महंत नरेंद्र गिरि की हत्या या आत्महत्या, कांग्रेस ने उठाए सवाल, 13 पन्नों का सुसाइड नोट आया सामने

बड़ी खबर : महंत नरेंद्र गिरि की हत्या या आत्महत्या, कांग्रेस ने उठाए सवाल, 13 पन्नों का सुसाइड नोट आया सामने

महंत नरेंद्र गिरि की हत्या या आत्महत्या, कांग्रेस ने उठाए सवाल, 13 पन्नों का सुसाइड नोट आया सामने

Tricity Today | महंत नरेंद्र गिरि और अजय कुमार लल्लू

महंत नरेंद्र गिरि की हत्या या आत्महत्या, कांग्रेस ने उठाए सवाल, 13 पन्नों का सुसाइड नोट आया सामने लखनऊ : प्रयागराज में महंत नरेंद्र गिरी की मौत के बाद जहां एक तरफ उनके भक्तों और शिष्यों में शोक की लहर है, तो वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की सियासत भी गरमा गई है। महंत नरेंद्र गिरी की मौत एक रहस्य बनी हुई है कि यह हत्या है या फिर आत्महत्या। इसी सिलसिले में राजधानी लखनऊ में कांग्रेस मुख्यालय पर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधायक प्रमोद तिवारी के द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया जिसमें पत्रकारों को संबोधित करते हुए प्रमोद तिवारी ने कहा कि प्रयागराज की घटना बेहद दुखद है। और इस घटना से संबंधित जिस प्रकार के तथ्य सामने आ रहे हैं वह संदेह पैदा कर रहे हैं।इसके साथ ही महंत नरेंद्र गिरी का 13 पन्नों सुसाइड लेटर सामने आ गया है।

बिना पोस्टमार्टम के आत्महत्या क्यों बताया गया
उन्होंने कहा कि फांसी और गला दबाने में एक फर्क होता है और बिना पोस्टमार्टम के आत्महत्या करार क्यों दे दिया गया, ऐसी जल्दबाजी क्यों की जा रही है उन्होंने कहा कि यह साधु संतों की 21वीं हत्या है। आज सबसे बड़ी मुसीबत कर्मचारियों पर आई हुई है उन्होंने कहा कि तमाम साधु संत सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं और कांग्रेस भी इनका समर्थन करती है। प्रमोद तिवारी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट या फिर हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच सीबीआई जांच की मॉनिटरिंग भी करें इसके साथ ही एक वायरल वीडियो की थी उन्होंने चर्चा करते हुए कहा कि एक वीडियो भी एक सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और जो सोसाइट नोट मौके पर पाया गया है उस पर भी सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा कि सुसाइड नोट कभी भी इतने पेज का नहीं होता है।

कांग्रेस ने उठाये कई सवाल
उन्होंने कहा कि महंत जी भारतीय जनता पार्टी के एजेंडे के बहुत ही करीब थे उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा है कि ऐसा कौन सा भाजपा का दबाव था जो महंत जी बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे। इसके अलावा महंत नरेंद्र गिरि जी का जहां शव मिला है उस पर भी सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा है कि यह महंत जी का नियमित विश्राम करने की जगह नहीं थी उन्होंने कहा है कि यह तमाम ऐसे सवाल है जो एक राज की तरह बने हुए हैं।इसका खुलासा सीबीआई रिपोर्ट के बाद ही होगा।

13 पन्ने का सुसाइड लेटर आया सामने
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि ने अपने मठ बाघंबरी गद्दी में सोमवार की शाम कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है।  हालांक‍ि पुलिस को शव के पास से सूइसाइड नोट भी बरामद क‍िया है। बताया गया क‍ि सूइसाइड नोट में महंत ने अपने शिष्य आनंद ग‍िर‍ि से दुखी होने की बात कही। उधर, उत्तराखंड पुलिस ने उनके शिष्य आनंद गिरि को हरिद्वार में हिरासत में ले लिया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.