एलडीए के वीसी इंद्रमणि त्रिपाठी पर एक्शन, बेनामी प्रोपर्टी हुई अटैच

Uttar Pradesh से बड़ी खबर : एलडीए के वीसी इंद्रमणि त्रिपाठी पर एक्शन, बेनामी प्रोपर्टी हुई अटैच

एलडीए के वीसी इंद्रमणि त्रिपाठी पर एक्शन, बेनामी प्रोपर्टी हुई अटैच

Google Image | इंद्रमणि त्रिपाठी (बीच में)

Lucknow : उत्तर प्रदेश से बड़ी खबर आई है। लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष इंद्रमणि त्रिपाठी पर बड़ा एक्शन हुआ है। उनकी बेनामी सम्पत्तियां आयकर विभाग ने अटैच कर ली हैं। मिली जानकारी के मुताबिक जमीन पर निर्माण चल रहा था। जिस पर करीब एक करोड़ रुपये इंद्रमणि त्रिपाठी खर्च कर चुके थे। इस प्रोपर्टी की बेनामीदार मीरा पांडेय नाम की महिला है।

क्या है मामला
यमूर्ति संगीता चंद्रा और न्यायमूर्ति मनीष कुमार की खंडपीठ में याची मीरा पांडेय की ओर से राज्य सरकार के वर्तमान में मुख्य स्थायी अधिवक्ता अभिनव नारायण त्रिवेदी ने बतौर निजी अधिवक्ता याचिका दाखिल की। इसमें बताया गया कि आयकर विभाग ने मीरा पांडेय द्वारा ली गई संपत्ति का लाभार्थी उनके दामाद इंद्रमणि त्रिपाठी को बताते हुये नोटिस और आदेश जारी किया है। याचिका पर बुधवार को बहस पूरी नही हो पाई। कोर्ट ने याचिका पर आगे की सुनवाई के लिए गुरूवार को सवा दो बजे का समय नियत किया है।

नोटिस और प्रोविजनल अटैचमेंट
याची के ओर से उपस्थित वरिष्ठ अधिवक्ता जेएन माथुर और अभिनव एन त्रिवेदी ने 5 जनवरी 2023 को जारी नोटिस और प्रोविजनल अटैचमेंट के आदेश को चुनौती दी। याचिका में कहा गया है कि आयकर विभाग की ओर से जारी नोटिस और आदेश नियम विरुद्ध है। विभाग ने अपने क्षेत्राधिकार से बाहर जाकर इसे जारी किया है। उन्होंने उक्त नोटिस और प्रोविजनल आदेश को निरस्त करने की मांग की।

जियामऊ में 2016 में खरीदी गई थी संपत्ति
याचिका में आयकर विभाग के जिस नोटिस और आदेश को चुनौती दी गई है, वह जियामऊ के विक्रमादित्य वार्ड अंतर्गत सृजन विहार कॉलोनी की एक संपत्ति से जुड़ा है। 3,680 वर्ग फुट की यह संपत्ति 23 अप्रैल 2016 को मीरा पांडेय के नाम से 82 लाख रुपये में खरीदी गई थी। आयकर विभाग का आरोप है कि मीरा पांडेय की वर्ष 2015-16 में कुल आय 7.30 लाख रुपये थी और इस संपत्ति पर ढाई मंजिल के आवासीय निर्माण में एक करोड़ पांच लाख रुपये भी खर्च किया गया।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.