गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद में एक अक्टूबर से धान खरीदेगी सरकार, जानें पूरे प्रदेश में फसल खरीद की तिथियां और नियम 

बड़ी खबर : गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद में एक अक्टूबर से धान खरीदेगी सरकार, जानें पूरे प्रदेश में फसल खरीद की तिथियां और नियम 

गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद में एक अक्टूबर से धान खरीदेगी सरकार, जानें पूरे प्रदेश में फसल खरीद की तिथियां और नियम 

Google Image | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद में एक अक्टूबर से धान खरीदेगी सरकार, जानें पूरे प्रदेश में फसल खरीद की तिथियां और नियम  Uttar Pradesh: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत किसानों को उनकी उपज का उचित एवं लाभकारी मूल्य उपलब्ध कराने के उद्देश्य से धान खरीद किये जाने का निर्णय लिया है। राज्य में किसानों से धान खरीद किए जाने की प्रक्रिया एक अक्टूबर, 2021 से शुरू होगी। इस सम्बन्ध में धान क्रय नीति जारी कर दी गयी है। इसके अनुसार इस बार विभिन्न श्रेणी के धान के समर्थन मूल्य के तहत कॉमन धान श्रेणी 1940 रुपये प्रति कुन्तल तथा ग्रेड-ए के धान का मूल्य 1960 रुपये प्रति कुन्तल निर्धारित किया गया है।

प्रदेश की खाद्य प्रमुख सचिव, वीना कुमारी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सम्भाग लखनऊ के जिलों हरदोई, लखीमपुर तथा सम्भाग बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़ और झांसी में धान क्रय की अवधि 01 अक्टूबर, 2021 से 31 जनवरी, 2022 तक तय की गई है। लखनऊ सम्भाग के अन्य जिलों लखनऊ, सीतापुर, रायबरेली, उन्नाव व चित्रकूट, कानपुर, अयोध्या, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, मिर्जापुर एवं प्रयागराज मण्डलों में 01 नवम्बर, 2021 से 28 फरवरी, 2022 तक धान की खरीद की जाएगी।

प्रमुख सचिव ने बताया कि धान क्रय के लिए केन्द्र सुबह 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक खोले जायेंगे। किन्तु जिलाधिकारी, स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार क्रय केन्द्र के खुलने एवं बन्द करने के समय में आवश्यक परिवर्तन कर सकेंगे। किसानों को सुविधा देने के लिए रविवार एवं राजपत्रित अवकाशों को छोड़कर शेष कार्य दिवसों में धान केन्द्र खुले रहेंगे। वीना कुमारी ने बताया कि इस वर्ष प्रदेश के लिए 70 लाख मीट्रिक टन धान क्रय का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के लिए 4000 क्रय केन्द्र खोले जाने प्रस्तावित हैं। 
प्रमुख सचिव ने बताया कि किसानों की सुविधा को देखते हुए स्थायी धान क्रय केन्द्र, स्थल बनाये जाने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। इसके लिए यह प्रयास किया जायेगा कि खाद्य विभाग, पीसीएफ व भारतीय खाद्य निगम के केन्द्र एक निश्चित स्थान पर ही खोले जायें। क्रय केन्द्रों की रिमोट सेन्सिंग एप्लीकेशन सेन्टर के माध्यम से जियो टैगिंग की जायेगी। जनपद में स्थापित सभी एजेन्सियों के क्रय केन्द्रों का नाम व पता, केन्द्र की लोकेशन, केन्द्र प्रभारी का नाम व मोबाइल नम्बर इत्यादि विवरण जिले की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जायेगा। 

इसकी सूचना एसएमएस के माध्यम से किसानों को पंजीकरण के समय ही उपलब्ध करायी जायेगी। प्रमुख सचिव ने बताया कि क्रय केन्द्र ऐसे स्थान पर स्थापित किये जायेंगे, जहां धान की अच्छी आवक एवं खरीद की अच्छी सम्भावना हो। ताकि किसानों को अपना धान बेचने के लिए अधिक दूरी न तय करनी पड़े। धान खरीद से सम्बन्धित शिकायतें, सुझाव टोल फ्री नंबर-18001800150 पर दर्ज करायी जा सकेंगी।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.