प्रयागराज में कोरोना का कहर: दो दिन से दो हजार से ज्यादा मामले, 11 लोगों की मौत और 863 हुए डिस्चार्ज, देखिए पूरी रिपोर्ट

दो दिन से दो हजार से ज्यादा मामले, 11 लोगों की मौत और 863 हुए डिस्चार्ज, देखिए पूरी रिपोर्ट

Google Image | covid-19

प्रयागराज में करोना वायरस महामारी के संक्रमण का कहर जिस तरह से लगातार जारी है, उससे संकट अभी टला नहीं है। गुरुवार को 2324 संक्रमित लोगों की अपेक्षा शुक्रवार को एक दिन में नये संक्रमितों की संख्या 2236 मिली हैं। इस हफ्ते मंगलवार के बाद गुरुवार और शुक्रवार दोनों दिन लगातार संक्रमित मरीजों की संख्या दो हजार से अधिक रही है। कोरोना से संक्रमित भर्ती मरीजों में 11 लोगों की मृत्यु हुई है।

जिले में कोरोना महामारी से बिगड़े हालात में बीते दिनों की तुलना में शुक्रवार को 863 लोगों को स्वस्थ्य होने पर डिस्चार्ज किया गया। कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों में से 55 और होम आइसोलेशन से 808 लोगों को डिस्चार्ज किया गया। एक दिन में पूरी तरह स्वास्थ्य होने पर डिस्चार्ज होने की अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। शुक्रवार को जगह-जगह से 11969 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गये हैं। जबकि अब तक 34040 लोग होम आइसोलेशन में रहकर संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। शुक्रवार को कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों में 11 लोगों की जान चली गई है। उनमें से अधिकांश फेफड़ों में आई दिक्कत से ग्रस्त थे।

प्रयागराज कोविड-19 के नोडल अधिकारी डॉ ऋषि सहाय ने बताया कि अस्पतालों में डॉक्टर  प्रयास कर रहे हैं कि किसी भर्ती मरीज की जान न जाए। उन्होंने कहा कि लोग थोड़ी भी दिक्कत महसूस होने पर जांच में किसी तरह की लापरवाही नहीं करें। क्योंकि जांच में देरी से मर्ज बढ़ जाता है। जिस तरह से संक्रमण घर-घर अपने पांव पसार रहा है। उसकी तुलना में लोग जांच केन्द्रों में जांच के लिए कम ही आ रहे हैं। शहर में स्वास्थ्य विभाग की दर्जनों टीमें बनाई गई है।

कोरोनावायरस का संक्रमण कर्मचारियों में तेजी से प्रसार हो रहा है। शहर में तमाम बड़े लोग भी संक्रमित हुए हैं। पंचायत चुनाव की ड्यूटी से लौटे बहुत से कर्मचारीयों ने तबीयत खराब होने पर जांच कराई तो उनमें कुछ कर्मचारी शुक्रवार को पॉजिटिव पाये गये हैं। शहर के अलग-अलग क्षेत्रों फाफामऊ, झांसी और नैनी भी जांच केंद्र संचालित हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.