Lucknow: सीएम योगी का कोरोना को रोकने के लिए महत्वपूर्ण फैसला, अधिकारियों को दिए सख्त आदेश

सीएम योगी का कोरोना को रोकने के लिए महत्वपूर्ण फैसला, अधिकारियों को दिए सख्त आदेश

Google Image | Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना महामारी की परिस्थितियों को देखते हुए महत्वपूर्ण फैसला किया है। सरकारी अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों और चिकित्सा संस्थानों में दवाइयों और उपकरणों की किल्लत न हो, इसके लिए तीन महीने तक बिना टेंडर के सरकारी अस्पताल, मेडिकल कॉलेज और चिकित्सा संस्थान दवाइयों और उपकरणों की खरीद कर सकेंगे। ऐसे ही सरकारी अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों और चिकित्सा संस्थानों में सेवाओं के लिए भी छूट दी गई है। अब स्थानीय स्तर पर सेवाओं या मैनपावर के लिए टेंडर निकालने की जरूरत नहीं है। सीएम योगी के निर्देश पर प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा ने आदेश जारी कर दिए हैं। 

सीएम योगी ने कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए पिछले साल से ही टीम-11 के अधिकारियों के साथ रोजाना समीक्षा बैठक कर रहे हैं। इसी क्रम में वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए उन्होंने सरकारी अस्पतालों में दवाइयों, उपकरणों और सेवाओं में कोई कमी नहीं होने के निर्देश दिए थे। महामारी की आपात परिस्थितियों में दवाइयों, उपकरणों और तात्कालिक सेवाओं के लिए टेंडर प्रक्रिया अपनाने में समय लग सकता है। इसके लिए गाइडलाइंस जारी की गई है और खरीदारी को पारदर्शी बनाने के लिए कई शर्तें भी जोड़ी गई हैं।

प्रदेश का हाल
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोनावायरस ने काल का रूप धारण कर लिया है। पिछले 24 घंटों के दौरान जिले में 35 लोग महामारी की चपेट में आकर मारे गए हैं। खराब हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इस वक्त लखनऊ में 40,753 लोग संक्रमित हैं। पिछले 24 घंटों में केवल 1,675 लोग स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौटे हैं। इसके अलावा प्रयागराज, कानपुर और वाराणसी में भी हाहाकार मचा हुआ है। इन तीनों जिलों में नए मामलों की संख्या एक हजार के पार है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों में संक्रमण के बड़े मामले दर्ज किए गए हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.