541 किसान परिवारों को टाउनशिप में भूखंड आवंटित, घर बनाने की अनुमति मिली

जेवर एयरपोर्ट : 541 किसान परिवारों को टाउनशिप में भूखंड आवंटित, घर बनाने की अनुमति मिली

541 किसान परिवारों को टाउनशिप में भूखंड आवंटित, घर बनाने की अनुमति मिली

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

541 किसान परिवारों को टाउनशिप में भूखंड आवंटित, घर बनाने की अनुमति मिली Jewar Airport : जेवर में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) परियोजना के प्रभावित परिवारों को जेवर बांगर में भूखंड आवंटित किए जा रहे हैं। सोमवार को जिला प्रशासन ने नगला शरीफ और किशोरपुर गांवों के 541 परिवारों को भूखंड आवंटित किए गए हैं। इससे पहले 1,220 परिवारों को भूखंड आवंटित किए जा चुके हैं। इन लोगों को यहां घर बनाने की मंजूरी यमुना प्राधिकरण ने दे दी है।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर परियोजना के प्रभावित परिवारों को जेवर बांगर में बसाया जा रहा है। शासन ने इन परिवारों के लिए भूखंड विकसित करने के लिए यमुना प्राधिकरण को जिम्मेदारी दी है। प्राधिकरण तय समय से पहले भूखंड विकसित करके जिला प्रशासन को सौंप रहा है। अब तक परियोजना से प्रभावित परिवारों में से 1,220 को भूखंड दिए जा चुके हैं। सोमवार को नगला शरीफ के 529 और किशोरपुर के 12 परिवारों को भूखंड आवंटित किए हैं। कुछ परिवारों ने यहां पर अपने मकान का निर्माण कार्य शुरू करा दिया है। यमुना प्राधिकरण का प्रयास है कि वह तय समय से पहले सभी भूखंड जिला प्रशासन को सौंप दे। ताकि परियोजना नियत समय पर पूरी हो सके।

आपको बता दें कि विस्थापितों के लिए जेवर बांगर में करीब 49 हेक्टेयर जमीन पर भूखंड विकसित किया जा रहा है। शासन ने इसकी जिम्मेदारी यमुना प्राधिकरण को सौंपी है। यहां पर विस्थापित 3627 परिवारों को बसाया जाएगा। इन नए प्लॉट में आधुनिक सुविधाएं विकसित करने की जिम्मेदारी भी यमुना प्राधिकरण को दी गई है। यहां नाली, सड़क, सीवर लाइन, पेयजल लाइन, स्कूल, बिजली घर, धार्मिक स्थल जैसी बुनियादी और आवश्यक जरूरतों का प्रबंध किया जा रहा है। 

6 मार्च को आवंटित किए गए थे भूखंड
यमुना प्राधिकरण ने इसी महीने 6 मार्च को 240 भूखंड जिला प्रशासन को सौंप दिया था। प्रशासन ने नगला गणेशी गांव के विस्थापित किसानों को 238 भूखंड आवंटित कर दिए हैं। अब किसान यहां पर अपने आवास बनाएंगे। इसके लिए शासन स्तर से कुछ राशि भी मुहैया कराई जा रही है। जेवर एयरपोर्ट के लिए 3627 परिवारों को विस्थापित किया जा रहा है। इन सबको जेवर क्षेत्र के जेवर बांगर में बसाया जा रहा है। किसानों के लिए आवंटित इन नए प्लॉट में सेक्टर जैसी सुविधाएं विकसित की जाएंगी। लाभार्थी परिवारों को यहां हर तरह की सुविधाएं मिलेंगी।


 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.