काव्य संग्रह 'नीलिमा' का हुआ भव्य विमोचन, अभिमन्यु पांडेय सम्मानित हुए

Uttar Pradesh : काव्य संग्रह 'नीलिमा' का हुआ भव्य विमोचन, अभिमन्यु पांडेय सम्मानित हुए

काव्य संग्रह 'नीलिमा' का हुआ भव्य विमोचन, अभिमन्यु पांडेय सम्मानित हुए

Tricity Today | काव्य संग्रह 'नीलिमा' का हुआ भव्य विमोचन

काव्य संग्रह 'नीलिमा' का हुआ भव्य विमोचन, अभिमन्यु पांडेय सम्मानित हुए

- "तृषित स्मृति सम्मान" से नवाजी गईं अनेक विभूतियां
- अभिमन्यु पांडेय संपादित पुस्तक का विमोचन हुआ
- बुद्धिजीवियों ने लाल सुरेश सिंह तृषित को याद किया

Pratapgarh : उत्तर प्रदेश के जनपद प्रतापगढ़ के सिप्तैन रोड चौक स्थित तृषित आवास राजापुर कोठी में रविवार को कवियों का भव्य समागम हुआ। स्वतंत्र कवि मण्डल ने स्वनामधन्य कवि अधिवक्ता लाल सुरेश कुमार सिंह 'तृषित' के काव्य संग्रह "नीलिमा" का भव्य
विमोचन कार्यक्रम आयोजित किया। इस दौरान जनपद के तमाम गणमान्य लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की और कार्यक्रम को सफल बनाया। इस दौरान पुस्तक समीक्षा और एक काव्य गोष्ठी का भी आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व विधायक हरिप्रताप सिंह और अति विशिष्ट अतिथि के रूप में वरिष्ठ अधिवक्ता जय नारायण सिंह उपस्थित रहे। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप साहित्यकार डॉ.दयाराम मौर्य 'रत्न', यज्ञ नारायण सिंह, आनन्द मोहन ओझा और वरिष्ठ पत्रकार व काव्य संग्रह के संपादक अभिमन्यु पाण्डेय ने मंच की शोभा बढ़ाई। कार्यक्रम की अध्यक्षता समाजसेवी लाल उर्मिला प्रताप सिंह और संचालन कवि सुरेश नारायण दुबे व्योम ने किया।

कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना और स्वर्गीय लाल सुरेश प्रताप सिंह 'तृषित' के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करके की गई। इस दौरान मुख्य अतिथि हरिप्रताप सिंह ने कहा कि तृषित जी ने सदैव साहित्य और समाज हित में काम किया। उनकी पहचान हमेशा समाज को नई दिशा देने में प्रयासरत एक चिंतक के रूप में बनी रहेगी। उनकी स्मृतियों को पिरोकर जो एक पुस्तक का रूप दिया गया, यह बेहद सराहनीय और जनपद के लिए गौरव का विषय है। विशिष्ट अतिथि अम्मा साहेब ट्रस्ट के ट्रस्टी आनन्द मोहन ओझा ने तृषित जी को उच्च कोटि का कवि व चिंतक बताया। उन्होंने कहा कि श्री तृषित जी का साहित्य के प्रति लगाव और योगदान आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणादाई साबित होगा। 

कार्यक्रम की अगली कड़ी में काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें कवि अशोक अग्रहरि, अशोक सिंह, सुरेश अकेला, गुरु बचन सिंह बाघ, कृष्ण लाल श्रीवास्तव, अभिमन्यु पाण्डेय 'आदित्य', डॉ.दयाराम मौर्य 'रत्न', सुरेश नारायण दुबे व्योम इत्यादि ने काव्य पाठ करके समारोह को बुलंदी पर पहुंचाया। इस दौरान पूरा सदन तालियों से गुंजायमान हो गया। इस अवसर पर अनेक विभूतियों को "तृषित स्मृति सम्मान" से नवाजा गया।

सम्मानित होने वालों में पूर्व विधायक हरिप्रताप सिंह, साहित्यकार डॉ.दयाराम मौर्य 'रत्न', जिला बार एसोसिएशन प्रतापगढ़ के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता जयनारायण सिंह, काव्य संग्रह के संपादक अभिमन्यु पाण्डेय 'आदित्य', यज्ञनारायण सिंह प्रमुख रहे। 
कार्यक्रम के अंतिम चरण में  कवि तृषित जी के बड़े पुत्र लाल चन्द्रधर सिंह 'गगन' ने अतिथियों का स्वागत किया। आभार छोटे पुत्र इंदुधर सिंह पुनीत ने प्रकट किया। स्वतंत्र कवि मण्डल के अध्यक्ष  अर्जुन सिंह ने कहा कि तृषित जी उदार व्यक्तित्व के धनी थे। समारोह में तृषित परिवार के सदस्य और संबंधी व समाज के प्रबुद्धजन मौजूद रहे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.