69 हजार शिक्षक अभ्यर्थियों ने भाजपा कार्यालय का किया घेराव, पुलिस ने हिरासत में लिया

Lucknow : 69 हजार शिक्षक अभ्यर्थियों ने भाजपा कार्यालय का किया घेराव, पुलिस ने हिरासत में लिया

69 हजार शिक्षक अभ्यर्थियों ने भाजपा कार्यालय का किया घेराव, पुलिस ने हिरासत में लिया

Tricity Today | प्रदर्शन

69 हजार शिक्षक अभ्यर्थियों ने भाजपा कार्यालय का किया घेराव, पुलिस ने हिरासत में लिया लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी में पिछले करीब 5 महीनों से लगातार 69000 शिक्षक भर्ती में 22000 पदों को भरने की मांग कर रहें हैं। सरकार की अनदेखी के बावजूद अभ्यर्थी अभी भी अपनी मांगों को लेकर डटे हैं। शनिवार को सैकड़ों की संख्या में पहुंचे अभ्यर्थियों ने भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय का घेराव कर दिया। प्रदर्शन बढ़ता देख कर वहां मौजूद पुलिस बल ने अभ्यर्थियों को हिरासत में ले इको गार्डन भेज दिया। अभ्यार्थियों का आरोप है कि 69000 शिक्षक भर्ती में आरक्षण लागू नहीं किया गया है। साथ ही पिछड़ा वर्ग आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग भी रखी है।  


सरकार विरोधी लगाए नारे
आरक्षण को लेकर ओबीसी तथा एससी वर्ग के अभ्यर्थियों ने बीजेपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। इसके बाद अभ्यर्थी वहीं पर बैठ गए और नियुक्ति दिए जाने को लेकर सरकार विरोधी नारे लगाने लगे। प्रदर्शन को रोकने के लिए पुलिस तमाम जतन करके प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लेकर इको गार्डेन भेज दिया। शिक्षक अभ्यर्थियों का कहना है कि अनारक्षित की कट ऑफ 67.11 के नीचे 27% आरक्षण दिया जाए। ओबीसी वर्ग को इस भर्ती में 18598 में से मात्र 2637 सीट मिली हैं।

ये था मामला
बता दें कि शिक्षक भर्ती आरक्षण की गड़बड़ी के आरोपों को लेकर भी चर्चा में आ चुकी है। अभ्यर्थियों का कहना था कि यदि प्रदेश सरकार ने जल्द जांच करवाकर चयन से बाहर हो गए पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों को नियुक्ति नहीं दी गई। अभ्यर्थियों का आरोप था कि 69000 शिक्षक भर्ती में पिछड़े अभ्यर्थियों के लगभग 6000 पदों पर घोटाला हुआ है। 2019 में आयोजित इस भर्ती प्रक्रिया में कई लाख अभ्यर्थी शामिल हुए थे, जिसमें से लगभग एक लाख 40 हजार अभ्यर्थी पास हुए थे।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.