मेरठ : अस्‍पताल में 5 मरीजों की मौत से गुस्साए परिजनों ने किया हंगामा, जमकर तोड़फोड़ हुई

अस्‍पताल में 5 मरीजों की मौत से गुस्साए परिजनों  ने किया हंगामा, जमकर तोड़फोड़ हुई

Google Image | अस्‍पताल में 5 मरीजों की मौत

उत्‍तर प्रदेश में ऑक्‍सीजन क‍िल्‍लत कम होने का नाम नहीं ले रही है। हर दिन कोई न कोई न्यूज़ हमे देखने और सुनने को मिल ही जाता है।अभी ऑक्‍सीजन की कमी के चलते प्रदेश के अलग-अलग जिलों से मरीजों की मौत की खबरें सामने आ रही हैं। मेरठ मेडिकल थाना क्षेत्र के न्यूटीमा हॉस्पिटल में रविवार को कोरोना के पांच मरीजों की मौत हो गई। परिजनों ने ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने और इलाज में लापरवाही से मौत का आरोप लगाते हुए अस्‍पताल में जमकर हंगामा कर दिया। इस दौरान तोड़फोड़ भी की गई। सूचना म‍िलने पर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची और हालात को काबू क‍िया। खुद सीएमओ अखि‍लेश मोहन भी मौके पर पहुंचे। उन्‍होंने कहा कि परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि कुछ समय के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित हुई। हम इस मामले मे जांच कर रहे है।

न्यूटीमा हॉस्‍प‍िटल में कोविड और नॉन कोविड मरीज भर्ती हैं। रविवार दोपहर से शाम तक अस्पताल में पांच लोगों की मौत हो गई। शाम को अचानक तीन मरीजों की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया। परिजनों का कहना था कि ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से मरीज तड़पने लगे और मरीजों ने दम तोड़ दिया। गुस्साए परिजन हंगामा करने लगे। सूचना पाकर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। देखते ही देखते लोगों की भारी भीड़ लग गई। गुस्‍साए परिजनों ने पुलिस के सामने अस्‍पताल में तोड़फोड़ की। पुलिस ने क‍िसी तरह हालात पर काबू पाया। न्यूटीमा अस्पताल के एमडी डॉ. संदीप गर्ग का कहना है। कि पांच लोगों की मौत हुई है। उनके परिजन ऑक्सीजन के अभाव के कारण मौत होना बता रहे हैं। जबकि ऐसा नहीं है। लोग अपनों को खोने का गम बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं और बेकाबू हो जा रहे हैं। इस मामले में सीएमओ का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। अस्पताल में ऑक्सीजन था या नही ये जांच के बाद ही पता चल पायेगा।उत्‍तर प्रदेश में ऑक्‍सीजन क‍िल्‍लत कम होने का नाम नहीं ले रही है। हर दिन कोई न कोई न्यूज़ हमे देखने और सुनने को मिल ही जाता है।अभी ऑक्‍सीजन की कमी के चलते प्रदेश के अलग-अलग जिलों से मरीजों की मौत की खबरें सामने आ रही हैं। मेरठ मेडिकल थाना क्षेत्र के न्यूटीमा हॉस्पिटल में रविवार को कोरोना के पांच मरीजों की मौत हो गई। परिजनों ने ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने और इलाज में लापरवाही से मौत का आरोप लगाते हुए अस्‍पताल में जमकर हंगामा कर दिया। इस दौरान तोड़फोड़ भी की गई। सूचना म‍िलने पर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची और हालात को काबू क‍िया। खुद सीएमओ अखि‍लेश मोहन भी मौके पर पहुंचे। उन्‍होंने कहा कि परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया कि कुछ समय के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित हुई। हम इस मामले मे जांच कर रहे है।

न्यूटीमा हॉस्‍प‍िटल में कोविड और नॉन कोविड मरीज भर्ती हैं। रविवार दोपहर से शाम तक अस्पताल में पांच लोगों की मौत हो गई। शाम को अचानक तीन मरीजों की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया। परिजनों का कहना था कि ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से मरीज तड़पने लगे और मरीजों ने दम तोड़ दिया। गुस्साए परिजन हंगामा करने लगे। सूचना पाकर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। देखते ही देखते लोगों की भारी भीड़ लग गई। गुस्‍साए परिजनों ने पुलिस के सामने अस्‍पताल में तोड़फोड़ की। पुलिस ने क‍िसी तरह हालात पर काबू पाया। न्यूटीमा अस्पताल के एमडी डॉ. संदीप गर्ग का कहना है। कि पांच लोगों की मौत हुई है। उनके परिजन ऑक्सीजन के अभाव के कारण मौत होना बता रहे हैं। जबकि ऐसा नहीं है। लोग अपनों को खोने का गम बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं और बेकाबू हो जा रहे हैं। इस मामले में सीएमओ का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। अस्पताल में ऑक्सीजन था या नही ये जांच के बाद ही पता चल पायेगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.