रामलीला में पहली बार ऐसा कुछ हुआ जिसे जानकर होगी खुशी
गाजियाबाद में 121 वर्षों से हो रही इस रामलीला में पहली बार ऐसा कुछ हुआ जिसे जानकर होगी खुशी
कला के लिए कलाकार कुछ भी छोड़ने के लिए तैयार रहते हैं। ऐसी ही एक कलाकार नीरा बख्शी हैं। पीएचडी की पढ़ाई बीच में छोड़कर नीरा बख्शी पिछले पांच वर्षों से दिल्ली-एनसीआर में रामलीला का निर्देशन कर रही हैं। उन्होंने बताया कि थियेटर के प्रति उनका आकर्षण बहुत ज्यादा था। वह पीएचडी जरूर कर रही थीं, लेकिन उनका मन थियेटर में ही पड़ा रहता था। इसीलिए उन्होंने पीएचडी बीच में छोड़ दी और अब अपनी पसंद का काम कर रही हैं। नीरा बख्शी इस बार गाजियाबाद की प्रसिद्ध सुल्लामल रामलीला समिति घंटाघर में रामलीला का मंचन करवा रही हैं। इस रामलीला के 121 वर्षों के इतिहास में पहली बार हुआ है कि निर्देशन कोई महिला करवा रही है।
मंदिरों में अष्टमी और अगले दो दिन लगेगी भक्तों की भीड़
मंदिरों में अष्टमी और अगले दो दिन लगेगी भक्तों की भीड़
आज नवरात्र की अष्टमी है, इस मौके पर शहर के तमाम मंदिरों में सजावट की गई है। उम्मीद की जा रही है कि अगले दो दिन मंदिरों में भक्तों की भीड़ रहेगी।

« Prev | 1 | 2 | 3 | Next »