यूपी के सभी थानों में 300 करोड़ रुपए से होगी यह खास सुविधा, आम जनता को फायदा लेकिन पुलिस पर सख्ती

बड़ी खबर : यूपी के सभी थानों में 300 करोड़ रुपए से होगी यह खास सुविधा, आम जनता को फायदा लेकिन पुलिस पर सख्ती

यूपी के सभी थानों में 300 करोड़ रुपए से होगी यह खास सुविधा, आम जनता को फायदा लेकिन पुलिस पर सख्ती

Google Image | Symbolic Photo

यूपी के सभी थानों में 300 करोड़ रुपए से होगी यह खास सुविधा, आम जनता को फायदा लेकिन पुलिस पर सख्ती Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश सरकार ने हर पुलिस थाने में सीसीटीवी कैमरा लगाए जाने के आदेश दिए हैं। यह फैसला गुरुवार को उत्तर प्रदेश कैबिनेट में पास हुआ है। अब हर पुलिस थाने के अंदर 12 से 16 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे, जिसके लिए राज्य सरकार ने 300 करोड रुपए का बजट पास कर दिया है। सीसीटीवी कैमरे सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन में लगवाए जा रहे हैं।

कैमरे लगने से होगा भ्रष्टाचार कम 
सीसीटीवी कैमरे लगने से पुलिस थाने में भ्रष्टाचार भी कम होगा। सीसीटीवी कैमरे लगने से थाने के अंदर सभी कार्य निरंतर रूप और कायदे कानून के साथ किए जाएंगे। थाने के अंदर नाइट विजन और साउंड रिकॉर्डिंग वाले कैमरे लगाए जाएंगे। इससे यह भी पता चलता रहेगा कि थाने के अंदर ठीक तरीके से समस्याओं को सुना और उनका निवारण किया जा रहा है या नहीं। 

जांच एजेंसी के कार्यालय में लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे 
पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तार और पूछताछ करने का अधिकार रखने वाली पुलिस समय तक सभी जांच एजेंसियों के कार्यालय में सीसीटीवी कैमरे लगवाने के आदेश दिया था। जिससे इन सभी पर नजर रखी जा सके कि वह अपराधी के साथ कोई दुर्व्यवहार तो नहीं कर रहे हैं। सीसीटीवी कैमरे लगने से पुलिस वालों के अपराधियों को थर्ड डिग्री देने पर हुई रोक लग जाएगी। 

इन स्थानों पर अनिवार्य रूप से लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमरे 
सुप्रीम कोर्ट की 3 सदस्यीय पीठ ने अपने आदेश में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह सुनिश्चित करने को कहा था कि प्रत्येक थाने में प्रवेश और निकासी के स्थान, मुख्य प्रवेश द्वार, हवालात, सभी गलियारों, लॉबी, स्वागत कक्ष और हवालात कक्ष के बाहर के क्षेत्रों में सीसीटीवी कैमरे अनिवार्य रूप से लगे हों। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश में कहा है कि सीसीटीवी प्रणाली में नाइट विजन सुविधा के साथ ही ऑडियो और वीडियो की फुटेज रिकॉर्ड करने की व्यवस्था होनी चाहिए।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.