दो गांवों के लिए काल साबित हुआ मंगलवार, दो परिवारों के सगे भाइयों की मौत से इलाके में गम, राष्ट्रपति ने जताया शोक

कानपुर सड़क हादसा: दो गांवों के लिए काल साबित हुआ मंगलवार, दो परिवारों के सगे भाइयों की मौत से इलाके में गम, राष्ट्रपति ने जताया शोक

दो गांवों के लिए काल साबित हुआ मंगलवार, दो परिवारों के सगे भाइयों की मौत से इलाके में गम, राष्ट्रपति ने जताया शोक

Tricity Today | क्षतिग्रस्त वाहन

दो गांवों के लिए काल साबित हुआ मंगलवार, दो परिवारों के सगे भाइयों की मौत से इलाके में गम, राष्ट्रपति ने जताया शोक
  • मिनी बस व विक्रम में जबरदस्त भिड़ंत में अब तक 17 लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है
  • पांच बुरी तरह जख्मी हैं, जबकि एक घायल की हालत नाजुक बनी हुई है
  • हादसे में लालेपुर गांव के दो अलग-अलग परिवारों के दो सगे भाइयों की मौत हो गई है
  • हादसे में सबसे ज्यादा जानें लालपुर के 12 निवासियों की जान जा चुकी है
  • जबकि ईश्वरीगंज गांव के 4 निवासी सड़क दुर्घटना का शिकार हुए हैं
कानपुर जनपद के आउटर क्षेत्र स्थित सचेंडी थाना इलाके में मंगलवार को मिनी बस व विक्रम में जबरदस्त भिड़ंत में अब तक 17 लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है। पांच बुरी तरह जख्मी हैं। जबकि एक घायल की हालत नाजुक बनी हुई है। इस भयावह सड़ हादसे ने दो गांवों लालेपुर और ईश्वरीगंज को इतने गहरे जख्म दिए हैं, जिनकी यादें शायद ही कभी जेहन से निकल पाएं। भीषण दुर्घटना ने कई परिवार उजाड़ दिए। हादसे में लालेपुर गांव के दो अलग-अलग परिवारों के दो सगे भाइयों की मौत हो गई है। परिवार मातम में डुबा है। पूरा गांव गमगीन है। ग्रामीण कह रहे हैं कि अभी उनकी उम्र दुनिया को अलविदा कहने की नहीं थी। 

दुर्घटना में सचेंडी थाने के लालेपुर गांव के रहने वाले त्रिभुवन सिंह के दो पुत्रों धर्मराज सिंह और गौरव की मौत हो गई। गौरव की उम्र महज 18 वर्ष थी। जबकि बड़े पुत्र धर्मराज की उम्र 22 वर्ष थी। लालेपुर के ही रहने वाले धनीराम के दो बेटे अब इस दुनिया में नहीं है। घटना के कुछ वक्त पहले तक सब कुछ सामान्य था। लेकिन मंगलवार को हुए भयावह हादसे ने उनसे पूरा परिवार छीन लिया। दुर्घटना में धनीराम के 2 बेटे राममिलन (24 वर्ष) और लवलेश (20 वर्ष) अपनों को छोड़कर चले गए। लालेपुर के मौत का दिन साबित हुआ मंगलवार
लालेपुर गांव में कोहराम मचा हुआ है। क्योंकि हादसे में सबसे ज्यादा जानें लालपुर के लोगों की गई है। अब तक इस गांव के 12 निवासियों की जान जा चुकी है। जबकि ईश्वरीगंज गांव के 4 निवासी सड़क दुर्घटना का शिकार हुए हैं। दोनों गांव में हर तरफ सिर्फ चीख-पुकार सुनाई दे रही है। किसी को यकीन नहीं हो रहा कि एक सड़क हादसे ने गांव की खुशियां गम में बदल दीं। बताते चलें कि मंगलवार को कानपुर जनपद के बाहरी क्षेत्र स्थित सचेंडी थाना इलाके में मिनी बस व विक्रम में जोरदार टक्कर हो गई। इस दुखद हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को हैलट अस्पताल में भर्ती कराया था। वहां उनका इलाज चल रहा है। एक की हालत नाजुक बताई जा रही है। 


मिनी बस और विक्रम में भिडंत से 17 की मौत
जानकारी के मुताबिक सचेंडी के किसान नगर क्षेत्र में नहर के पास तेज रफ्तार सवारियों से भरी प्राइवेट मिनी बस व विक्रम में भीषण टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि सवारियों में चीख-पुकार मच गई और हाइवे पर जाम लग गया। दुर्घटना की सूचना मिलते ही सचेंडी थाने की पुलिस मौके पर पहुंची गई और स्थानीय लोगों की मदद से क्षतिग्रस्त वाहनों से घायलों को बाहर निकालते हुए राहत कार्य शुरु किया गया। इस दौरान क्षतिग्रस्त वाहनों में फसे घायलों को निकालने में पुलिस व ग्रामीणों के पसीने छूट गए। कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने घायलों को एम्बुलेंस से हैलट अस्पताल पहुंचाया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हादसे में 17 लोगों की मौत हुई। करीब डेढ़ दर्जन लोगों को हैलट अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका है। सीएमओ नेपाल सिंह भी मौके पर पहुंच गए हैं। हादसे की जानकारी पर आलाधिकारियों ने संज्ञान लेते हुए घायलों का बेहतर इलाज किए जाने की बात कही है। पुलिस ने मृतकों की शिनाख्त कर ली है। 

राष्ट्रपति ने जताया शोक, सीएम ने मुआवजे और जांच का आदेश दिया
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कानपुर सड़क हादसे पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जताते हुए कहा कि, “कानपुर में हुए दर्दनाक सड़क हादसे में कई यात्रियों की मृत्यु की ख़बर सुनकर बहुत व्यथा हुई, दुःख की इस घड़ी में, शोक संतप्त परिवारों के प्रति मैं गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूँ।” मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में हुई भीषण दुर्घटना का संज्ञान लिया। उन्होंने मृतकों के प्रति शोक संवेदना प्रकट करते हुए मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये देने के निर्देश दिए हैं। साथ ही जिला व पुलिस प्रशासन को घटना में राहत कार्य करने के साथ ही घायलों का बेहतर इलाज किए जाने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के भी आदेश दिए हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.