भाजयुमो अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने बुजुर्ग और महिला को पीटा, राइफल लेकर हनक दिखाई, लोगों ने गिरफ्तारी के लिए कोतवाली घेरी

बुलंदशहर : भाजयुमो अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने बुजुर्ग और महिला को पीटा, राइफल लेकर हनक दिखाई, लोगों ने गिरफ्तारी के लिए कोतवाली घेरी

भाजयुमो अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने बुजुर्ग और महिला को पीटा, राइफल लेकर हनक दिखाई, लोगों ने गिरफ्तारी के लिए कोतवाली घेरी

Tricity Today | भाजयुमो अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने बुजुर्ग और महिला को पीटा

भाजयुमो अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने बुजुर्ग और महिला को पीटा, राइफल लेकर हनक दिखाई, लोगों ने गिरफ्तारी के लिए कोतवाली घेरी
  • - भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने बुजुर्ग और महिला से मारपीट की 
  • - दीपक की गिरफ्तारी के लिए लोगों ने कोतवाली का घेराव किया
  • - सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
  • - दीपक ने बुजुर्ग पर लातों और थप्पड़ों के प्रहार किया
बुलन्दशहर में भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा ने दो दिन पहले अपने गांव में एक बुजुर्ग और महिला से मारपीट की। इस मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। दीपक और उसके साथियों की गिरफ्तारी के लिए भीड़ ने सिकन्द्राबाद कोतवाली का घेराव किया है। हाथ में राइफल लेकर मारपीट करते बुलंदशहर के भाजयुमो अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। यह वारदात मंगलवार शाम की है। गांव में नाली विवाद को लेकर दुल्हैरा गांव में दो पक्षों के बीच पथराव और मारपीट हुई। दीपक दुल्हैरा वायरल वीडियो में महिलाओं और बुजुर्ग की पिटाई करते दिख रहे हैं।

गांव में नाली सफाई को लेकर हुआ खूनी संघर्ष
आपको बता दें, सिकन्द्राबाद तहसील का दुल्हैरा गांव भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष दीपक दुल्हैरा का पैतृक गांव है। इस गांव में मंगलवार की शाम दो पक्षों के बीच नाली की सफाई को लेकर विवाद हुआ। देखते ही देखते मौके पर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गये। दीपक दुल्हैरा इसी झगड़े में राइफल लेकर शक्ति प्रदर्शन करते दिख रहे हैं। इस घटना के कई वीडियो ट्वीटर और फेसबुक पर वायरल हैं। वीडियो में दीपक दुल्हैरा ने अपने सिर पर गमछा बांध रखा है। वह सफेद कुर्ता और पायजामा पहने हैं। गांव की एक महिला और उसके साथ खड़े बुजुर्ग पर लातों और थप्पड़ों के प्रहार करते दिख रहे हैं।

दीपक का मारपीट करते हुए वीडियो वायरल
दूसरी वीडियो में पथराव होता दिख रहा है। लोग भागते और चीखते दिखाई दे रहे हैं। महिलाएं चीख रही हैं। मोहल्ले की भीड़ लगी हुई थी। इस वीडियो में दीपक दुल्हैरा भीड़ के बीच खुद मारपीट करते और बलवा का नेतृत्व करते साफ देखे जा सकते हैं। कैमरा उनको जूम करता हुआ दिखाई देता है। यह वीडियो गांव वालों ने और पीड़ित पक्षों ने बनाए हैं। इस संघर्ष में दो महिलाओं समेत कई ग्रामीण घायल हुए हैं। दुल्हैरा गांव का माहौल तनावपूर्ण है। इलाके के पुलिस क्षेत्राधिकारी भारी पुलिस बल के साथ गांव में पहुंचे थे। सूचना मिलने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक भी मौके पर पहुंच गए थे। पुलिस पर मामले में पक्षपात का आरोप लगाया। इस हमले में घायल हुए सारे लोग थाने पहुंच गए थे लेकिन पुलिस उनका मेडीकल परीक्षण करवाने के लिए तैयार नहीं थी। घायलों को इलाज के लिए देर रात तक अस्पताल भी नहीं ले जाया गया था।

दीपक दुल्हैरा और उसके 21 साथियों पर एफआईआर
जब ग्रामीणों ने सिकन्द्राबाद कोतवाली में हंगामा किया तो दीपक दुल्हैरा और उसके साथियों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया। दीपक और उसके साथियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 452, 354, 147, 148, 323, 504 और 506 के तहत केस दर्ज हुआ है। यह धाराएं मारपीट, धमकी, जानलेवा हमला, घर में घुसकर हमला करना, महिलाओं के साथ मारपीट, छेड़छाड़ और बलवा की हैं। दीपक दुल्हैरा और उसके 21 साथियों को इस केस में नामजद किया गया है। इनके अलावा 30 से 40 अज्ञात हमलावर इस केस में शामिल बताए गए हैं। पुलिस ने अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की है।

गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉ महेश शर्मा के करीबी
भाजयुमो अध्यक्ष दीपक शर्मा दुल्हैरा पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ महेश शर्मा के बेहद करीब माने जाते हैं। आपको बता दें कि बुलंदशहर जिले के दो विधानसभा क्षेत्र सिकन्द्राबाद और खुर्जा गौतमबुद्ध नगर लोकसभा क्षेत्र में शामिल हैं। इस इलाके में दीपक शर्मा दुल्हैरा डॉ महेश के हनुमान कहे जाते हैं। सोशलमीडिया पर उनकी तस्वीरें भी दोनों के बीच के रिश्ते बयां करती हैं। कुछ समय पहले दीपक शर्मा दुल्हैरा के भाई ने शराब के नशे में सिकन्द्राबाद थाने में बबाल काटा था और पुलिसवालों पर हाथ तक छोड़ दिया था। सत्ता के अपने रसूखों के चलते दीपक के भाई पर कोई कार्रवाई नही की गयी थी। उल्टे कई पुलिसवालों को सजा दी गयी थी।

पीड़ित पक्ष के खिलाफ क्रॉस एफआईआर दर्ज की गई
अब मंगलवार को हुए इस मामले में भी पुलिस ने महज तहरीर के आधार पर पीड़ित पक्ष के खिलाफ दुल्हैरा पक्ष की ओर से केस दर्ज किया है। मतलब, इस मामले में पुलिस क्रॉस एफआईआर दर्ज कर दी है। आमतौर पर ऐसे मुकदमे केवल इसलिए लिखे जाते हैं, जिससे पीड़ितों पर समझौते के लिए दबाब बनाया जा सके। इसी रणनीति के तहत पुलिस ने अभी तक दीपक और उसके साथियों की गिरफ्तारी नहीं की है। पुलिस ने गांव के प्रधानपति पवन शर्मा की ओर से भी दो महिलाओं समेत 5 के खिलाफ जानलेवा हमले और मारपीट सहित 7 धाराओं में यह केस दर्ज किया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.