मेरठ : पश्चिमी यूपी के किसानों को साधने पहुंचे अरविंद केजरीवाल, बोले- केंद्र सरकार ने निकाला है डेथ वारंट

पश्चिमी यूपी के किसानों को साधने पहुंचे अरविंद केजरीवाल, बोले- केंद्र सरकार ने निकाला है डेथ वारंट

Social Media | पश्चिमी यूपी के किसानों को साधने पहुंचे अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को उत्तर प्रदेश के मेरठ में किसानों की एक महापंचायत में शामिल हुए है। मेरठ में दिल्ली बाईपास स्थित संस्कृति रिसोर्ट में अरविंद केजरीवाल ने किसानों से मुलाकात की है। इस दौरान उन्होंने किसानों की महापंचायत को संबोधित किया है। महापंचायत को संबोधित करते अरविंद केजरीवाल ने भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

तीन कृषि कानून है किसानों का डेथ वारंट 
अरविंद केजरीवाल ने महापंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि "इस समय देश का किसान काफी ज्यादा पीड़ा में हैं, केंद्र सरकार किसानों का शोषण कर रही है। पिछले 3 महीनों से किसान अपनी मांगों को लेकर सड़क पर बैठे हुए हैं। इस दौरान किसानों ने कड़कती ठंड और अब धूप का सामना कर रहे हैं। किसान अपने पूरे परिवार के साथ धरने पर बैठे हुए हैं। अरविंद केजरीवाल ने बताया कि "मोदी सरकार ने तीन कृषि कानून को लाकर किसानों का डेथ वारंट जारी कर दिया है। किसान अपनी खेती को बचाने में लगा हुआ है। लेकिन केंद्र में बैठे लोग किसानों की फसल को हत्याने में लगे हुए है।"

70 सालों में मिल रहा है किसानों को धोखा
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि "इस प्रदर्शन में शामिल हुए करीब ढाई सौ से ज्यादा किसानों की मौत हो चुकी है, लेकिन सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। पिछले 70 सालों में किसानों ने सिर्फ धोखा ही सहा है। अभी तक जितनी भी पार्टी देश में आई है। सभी ने देश के किसानों को धोखा दिया है।" उन्होंने कहा कि "किसानों ने भाजपा सरकार को केंद्र में आने का मौका दिया है। किसानों ने समझा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके समस्याओं को सुनकर समाधान करेंगे। लेकिन पीएम साहब खुद किसानों को बेचने में लगे हुए हैं। किसानों ने सिर्फ इसलिए ही मोदी सरकार को चुना था, जिससे किसानों को उनके फसलों का उचित दाम मिल सके। लेकिन मोदी सरकार ने किसानों को बड़े उद्योगपति के हाथ बेचना शुरू कर दिया है। यह देश के लिए काफी गंभीर बात है कि किसानों को देश इस समय परेशानियों से जूझ रहा है। लेकिन उनकी कोई सुनने को तैयार नहीं है।"

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि "मेरे पार्टी के कार्यकर्ता और विधायक किसानों की बार्डर पर बैठे लोगों की सेवा कर रही है। राशन और पानी दे रही है। 28 जनवरी की रात जो हमने कुछ देखा वे बड़ा ही दुखद था। राकेश टिकैत किसानों के लिए बार्डर पर अपना शरीर ताप रहे है, लेकिन सरकार ने जो किया उस कारण उनकी आंखों में आसू आ गए।  इस दौरान आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह और कई नेता मौजूद हैं। केजरीवाल ने पहुंचते ही किसानों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया है। 3600 वर्ग फीट के मंच से केजरीवाल किसान पंचायत को संबोधित किया है। कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए दो-दो फीट की दूरी पर कुर्सयिां लगाई गई हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.