जिले में नोटा का बटन निर्दलीय प्रत्याशी के मुकाबले बना लोगों की पसंद, देखिए आंकड़े

गौतमबुद्ध नगर : जिले में नोटा का बटन निर्दलीय प्रत्याशी के मुकाबले बना लोगों की पसंद, देखिए आंकड़े

जिले में नोटा का बटन निर्दलीय प्रत्याशी के मुकाबले बना लोगों की पसंद, देखिए आंकड़े

Tricity Today | निर्दलीय प्रत्याशियों से ज्यादा दबा नोटा का बटन

जिले में नोटा का बटन निर्दलीय प्रत्याशी के मुकाबले बना लोगों की पसंद, देखिए आंकड़े Gautam Buddha Nagar : गौतमबुद्ध नगर की तीनों विधानसभा सीटों पर 6 हजार से ज्यादा मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया है। जिसका मतलब यह है कि इन 6 हजार मतदाताओं ने अपने लिए किसी भी नेता का चयन नहीं किया। वहीं, चुनावी मैदान में उतरे कुल 39 उम्मीदवारों में से 25 उम्मीदवारों को नोटा से कम वोट मिले हैं। बता दे कि इनमें से अधिकतर निर्दलीय है और फिर छोटे और क्षेत्रीय दलों के प्रत्याशी हैं।

जेवर में 1694 लोगों ने नोटा का बटन दबाया
जैसा कि आपको मालूम है की निर्वाचन आयोग ने देश की जनता को यह व्यवस्था दी हुई है कि अगर किसी मतदाता को कोई भी उम्मीदवार पसंद नहीं आता तो वह ईवीएम मशीन में नोटा के बटन को दबा सकता है। जिसका पूरा इस्तेमाल इस बार गौतमबुध नगर जिले की तीनों विधानसभा के मतदाताओं ने जमकर इस्तेमाल किया है। जेवर में 12 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। जहां पर 1694 लोगों ने नोटा का बटन दबाया और इस आंकड़े के आसपास कोई भी निर्दलीय, क्षेत्रीय दल नही पहुँच पाया और यह तक कि आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी पूनम सिंह को भी महज 569 वोट मिले है।

दादरी और नोएडा में इतने लोगों ने नोटा का बटन दबाया
वही, दादरी विधानसभा सीट की तो यहां पर 2033 लोगों ने नोटा का बटन दबाया है और कोई भी निर्दलीय या क्षेत्रीय प्रत्याशी नोटा के इस आंकड़े को पार नहीं कर पाया। इस के साथ हाईटेक शहर नोएडा में 2,463 लोगों ने नोटा का बटन दबाया है। यहां पर भी कोई निर्दलीय प्रत्याशी नोटा के आंकड़े को छू तक नहीं पाया है। तो साफ तौर पर यह कहा जा सकता है कि नोएडा विधानसभा में 8 उम्मीदवार, जेवर में भी 8 उम्मीदवार और दादरी में 9 उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्हें नोटा से भी कम वोट मिले हैं। जो कि अपने आप में एक बड़ी बात है।

अन्य खबरे