इस तरह चार युवकों के साथ शादी कर बनाया अपना शिकार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

लुटेरी दुल्हन : इस तरह चार युवकों के साथ शादी कर बनाया अपना शिकार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस तरह चार युवकों के साथ शादी कर बनाया अपना शिकार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Google Image | पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तरा

इस तरह चार युवकों के साथ शादी कर बनाया अपना शिकार, पुलिस ने किया गिरफ्तार Sharanpur : पुलिस ने एक गिरोह का पर्दाफाश करते हुए लुटेरी दुल्हन और उसके साथी को गिरफ्तार किया है। आरोपी शादी कर चार-पांच दिन बाद नगदी और ज्वेलरी लेकर मौके से फरार हो जाते थे। आरोपी पीड़ितों को पुलिस की कार्रवाई का डर देकर पैसों की मांग करते थे। पुलिस ने गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है, वहीं अन्य सदस्य फरार है। पुलिस फरार हुए आरोपियों की तलाश कर रही है। 

3 लाख रुपए लेकर कराया था प्रेम विवाह 
एसएसपी डॉक्टर विपिन ताडा ने बताया कि गिरोह के खिलाफ थाना चिलकाना के गांव पंचकुवा के रहने वाले प्रवीण ने गीता उर्फ सलोनी निवासी मोहल्ला टांडा जिला उधम सिंह नगर, अशफाक, नाजिमा, संजय निवासी पदार्था थाना पथरी, कुंवर सिंह, राजकुमार निवासी कुंजा बहादुरपुर जनपद हरिद्वार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। प्रवीण ने बताया नहीं आरोपियों ने शादी से पहले फर्जी आधार कार्ड नाम पता बताकर गीता उर्फ सलोनी से प्रेम विवाह कराया था जिसके लिए उन्होंने 3 लाख रुपए लिए थी। 

झांसे में लेकर गीता से कराते थे शादी 
एसएसपी ने बताया कि ग्रहों को पकड़ने के लिए कई टीमें गठित की गई थी। पुलिस ने गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। जिसमें गीता उर्फ सलोनी और अशफाक को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह गावों में ऐसे लोगों को ढूंढते थे। जिन्हें शादी के लिए लड़कियों की जरूरत होती थी  बाद में उन्हें अपने झांसे में लेने के बाद गीता से शादी करा देते थे। 

शादी के बाद मायके जाने का बनाती थी बहाना 
शादी करने के बाद गीता ससुराल वालों को मायके जाने का बहाना बनाती थी। जिसके बाद अगर कोई ससुराल वाला साथ जाता था, तो उसे चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर पिला देती थी। जिसके बाद नगदी और ज्वेलरी लेकर मौके से फरार हो जाती थी। आरोपी कुछ लोगों को दहेज उत्पीड़न की धमकी देकर पैसे वसूलते थे। पुलिस पूछताछ में बताया कि गीता पर चार शादियां कर चुके हैं। 

पुलिस का बयान 
एसएसपी विपिन ताडा ने बताया कि गिरोह काफी समय से जरूरतमंद लोगों को ठगी का शिकार बना रहा था। यह गिरोह हरियाणा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में लोगों को शादी कर ठगी का शिकार बनाता था। आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद मिले हुए पैसे का आपस में बटवारा करते थे। जिसमें से 50% हिस्सा गीता लेती थी। पुलिस फरार हुए आरोपियों की तलाश कर रही है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.