पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी’ का किया शिलान्यास, स्वर्गीय कल्याण सिंह को किया याद

BIG NEWS : पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी’ का किया शिलान्यास, स्वर्गीय कल्याण सिंह को किया याद

पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी’ का किया शिलान्यास, स्वर्गीय कल्याण सिंह को किया याद

Google Image | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया

पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी’ का किया शिलान्यास, स्वर्गीय कल्याण सिंह को किया याद
  • कोल के ग्राम लोधा एवं ग्राम मूसेपुर करीब जिरौली के कुल 92.27 एकड़ क्षेत्रफल में यह विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा
  • आज़ादी के आंदोलन में कई महान व्यक्तित्वों ने अपना सबकुछ खपा दिया
  • आज़ादी के बाद ऐसे राष्ट्र नायक और नायिकाओं को अगली पीढियों को परिचित ही नहीं कराया गया
  • 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हुआ
  • प्रदेश के 1 करोड़ 61 लाख नौजवानों को अपने ही गांव में, अपने ही जनपद में रोज़गार मिला
Aligarh News : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendar Modi) ने आज अलीगढ़ में महाराजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के अलीगढ़ नोड्स का अवलोकन कर इसकी नींव रखी। इस दौरान उनके साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) समेत कई बड़ी हस्तियां मौजूद रहीं। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने राज्य के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने राजा महेंद्र प्रताप सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को याद किया। बताते चलें कि अलीगढ़ की तहसील कोल के ग्राम लोधा एवं ग्राम मूसेपुर करीब जिरौली के कुल 92.27 एकड़ क्षेत्रफल में यह विश्वविद्यालय स्थापित किया जाएगा।

21वीं सदी का भारत सुधार रहा है
आज सुबह वह इस कार्यक्रम के सिलसिले में अलीगढ़ पहुंचे। वहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उनका स्वागत किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा, मैं आज इस धरती के महान सपूत, स्वर्गीय कल्याण सिंह जी की अनुपस्थिति बहुत ज्यादा महसूस कर रहा हूं। आज कल्याण सिंह जी हमारे साथ होते तो राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय और डिफेंस सेक्टर में बन रही अलीगढ़ की नई पहचान को देखकर बहुत खुश होते। हमारी आज़ादी के आंदोलन में कई महान व्यक्तित्वों ने अपना सबकुछ खपा दिया। लेकिन यह देश का दुर्भाग्य रहा है कि आज़ादी के बाद ऐसे राष्ट्र नायक और नायिकाओं को अगली पीढियों को परिचित ही नहीं कराया गया। उनकी गाथाओं को जानने से देश की कई पीढ़ियां वंचित रह गईं। 20वीं सदी की उन गलतियों को आज 21वीं सदी का भारत सुधार रहा है।

भारत के भविष्य की नींव में भी सक्रिय योगदान दिया था
पीएम मोदी ने आगे कहा, राजा महेंद्र प्रताप सिंह के जीवन से हमें अदम्य इच्छाशक्ति, अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने वाली जीवटता सीखने को मिलती है। वो भारत की आजादी चाहते थे और अपने जीवन का एक-एक पल उन्होंने इसी के लिए समर्पित कर दिया था। राजा महेंद्र प्रताप सिंह सिर्फ़ भारत की आज़ादी के लिए ही नहीं लड़े। उन्होंने भारत के भविष्य की नींव में भी सक्रिय योगदान दिया था। उन्होंने अपने देश-विदेश की यात्राओं से मिले अनुभवों का उपयोग भारत की शिक्षा व्यवस्था को आधुनिक बनाने के लिए किया। वृंदावन में आधुनिक टेक्निकल कॉलेज उन्होने अपनी पैतृक संपत्ति को दान करके बनाया था। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के लिए जमीन भी राजा महेंद्र प्रताप सिंह ने ही दी थी। आज मां भारती के अमर सपूत के नाम पर विश्वविद्यालय का निर्माण उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि है।

3 लाख करोड़ रुपये का निवेश हुआ
इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम का स्वागत करते हुए कहा, आज राधा अष्टमी भी है और ब्रज क्षेत्र के लिए आज के दिन का बड़ा महत्व है। ये हमारा सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री आज इस अलीगढ़ की पावन भूमि पर अपना मार्गदर्शन और आशीर्वाद प्रदान करने, यहां की बहुप्रतीक्षित मांगों को पूरा करने के लिए स्वयं हमारे बीच उपस्थित हैं। फरवरी 2018 में प्रधानमंत्री ने उप्र के पहले इन्वेस्टर समिट का उद्घाटन स्वयं आकर किया था। आज उसका परिणाम है कि उ.प्र. में 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक का निवेश हुआ। प्रदेश के 1 करोड़ 61 लाख नौजवानों को अपने ही गांव में, अपने ही जनपद में रोज़गार और नौकरी मिली। कोरोना कालखंड में जीवन और जीविका दोनों को बचाने का अद्भुत प्रबंधन हुआ। पीएम नरेंद्र मोदी ने 2-2 स्वदेशी वैक्सीन देकर देश के प्रति अपनी आत्मीय संवेदना व्यक्त करते हुए 75 करोड़ लोगों को टीके की डोज उपलब्ध कराई है।

सेनानियों को याद रखा जाएगा, 8 नए विवि बन रहे हैं
सीएम योगी ने आगे कहा, डिफेंस कॉरिडोर और राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी के नाम पर विश्वविद्यालय, आजादी की लड़ाई की उस गाथा को एक बार फिर से हम सभी के लिए स्मरणीय बना रहा है। आजादी की लड़ाई में इस क्षेत्र को नेतृत्व प्रदान करने वाले और उस कालखंड में शिक्षा व समाजसेवा की अलख जगाने वाले राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी को पश्चिमी उत्तर प्रदेश कभी विस्मृत नहीं कर सकता। प्रधानमंत्री के आशीर्वाद और मार्गदर्शन में वर्तमान में उत्तर प्रदेश में 8 नए विश्वविद्यालय बन रहे हैं। सहारनपुर में मां शाकम्भरी के नाम पर एक राज्य विश्वविद्यालय का निर्माण प्रस्तावित है। प्रदेश का पहला स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय मेरठ में प्रस्तावित है। उसे हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद जी की स्मृतियों को समर्पित किया है। अलीगढ़ में राज्य विश्वविद्यालय, राजा महेंद्र प्रताप सिंह जी के नाम पर समर्पित है।

4 जिलों के 395 महाविद्यालय सम्बद्ध होंगे
अलीगढ़ की तहसील कोल के ग्राम लोधा एवं ग्राम मूसेपुर करीब जिरौली के कुल 92.27 एकड़ क्षेत्रफल में राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी स्थापित की जाएगी। विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन, शैक्षणिक भवन, छात्रावास, आवासीय भवन आदि के निर्माण के प्रथम चरण के लिए 101.41 करोड़ रुपए की लागत के निर्माण कार्यों की स्वीकृति प्रदान की गई है। इस विश्वविद्यालय के क्षेत्राधिकार में अलीगढ़ मण्डल के चारों जनपद-अलीगढ़, कासगंज, हाथरस एवं एटा शामिल हैं। अलीगढ़ मण्डल के 395 महाविद्यालय इस विश्वविद्यालय से सम्बद्ध होंगे। इसकी स्थापना से अलीगढ़ मण्डल के छात्र-छात्राओं को उच्चस्तरीय शैक्षणिक सुविधाएं प्राप्त होंगी।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.