नंद गोपाल नंदी ने मुख्तार अब्बास से की मुलाकात, यूपी के अल्पसंख्यकों के लिए की यह बड़ी मांग

बड़ी खबर : नंद गोपाल नंदी ने मुख्तार अब्बास से की मुलाकात, यूपी के अल्पसंख्यकों के लिए की यह बड़ी मांग

नंद गोपाल नंदी ने मुख्तार अब्बास से की मुलाकात, यूपी के अल्पसंख्यकों के लिए की यह बड़ी मांग

Tricity Today | दिल्ली में आयोजित बैठक में शामिल हुए अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी

नंद गोपाल नंदी ने मुख्तार अब्बास से की मुलाकात, यूपी के अल्पसंख्यकों के लिए की यह बड़ी मांग उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर नंद गोपाल नंदी ने शनिवार को केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास से मुलाकात की। इस दौरान नंद गोपाल नंदी ने काफी मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के मुद्दों और समस्याओं को लेकर काफी समय तक बैठक की। जिसमें अल्पसंख्यक बाहुल्य गांव को क्लस्टर बनाने की घोषणा पर भी प्रस्ताव रखा गया। यह योजना प्रधानमंत्री जन विकास योजना के तहत है। जिस पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास ने सहमति जताई है। नन्द गोपाल नंदी इस समय नागरिक उड्डयन, राजनीतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज विभाग के मंत्री 

नंद गोपाल नंदी ने मुख्तार अब्बास को बताया कि उत्तर प्रदेश की विभिन्न अब संख्यक बाहुल्य जनपदों में विकास में काफी तेजी आई है। लोगों को बेहतर सुविधा, सुरक्षा, स्वास्थ्य और शिक्षा को लेकर सरकार लगातार कार्यरत है। इसके अलावा उन्होंने प्रस्ताव को पेश करते हुए कहा कि विद्यालयों में स्मार्ट क्लास और अन्य सुविधाओं के लिए 1207.16 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा है।

यूपी के कैबिनेट मंत्री ने आगे कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के कारण प्रस्तावित परियोजनाओं के कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करवाना चाहिए। प्रधानमंत्री जन कार्यक्रम के तहत सभी नए प्रस्ताव पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बासी ने सहमति व्यक्त की है। इसके साथ ही बैलेंस फंड के रूप में उपलब्ध राशि को भी भी परियोजना में शामिल करने की सहमति दी है।

इस दौरान भारत सरकार द्वारा संचालित प्री मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक और मेरिट कम मींस छात्रवृत्तियों में आधिकारिक आवेदन के कराए जाने पर बल दिया गया। और यह विश्वास व्यक्त किया गया कि कोई भी छात्र छात्रवृति से वंचित नहीं रहेगा। कौशल प्रशिक्षण से संबंधित योजनाएं सीखो कमाओ, नई रोशनी, उस्ताद आदि अधिकारिक प्रशिक्षण कराए जाने पर भी बल दिया गया। मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों के मानदेय भुगतान हेतु जल्द प्रभावी कदम उठाए जाने पर सहमति दी गई। 

नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने कहा कि समाज के सभी तबकों की तरक्की और सशक्तिकरण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल रही विकास योजनाओं से समाज के सभी तबकों को सीधा लाभ मिल रहा है। मुख्तार अब्बास ने यूपी में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही विभिन्न स्कॉलरशिप्स, रोजगारपरक कौशल विकास, प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम से सम्बंधित विभिन्न योजनाओं-कार्यक्रमों पर चल रहे कार्यों की जानकारी ली। 

नन्दी ने जानकारी देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की 4,608 परियोजनाओं में प्रथम किश्त की धनराशि का शत प्रतिशत उपभोग करते हुए उपभोग प्रमाण पत्र भारत सरकार को उपलब्ध करा दिया गया है। जिसमें से वर्ष 2020-21 इतनी करोड़ की धनराशि केंद्रांश 3340.55 लाख अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी हो चुकी है। अवशेष धनराशि 9883.7541 लाख जारी होना शेष है। ड्राप परियोजनाओं के सापेक्ष उपलब्ध केंद्रांश की धनराशि 7727.72 लाख में से ही द्वितीय किश्त की वांछित धनराशि को समायोजित किया जाना है। उत्तर प्रदेश के पास ड्रॉप परियोजनाओं की 14031.424 लाख की धनराशि संलग्न विवरण के अनुसार केंद्रांश के रूप में उपलब्ध है।  इस संबंध में इस विषय के नए निर्देश आवश्यक है कि जिन परियोजनाओं में द्वितीय किस्त वांछित है, उनमें 14031.424 लाख की धनराशि को द्वितीय किस्त में समायोजित किया जाएगा। 

प्राइमरी स्कूलों में फर्नीचर के क्रय की प्रणाली बहुत कठिन और लेंदी है। इसमें लगने वाले अनावश्यक समय से बचने हेतु राज्य स्तर पर GEM के माध्यम से प्रोक्योरमेंट की अनुमति दिया जाना उचित होगा। मदरसा आधुनिकीकरण योजना इसके अंतर्गत मदरसा शिक्षकों के गत वर्षों के बकाया मानदेय मद में 477 करोड़ रुपए की धनराशि किया जाना लंबित है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.