Up rera

UP RERA : सुपरटेक के सुपरनोवा प्रोजेक्ट को लेकर नोटिस जारी, ऑडिट का आदेश
नोएडा

UP RERA : सुपरटेक के सुपरनोवा प्रोजेक्ट को लेकर नोटिस जारी, ऑडिट का आदेश

नोएडा : उत्तर प्रदेश रीयल एस्टेट नियामक प्राधिकरण (UP RERA) ने बुधवार को रीयल्टी कंपनी सुपरटेक को नोटिस जारी कर पूछा है कि उसकी सुपरनोवा परियोजना...

More Stories

अंसल एक्वापोलिस में फंसे खरीदारों ने बिल्डर के खिलाफ लड़ाई तेज करेंगे, कई फैसले लिए
अंसल एक्वापोलिस में फंसे खरीदारों ने बिल्डर के खिलाफ लड़ाई तेज करेंगे, कई फैसले लिए
गाजियाबाद में अंसल बिल्डर के सुशांत एक्वापोलिस हाउसिंग प्रोजेक्ट में फंसे सैकड़ों लोग परेशान हाल हैं। करीब 10 साल...
BIG BREAKING: यूपी रेरा ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिल्डर पर 93 लाख रुपये का जुर्माना ठोका
BIG BREAKING: यूपी रेरा ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिल्डर पर 93 लाख रुपये का जुर्माना ठोका
यूपी रेरा ने बुधवार को एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। रेरा ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट के एक बिल्डर के खिलाफ 31 खरीदारों की याचिकाओं पर सुनवाई...
Good News: काम और बाजार में छवि के आधार पर बिल्डरों की रैंकिंग होगी, यूपी रेरा ने योजना पर काम शुरू किया
Good News: काम और बाजार में छवि के आधार पर बिल्डरों की रैंकिंग होगी, यूपी रेरा ने योजना पर काम शुरू किया
उत्तर प्रदेश रियल एस्टेट विनियामक प्राधिकरण (यूपी-रेरा) ने बिल्डरों और आवास परियोजनाओं को रैंक करने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्राधिकरण...
ग्रेनो वेस्ट की ला रेजिडेंशिया सोसायटी में हुए हादसे में बुजुर्ग और उनकी पोती बाल-बाल बचे
ग्रेनो वेस्ट की ला रेजिडेंशिया सोसायटी में हुए हादसे में बुजुर्ग और उनकी पोती बाल-बाल बचे
ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोायटियों में घरों के घटिया निर्माण से जुड़ी घटनाएं लगातार हो रही हैं। कभी छत उखड़कर गिर जाती है तो कभी दीवार गिर जाती है। अब बुधवार को ला रेसिडेंशिया सोसायटी में घटिया निर्माण का एक और उदाहरण देखने को मिला। ला रेसिडेंटिया के फ्लैट नंबर टी-9 2001 के निवासी पुनीत कुमार चौधरी का परिवार तब दहल गया...
आम्रपाली की तरह ये बिल्डर भी डूबने के कगार पर, 20 हजार खरीदार तैयार रहें
आम्रपाली की तरह ये बिल्डर भी डूबने के कगार पर, 20 हजार खरीदार तैयार रहें
आम्रपाली की तरह कई और बिल्डर डूबने के कगार पर हैं। इसमें सबसे बुरा हाल थ्रीसी ग्रुप का है। इस कंपनी का अस्तित्व भी खतरे में पड़ सकता है। यूपी रेरा के आदेश पर की जा रही टेक्निकल जांच में पता चला है कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा में इस ग्रुप के सभी 11 प्रॉजेक्ट्स पर काम बंद पड़ा हुआ है। गुरुवार को इस कंपनी की सारी परियोजनाओं का निरीक्षण पूरा कर लिया गया है। अब टेक्निकल टीम अपनी रिपोर्ट यूपी रेरा की बेंच को सौंपेगी। इसमें बिल्डर के डि-रजिस्ट्रेशन की अनुशंसा करने की तैयारी है। ऐसा होने पर थ्रीसी ग्रुप के सभी प्रॉजेक्ट बिल्डर के अधिकार से मुक्त हो जाएंगे।
ग्रेनो वेस्ट की ला रेजिडेंशिया सोसायटी में हुए हादसे में बुजुर्ग और उनकी पोती बाल-बाल बचे
ग्रेनो वेस्ट की ला रेजिडेंशिया सोसायटी में हुए हादसे में बुजुर्ग और उनकी पोती बाल-बाल बचे
ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोायटियों में घरों के घटिया निर्माण से जुड़ी घटनाएं लगातार हो रही हैं। कभी छत उखड़कर गिर जाती है तो कभी दीवार गिर जाती है। अब बुधवार को ला रेसिडेंशिया सोसायटी में घटिया निर्माण का एक और उदाहरण देखने को मिला। ला रेसिडेंटिया के फ्लैट नंबर टी-9 2001 के निवासी पुनीत कुमार चौधरी का परिवार तब दहल गया...
आम्रपाली की तरह ये बिल्डर भी डूबने के कगार पर, 20 हजार खरीदार तैयार रहें
आम्रपाली की तरह ये बिल्डर भी डूबने के कगार पर, 20 हजार खरीदार तैयार रहें
आम्रपाली की तरह कई और बिल्डर डूबने के कगार पर हैं। इसमें सबसे बुरा हाल थ्रीसी ग्रुप का है। इस कंपनी का अस्तित्व भी खतरे में पड़ सकता है। यूपी रेरा के आदेश पर की जा रही टेक्निकल जांच में पता चला है कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा में इस ग्रुप के सभी 11 प्रॉजेक्ट्स पर काम बंद पड़ा हुआ है। गुरुवार को इस कंपनी की सारी परियोजनाओं का निरीक्षण पूरा कर लिया गया है। अब टेक्निकल टीम अपनी रिपोर्ट यूपी रेरा की बेंच को सौंपेगी। इसमें बिल्डर के डि-रजिस्ट्रेशन की अनुशंसा करने की तैयारी है। ऐसा होने पर थ्रीसी ग्रुप के सभी प्रॉजेक्ट बिल्डर के अधिकार से मुक्त हो जाएंगे।
रेरा का फैसला: बिल्डरों के फ्लैटों की नीलामी कराकर खरीदारों का पैसा लौटाया जाएगा
रेरा का फैसला: बिल्डरों के फ्लैटों की नीलामी कराकर खरीदारों का पैसा लौटाया जाएगा
यूपी रेरा के अध्यक्ष राजीव कुमार ने गुरूवार को गौतमबुद्ध नगर के डीएम बीएन सिंह व एडीएम वित्त एवं राजस्व एमएन उपाध्याय और गाजियाबाद के एसडीएम के साथ बैठक की। जिसमें फैसला लिया गया कि अगर बिल्डर के पास पैसा नहीं है तो उनके फ्लैटों को नीलाम कराकर खरीदारों की धनराशि वसूली जाएगी। बिल्डरों के प्रोजेक्टों को सील नहीं किया जाएगा।
ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिल्डर से जुड़ी फ्लैट खरीदार की दुखद कहानी, रेरा कर रहा सुनवाई
ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिल्डर से जुड़ी फ्लैट खरीदार की दुखद कहानी, रेरा कर रहा सुनवाई
नोएडा और ग्रेटर नोएडा में किसी एक की नहीं सैकड़ों फ्लैट खरीदारों की दुख भरी कहानियां हैं। ऐसी ही एक और कहानी सामने आई है, जो आज हम आपके सामने रख रहे हैं। जिसमें बिल्डर की कारगुजारी विदेश में बैठे एक बेटे और यहां परेशानी झेल रही उसकी मां की है। वहीं, बेटे के साथ रहने की हसरत लिए पिता की मौत हो गई है।
बिल्डरों पर चला चाबुक, जेपी, गार्डेनिया, वेव और इम्पीरिया से 1.34 करोड़ वसूले
बिल्डरों पर चला चाबुक, जेपी, गार्डेनिया, वेव और इम्पीरिया से 1.34 करोड़ वसूले
जिला प्रशासन ने बिल्डरों पर कड़ी कार्रवाई की है। रेरा के बकाएदारों पर शिकंजा कसते हुए सोमवार को सदर तहसील ने 49.38 लाख रुपये की वसूली की है। वहीं, दादरी तहसील ने 84.47 लाख रुपये की वसूली की है। इन बिल्डरों के खिलाफ रेरा ने वसूली का आदेश दिया था।