BIG BREAKING : यूपी के इन 11 जिलों में लग सकता है नाइट कर्फ्यू, सीएम ने अफसरों पर छोड़ा फैसला

यूपी के इन 11 जिलों में लग सकता है नाइट कर्फ्यू, सीएम ने अफसरों पर छोड़ा फैसला

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

Coronavirus Cases in UP : उत्तर प्रदेश में एक बार फिर कोरोनावायरस का संक्रमण जोर पकड़ रहा है। रोजाना बड़ी संख्या में लोग इस महामारी की चपेट में आ रहे हैं। बुधवार की शाम 5:00 बजे तक पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 40 लोगों ने संक्रमण की चपेट में आने के कारण दम तोड़ दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने बुधवार की रात एक उच्चस्तरीय बैठक की है। जिसमें राज्य के स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव समेत टीम-11 के सदस्यों ने भाग लिया। 

इस दौरान उत्तर प्रदेश के 11 जिलों के अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हालात की जानकारी ली। यह वे जिले हैं जहां बड़ी संख्या में संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को हालात के हिसाब से फैसले लेने की स्वतंत्रता दी है। इसके तुरंत बाद राज्य की राजधानी लखनऊ और प्रमुख औद्योगिक शहर कानपुर में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। अब जानकारी मिल रही है कि बाकी 9 जिलों में भी नाइट कर्फ्यू लागू किया जा सकता है।

राज्य मुख्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर, गौतमबुद्ध नगर, गाज़ियाबाद, मेरठ, आगरा, मुरादाबाद, बरेली और झांसी जिलों में तेजी से बढ़ रहे संक्रमण को लेकर चिंतित हैं। इन सभी 11 जिलों में अगले एक या दो दिनों में नाइट कर्फ्यू लागू किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को हर संभव कदम उठाने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने अफसरों से कहा है कि वह अपने स्तर पर बचाव के लिए फैसला ले सकते हैं। बाहर से आने वाले लोगों पर निगरानी रखने का आदेश दिया गया है। संक्रमित होने वाले लोगों की कांटेक्ट रेसिंग जल्दी से जल्दी करने को कहा गया है।

इस बैठक के तुरंत बाद उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और प्रमुख औद्योगिक शहर कानपुर में रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगा दिया गया है। फिलहाल लखनऊ में रात्रि कर्फ्यू की 16 अप्रैल सुबह तक जारी रहेगी। दूसरी ओर कानपुर नगर के जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने भी नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है। कानपुर नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने डीएम को पत्र लिखकर नाइट कर्फ्यू लागू करने और सभी स्कूलों को बंद करने की सिफारिश की थी।

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कोविड-19 संक्रमण के प्रकरणों पर प्रभावी नियंत्रण के दृष्टिगत लखनऊ में तत्काल प्रभाव से 15 अप्रैल 2021 तक चिकित्सा, नर्सिंग एवं पैरा मेडिकल संस्थानों को छोड़ कर समस्त सरकारी, गैर सरकारी और निजी प्रबंधधीन विद्यालय, महाविद्यालय, शैक्षणिक संस्थान, कोचिंग संस्थान बंद करने के निर्देश दिए हैं। मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थानों में परीक्षाएं और प्रैक्टिकल कोविड-19 प्रोटोकॉल का कठोरता से अनुपालन करते हुए आयोजित किए जा सकेंगे।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कुल 6,023 केस आए हैं। वहीं, राजधानी लखनऊ में पिछले 24 घंटे के दौरान 1333 नए मामले सामने आए हैं। साथ ही लखनऊ के 469 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं। दूसरी और कानपुर नगर में भी तेजी के साथ कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ रहा है। वहां के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जिलाधिकारी को पत्र लिखकर नाइट कर्फ्यू लागू करने की सिफारिश की है। जनपद की समस्त शैक्षणिक संस्थाओं को भी तत्काल बंद करने की मांग की है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के पत्र पर फैसला लेते हुए जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने रात 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक शहर में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है। 

डीएम ने जिले में कक्षा 12वीं तक की सभी शिक्षण संस्थाओं को भी बंद करने का आदेश दिया है। नाइट कर्फ्यू और शिक्षण संस्थानों में बंदी 30 अप्रैल तक लागू की गई है। डीएम आलोक तिवारी ने बताया कि भविष्य की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए इस आदेश में आवश्यकतानुसार बदलाव किया जा सकता है। आपको बता दें कि बुधवार को उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले लखनऊ और कानपुर में ही रिपोर्ट किए गए हैं। लखनऊ में तो छह लोगों की मौत भी हुई हैं। बुधवार की शाम 5:00 बजे तक पूरे उत्तर प्रदेश में इस महामारी की वजह से 40 लोगों ने दम तोड़ दिया।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.