खुद को राशिद बताने वाला ‘विकास’ गिरफ्तार, टुकड़े-टुकड़े की घटना को सही ठहराया, नोएडा में मुकदमा दर्ज

श्रद्धा हत्याकांड : खुद को राशिद बताने वाला ‘विकास’ गिरफ्तार, टुकड़े-टुकड़े की घटना को सही ठहराया, नोएडा में मुकदमा दर्ज

खुद को राशिद बताने वाला ‘विकास’ गिरफ्तार, टुकड़े-टुकड़े की घटना को सही ठहराया, नोएडा में मुकदमा दर्ज

Tricity Today | गिरफ्तार आरोपी

खुद को राशिद बताने वाला ‘विकास’ गिरफ्तार, टुकड़े-टुकड़े की घटना को सही ठहराया, नोएडा में मुकदमा दर्ज Noida|Bulandshahar : दिल्ली श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब का समर्थन कर 35 की जगह 36 टुकड़े करने को जायज ठहराने वाला युवक पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। जिसके बाद पुलिस ने युवक की तलाश शुरू की। वायरल वीडियो में विकास ने अपना नाम राशिद बताया था लेकिन राशिद नहीं युवक का नाम विकास है और हालांकि पुलिस ने जब युवक का इतिहास खंगाला तो युवक पेशेवर अपराधी निकला। विकास पर बुलंदशहर और नोएडा में चोरी और लूट के कई अपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

आरोपी बुलंदशहर का निवासी
यूट्यूब चैनल को बयान देने के दौरान आरोपी युवक विकास ने राशिद बनकर श्रद्धा के 35 टुकड़ों को जायज बताया था। वीडियो में विकास ने अपने आप को बुलंदशहर का निवासी बताया था। आखिर विकास ने नाम बदलकर झूठा बयान क्यों दिया इसकी जांच की जा रही है। आरोपी बुलंदशहर के थाना सिकंदराबाद क्षेत्र के गांव मौलाबाद का रहने वाला है और उसके पिता का नाम चोखेलाल है।

दाढ़ी के कारण बन गया राशिद खान
पुलिस के गिरफ्त में आने के बाद विकास ने बताया कि अब अपने कहे पर पछतावा हो रहा है। वह दिल्ली में रहकर मजदूरी कर रहा था, उसी दौरान उसे पता नहीं था की मीडिया कर्मी को दिए ब्यान से उसकी फिल्म बन जाएगी। विकास ने कहा कि उसके चेहरे और दाढ़ी के कारण उसे दिल्ली में लोग राशिद खान कहते थे। बताया जाता है कि विकास दिल्ली में नाम और हुलिया बदलकर काम कर रहा था।

सिकन्द्राबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार
इस मामले में एसएसपी श्लोक कुमार ने बताया कि सोशल मीडिया के माध्यम से दिल्ली में बना एक वीडियो संज्ञान में आया था। जिसमें एक व्यक्ति द्वारा स्वयं को बुलन्दशहर का निवासी बताते हुए आप्पत्तिजनक टिप्पणी की थी। मामले को संज्ञान में लेकर सिकन्द्राबाद पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। आरोपित ने हत्याकांड को लेकर भड़काऊ बयान दिया है। जिससे सक्षम न्यायालय भेजा जा रहा है, न्यायालय के आदेश पर अग्रिम विधिक कार्रवाई की जाएगी।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.