एमएलए धीरेंद्र सिंह ने राज्य और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं, इस आयोग की रिपोर्ट का किया जिक्र, जानें वजह

ग्राम चौपाल : एमएलए धीरेंद्र सिंह ने राज्य और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं, इस आयोग की रिपोर्ट का किया जिक्र, जानें वजह

एमएलए धीरेंद्र सिंह ने राज्य और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं, इस आयोग की रिपोर्ट का किया जिक्र, जानें वजह

Tricity Today | एमएलए धीरेंद्र सिंह ने राज्य और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं

एमएलए धीरेंद्र सिंह ने राज्य और केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं, इस आयोग की रिपोर्ट का किया जिक्र, जानें वजह Uttar Pradesh : जेवर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक धीरेंद्र सिंह ने आज भवोकरा गांव में ग्राम चौपाल कार्यक्रम में लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों की जमकर प्रशंसा की। साथ ही सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उपस्थित किसानों को बताते हुए एमएलए ने कहा, “आज उत्तर प्रदेश की कमान ऐसे सशक्त नेता के हाथ में हैं, जिसने प्रदेश की कानून-व्यवस्था व औद्योगिक विकास को पटरी पर लाने का काम किया है। 

उन्होंने आगे कहा, सन 2017 से पूर्व की सरकारें प्रदेश के संसाधनों का इस्तेमाल अपनी तिजोरियां भरने में करती थी। मगर सीएम योगी आदित्यनाथ पूरी ईमानदारी के साथ प्रदेश की 24 करोड़ जनसंख्या के स्वर्णिम भविष्य के लिए, इस प्रदेश के विकास के लिए दिन-रात मेहनत कर रहे हैं।

केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए धीरेंद्र सिंह ने कहा, "सन 2004 में स्वामीनाथन आयोग का गठन हुआ था। वर्ष 2007 तक 3 चरणों में स्वामीनाथन आयोग ने अपनी रिपोर्ट तत्कालीन सरकार को सौंप दी। लेकिन तत्कालीन सरकारों ने उस रिपोर्ट को रद्दी की टोकरी में इसलिए डाल दिया, क्योंकि वे सरकारें किसानों के जीवन स्तर को उन्नत बनाने की वजह उद्योगपतियों का हित सुरक्षित रखना चाहती थीं। यह देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का किसानों के प्रति समर्पण ही कहा जा सकता है कि उन्होंने इतने वर्षों बाद रद्दी की टोकरी से उठाकर धूल चाट रही स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को इस देश के किसानों के हित में न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाकर लागू किया।"

इस कार्यक्रम में भाजपा किसान मोर्चा गौतमबुद्ध नगर के जिला अध्यक्ष चंद्रपाल सिंह, हरीश शर्मा, अमित भाटी, रामवीर सिंह, प्रेमवीर सिंह, निवर्तमान उपाध्यक्ष सुशील शर्मा व अतुल शर्मा आदि पदाधिकारियों के साथ सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.