उत्तर प्रदेश के 40 जिलों से सीधे जोड़ा जाएगा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, लखनऊ में बनी यह खास योजना

Jewar Airport : उत्तर प्रदेश के 40 जिलों से सीधे जोड़ा जाएगा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, लखनऊ में बनी यह खास योजना

उत्तर प्रदेश के 40 जिलों से सीधे जोड़ा जाएगा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, लखनऊ में बनी यह खास योजना

Tricity Today | बैठक

उत्तर प्रदेश के 40 जिलों से सीधे जोड़ा जाएगा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, लखनऊ में बनी यह खास योजना Lucknow : जेवर में बनाए जा रहे नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (Noida International Airport) से जुड़ी बड़ी खबर है। उत्तर प्रदेश सरकार और यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (Yamuna Authority) ने फैसला लिया है कि राज्य के 40 जिलों से इस हवाईअड्डे को सीधे जोड़ा जाएगा। इस परियोजना पर काम करने के लिए बुधवार को लखनऊ में बैठक हुई। इस बैठक में यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी समेत तमाम बड़े अफसर मौजूद रहे।

एयरपोर्ट से जुड़ी विकास योजनाओं की समीक्षा
उत्तर प्रदेश में औद्योगिक विकास के नजरिए से यमुना अथॉरिटी उत्तर प्रदेश का सबसे महत्वपूर्ण प्राधिकरण है। विकास योजनाओं को गति देने के लिए लखनऊ में बुधवार को इंडस्ट्रियल मिनिस्टर नंद गोपाल नंदी की अध्यक्षता में एक हाईलेवल बैठक हुई। लखनऊ के पिकअप भवन में हुई इस बैठक में यमुना प्राधिकरण के विकास कार्यों की समीक्षा की गई है। जिसमें औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी को यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास कराए जा रहे विकास कार्यों के बारे में जानकारी दी है। जिसमें एक्सप्रेसवे और जेवर एयरपोर्ट को दिल्ली-एनसीआर समेत यूपी के 40 जिलों से जोड़ने की योजना पर विचार किया गया है। इसके लिए एक्सप्रेसवे बनाने पर जोर दिया गया। इसके अलावा प्राधिकरण के क्षेत्र में लॉजिस्टिक पार्क, वेयर हाउस के निर्माण की स्थिति, भूमि आवंटन और इन्फ्राट्रक्चर डेवलपमेंट से औद्योगिक विकास मंत्री को अवगत करवाया गया है।

गांवों को मॉडल विजेल बनाएं : नंद गोपाल
इंडस्ट्रियल मिनिस्टर नंद गोपाल नंदी ने इस समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि यमुना विकास प्राधिकरण क्षेत्र में तेजी से समुचित विकास करवाया जाए। शहर में रुके हुए कार्यों को गतिशीलता दें। वहीं, गांव को मॉडल विलेज के रूप में विकसित किया जाए। गांव को मॉडल विलेज के रूप में विकसित करने के लिए उन्होंने ज्यादा जोर दिया और प्राधिकरण लेवल में बैठक करके इस पर ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। इस बैठक में अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविंद कुमार, यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुणवीर सिंह, यमुना प्राधिकरण की एसीईओ मोनिका रानी, एसीईओ रविंद्र सिंह, ओएसडी शैलेंद्र सिंह और जीएम प्रोजेक्ट केके सिंह समेत प्राधिकरण के काफी अधिकारी मौजूद रहे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.