धर्म-कर्म : चावल की पोटली इस तरह से शांत करती है क्लेश, आजमा कर देखें बदल जाएगा झगड़ा करने वाले का व्यवहार

चावल की पोटली इस तरह से शांत करती है क्लेश, आजमा कर देखें बदल जाएगा झगड़ा करने वाले का व्यवहार

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

- चंद्रमा का प्रतीक माने जाने वाले चावल शांत करते हैं ग्रह दोष, वास्तु शास्त्र में अधिक है महत्व

- चंद्रमा का प्रतीक माने जाने वाले चावल शांत करते हैं ग्रह दोष, वास्तु शास्त्र में अधिक है महत्व

 

व्यापार और नौकरी में समस्या की एक बहुत बड़ी वजह घर में पैदा होने वाला तनाव भी है। शास्त्रों के अनुसार यदि घर में तनाव या क्लेश जैसी स्थिति पनपती है तो इसका असर घर में आने वाले धन व वैभव पर भी होता है। ऐसे में चंद्रमा को शांति का प्रतीक मानते हुए वास्तु शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र में बेहद महत्वपूर्ण माना गया है । उसके उपाय की वजह से घर में शांति कायम की जा सकती है।

वास्तु शास्त्री एवं कर्मकांड विशेषज्ञ पंडित उत्तम तिवारी ने जानकारी दी कि घर के ईशान कोण में समस्या होने पर पारिवारिक सदस्यों के बीच में तनाव जैसी स्थिति पैदा हो जाती है। छोटी-छोटी बातों पर मनमुटाव और लड़ाई झगड़े जैसी स्थितियां उत्पन्न होने लगती हैं। ग्रहों और वास्तु दोष से प्रभावित होकर घर में बच्चे भी अत्यंत उत्तेजित रहने लगते हैं। इसकी वजह से बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता और घर के अनुशासन का भी वह पालन नहीं कर पाते हैं। परिवार की विशेष स्थितियों की वजह से व्यापार और नौकरी भी अक्सर प्रभावित होने लगती है। ऐसी समस्याओं को दूर करने के लिए चावल के दाने काफी महत्वपूर्ण भूमिका घर में शांति पहुंचाने में निभाते हैं।

यह करें उपाय : 

चावल और ईशान कोण : एक मुट्ठी चावल को यदि सफेद कपड़े में बांधकर शुक्रवार वाले दिन घर के ईशान कोण में रखा जाए तो वास्तु संबंधी समस्या से पैदा होने वाले तनाव को दूर किया जा सकता है। यदि इस पोटली को जमीन से ऊंचाई पर रखते हुए ऐसे लटकाया जाए जहां से इस पर हवा लगते हुए घर में प्रवेश करें तो जल्द लाभ होता है।

चावल और लाल कपड़ा : यदि पति पत्नी के बीच में अक्सर लड़ाई झगड़े होते हैं तो चावल को लाल रंग के कपड़े में लपेटकर घर की अलमारी में ऊपर के स्थान पर सुरक्षित रखना चाहिए। इस पोटली को हर तीसरे महीने में बदलना चाहिए। इससे पति-पत्नी के बीच में पैदा होने वाले तनाव को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

चावल और काला कपड़ा : यदि घर के बाहर समाज में लोगो से झगड़े होने की वजह से तनाव में है तो घर के मुख्य गेट के बगल में चावल को काले कपड़े में लपेटकर टांगना चाहिए। इससे समाज में रह रहे लोगों से झगड़ों की संभावना कम हो जाती है और वे लोग आर्थिक व सामाजिक रूप से नुकसान करना बंद कर देते हैं।

चावल और पीला कपड़ा : यदि नौकरी या व्यापार क्षेत्र में तनाव या मनमुटाव की वजह से तरक्की नहीं कर पा रहे हैं तो कार्यक्षेत्र या व्यापारिक प्रतिष्ठान में अपनी बैठने वाली कुर्सी के ठीक सामने पीले रंग के कपड़े में एक मुट्ठी चावल बांधकर रखना चाहिए। इससे कार्यक्षेत्र या व्यापार क्षेत्र में लड़ाई झगड़े कम होंगे और तरक्की की बाधाएं दूर होंगी।

चावल और केसरिया कपड़ा : यदि प्रॉपर्टी संबंधी विवाद चल रहा है तो घर के प्रवेश द्वार पर केसरिया रंग के कपड़े में लपेटकर चावल को रखना चाहिए। इससे प्रॉपर्टी संबंधी वाद विवाद जल्द सुधरेंगे। यदि लंबे समय से मुकदमे बाजी में फंसे हुए हैं तो उससे भी जल्द निदान मिलेगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.