पीएम मोदी 20 अक्टूबर को करेंगे कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पित, पढ़िए खास खबर

सीएम योगी ने बनाया यूपी नंबर-1 : पीएम मोदी 20 अक्टूबर को करेंगे कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पित, पढ़िए खास खबर

पीएम मोदी 20 अक्टूबर को करेंगे कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पित, पढ़िए खास खबर

Tricity Today | सीएम योगी और पीएम मोदी

पीएम मोदी 20 अक्टूबर को करेंगे कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पित, पढ़िए खास खबर Kushinagar News : उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जनपद (Kushinagar District) में अब तक का सबसे बड़ा तोहफा मिलने वाला है। आगामी 20 अक्टूबर को भारत के नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लोकार्पित करेंगे। यह सिर्फ कुशीनगर और उत्तर प्रदेश के लिए ही नहीं बल्कि पूरे देश के लिए एक ऐतिहासिक कार्य होगा।

35 सालों से थी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा की मांग 
कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा की पिछले करीब 35 सालों से मांग थी। हिन्दुस्तान की आजादी के तकरीबन 74 साल बाद कुशीनगर अपने अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से पूर्वांचल को पर्यटन विकास, निवेश और रोजगार की नई ऊंचाईयों पर ले जाएगा। कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 अक्तूबर को करेंगे। पहली इंटरनेशनल फ्लाइट श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे के साथ 125 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल की होगी। फिलहाल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे के बाद कुशीनगर में आयोजन की तैयारियां जोरों पर हैं। 

बीते महीने 421 करोड़ रुपए की सौगात मिली 
कुशीनगर में बीते साढ़े चार सालों में हजारों करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं से तस्वीर ही बदल गई है। बीते सितम्बर माह में ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 421 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं की सौगात दी है।

इन देशों से होगी सीधी कनेक्टिविटी
कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से श्रीलंका, जापान, दक्षिण कोरिया, चीन, ताइवान, थाईलैंड, सिंगापुर, वियतनाम समेत दक्षिण पूर्व एशियाई देशों से सीधी एयर कनेक्टिविटी होगी। अंतरराष्ट्रीय उड़ान की इस सेवा से बौद्ध सर्किट के चार प्रमुख तीर्थो लुम्बिनी, बोधगया, सारनाथ, कुशीनगर समेत कपिलवस्तु, श्रावस्ती, कौशाम्बी, संकिशा, राजगीर, वैशाली की यात्रा भी पर्यटक सहजता से कम वक्त में कर सकेंगे। 

कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की खासियत
उत्तर प्रदेश के वाराणसी और लखनऊ से ही अंतरराष्ट्रीय उड़ान की सुविधा है। 20 अक्तूबर से तीसरी अंतरराष्ट्रीय उड़ान शुरू हो जाएगी। कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे प्रदेश में सबसे लम्बा है। जिसकी लम्बाई 3.2 किमी और चौड़ाई 45 मीटर है। इसके रनवे की क्षमता 4 आगमन और 4 प्रस्थान फ्लाईट प्रति घंटा है। एयरपोर्ट रात में उड़ान संभव बनाए जाने के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं। इसकी अंतरिम पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग 3600 वर्गमीटर में बनी हुई है। इसकी पीक ऑवर पैसेंजर क्षमता 300 की है। इस ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट को 5 मार्च 2019 को उत्तर प्रदेश सरकार और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के बीच एमओयू हस्ताक्षरित हुआ। 10 अक्तूबर 2019 को प्रदेश सरकार ने इसे एयरपोर्ट अथॉरिटी को हैंडओवर किया। 24 जून 2020 को केंद्रीय कैबिनेट ने अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का दर्जा दे दिया। 22 फरवरी 2021 को डीजीसीए ने इसे लाइसेंस देकर अंतरराष्ट्रीय उड़ान की मंजूरी दे दी। 

अंतरराष्ट्रीय सेवा शुरू होने से पर्यटकों की संख्या में होगी वृद्धि
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 से सत्ता की बागडोर संभालने के साथ ही कुशीनगर में समग्र विकास की परियोजनाओं के साथ पर्यटन विकास को वैश्विक पहचान दिलाने पर जोर दिया। कुशीनगर का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा उसी की कड़ी है। आंकड़ों के मुताबिक पांच सालों में 18 प्रमुख बौद्ध देशों से 42.17 लाख पर्यटक कुशीनगर आए। अब अंतरराष्ट्रीय सेवा शुरू होने से पर्यटकों की संख्या में 20 फीसदी इजाफा की उम्मीद है। 

रोजगार के अवसर बढ़ेंगे
अंतरराष्ट्रीय उड़ान की सेवा से देशी विदेशी पयर्टकों की बढ़ती संख्या से कुशीनगर ही नहीं पूर्वांचल में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। पयर्टकों के आगमन से होटल, रेस्टोरेंट, ट्रैवेल एजेंसी, गाइड सरीखी सेवाओं की मांग बढ़ेगी। पूर्वांचल के जिलों के एक जिला एक उत्पाद में शामिल उत्पाद मसलन टेराकोटा शिल्प की मूर्तियों, कालानमक चावल, केले के फाइबर से बने उत्पादों, बनारसी सिल्क, गुड़ समेत अन्य जिलों के उत्पाद को पहचान और बाजार मिलेगा। 

धार्मिक पयर्टन से समृद्धि का मार्ग
मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या, बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी (वाराणसी) एवं सारनाथ, महान संत कबीर की परिनिर्वाण स्थली मगहर और शिवावतारी गुरु गोरखनाथ और नाथ संप्रदाय की सबसे बड़ी गोरक्षपीठ भी इन पयर्टकों को आकर्षित करेगी। इन स्थानों संरक्षण संवर्धन के लिए बुनियादी सुविधाओं पर पूर्ववर्ती सरकारों ने ध्यान नहीं दिया लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ ने इन सभी के इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट सर्वाधिक जोर दिया। इसके अलावा कुशीनगर से सिर्फ 50 किमी की दूरी पर गोरखपुर से 8 बड़े शहरों के लिए उड़ान सेवा पहले से ही जारी है। 

यूपी बनेगा देश का सबसे बड़ा एयर कनेक्टिविटी राज्य 
गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, गंगा एक्सप्रेसवे, बलिया लिंक एक्सप्रेसवे के अलावा गोरखपुर समेत सभी प्रमुख सड़कों को फोरलेन केनक्टिविटी दे रहे हैं। इन एक्सप्रेसवे के साथ निवेश के लिए औद्योगिक कॉरीडोर का निर्माण किया जा रहा है। लखनऊ, आगरा, वाराणसी, गोरखपुर, प्रयागराज, हिंडन, कानपुर और बरेली से हवाई सेवाओं की सुविधा है। अलीगगढ़, आजमगढ़, श्रावस्ती, मुरादाबाद से भी जल्द ही उड़ान की सुविधा मिलेगी। चित्रकूट, सोनभद्र, सहारनपुर, झांसी, मेरठ और ललितपुर में योजना पर काम चल रहा। 2022 में अयोध्या और 2024 में जेवर से अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा शुरू होने के बाद यह देश का पहला राज्य बन जाएगा। जहां 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.