81 हिंदू परिवार पलायन को मजबूर, लगाए ‘मकान बिकाऊ’ के पोस्टर, पढ़ें खबर

बड़ी खबरः 81 हिंदू परिवार पलायन को मजबूर, लगाए ‘मकान बिकाऊ’ के पोस्टर, पढ़ें खबर

81 हिंदू परिवार पलायन को मजबूर, लगाए ‘मकान बिकाऊ’ के पोस्टर, पढ़ें खबर

Tricity Today | 81 हिंदू परिवार पलायन को मजबूर

81 हिंदू परिवार पलायन को मजबूर, लगाए ‘मकान बिकाऊ’ के पोस्टर, पढ़ें खबर Moradabad News: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से एक बड़ी खबर है। यहां एक कॉलोनी में रहने वाले 81 हिंदू परिवारों ने अपने घर के बाहर ‘यह मकान बिकाऊ है’ का पोस्टर लगा दिया है। इसके बाद जिला पुलिस-प्रशासन की बेचैनी बढ़ गई है। प्रशासन स्थानीय भारतीय जनता पार्टी के नेताओं, पार्षद से मिलकर मामले को संभालने में जुटा है। कॉलोनी में रहने वाले परिवारों से मिलकर उन्हें समझाने की कोशिश की जा रही है। लोगों का कहना है कि दूसरे समुदाय के लोग साजिश के तहत दोगुनी-तीन गुनी कीमत पर इस कॉलोनी में घर खरीद रहे हैं और उन्हें उत्पीड़ित कर रहे हैं। 

पलायन के बाद बसे थे
उत्तर प्रदेश में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में इस तरह की घटनाओं का राजनीतिकरण होने का खतरा ज्यादा है। मुरादाबाद के स्थानीय बीजेपी विधायक और नेता परिवारों के साथ हैं। उनका कहना है कि वह दूसरे समुदाय के लोगों को इस कॉलोनी में घर नहीं खरीदने देंगे। दरअसल मुरादाबाद की लाजपत नगर एक बेहद पॉश कॉलोनी है। यहां रहने वाले ज्यादातर लोगों के पूर्वज बंटवारे के बाद पाकिस्तान से पलायन कर यहां आकर बसे थे। अब यहां उनके रहने में भी बाधा आ रही है।  


योजना बनाकर खरीद रहे
इस वजह से परिवार पलायन को मजबूर हैं। उनका कहना है कि यह सब योगी सरकार में हो रहा है। इस कॉलोनी में सभी लोग शाकाहारी हैं। जबकि दूसरे समुदाय के लोग मांस-मछली खाने वाले हैं। इस वजह से दोनों समुदायों में टकराव की स्थिति पैदा हो रही है। इसकी वजह से लाजपत नगर की शिव विहार कॉलोनी में रहने वाले 81 परिवारों ने सामूहिक रूप से ‘यह मकान बिकाऊ है’ का पोस्टर चिपकाया है। उनका कहना है कि दूसरे समुदाय के लोग पूरी योजना के तहत 3 गुना अधिक दाम देकर यहां घर खरीद रहे हैं। धीरे-धीरे यह लोग उन्हें घर छोड़ने को मजबूर कर रहे हैं। 

एक साथ बेचने का फैसला लिया
ऐसे में एक-एक घर बेचने पर औने-पौने दाम मिलेंगे। इसीलिए एक साथ पूरे 81 परिवारों ने घर बेचने का फैसला लिया है। स्थानीय बीजेपी पार्षद का आरोप है कि इस कॉलोनी में 30 फीसदी मकान दूसरे समुदाय के लोगों ने खरीद लिया है। यहां 50 लाख का मकान तीन करोड़ में बिक रहा है। सरकार को इसकी जांच करनी चाहिए कि आखिर इतना पैसा कहां से आ रहा है। इन सबके बाद जिला प्रशासन सतर्क हो गया है। स्थानीय भाजपा विधायक, पार्षद और कॉलोनी के नेताओं से बैठकों का दौर जारी है। लोगों को समझाने बुझाने की कोशिश की जा रही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.