जेवर एयरपोर्ट से सालाना 70 मिलियन लोग करेंगे सफर, कल की तारीख इतिहास में लिखी जाएगी

खास खबर : जेवर एयरपोर्ट से सालाना 70 मिलियन लोग करेंगे सफर, कल की तारीख इतिहास में लिखी जाएगी

जेवर एयरपोर्ट से सालाना 70 मिलियन लोग करेंगे सफर, कल की तारीख इतिहास में लिखी जाएगी

Tricity Today | Symbolic Photo

जेवर एयरपोर्ट से सालाना 70 मिलियन लोग करेंगे सफर, कल की तारीख इतिहास में लिखी जाएगी 25 नवंबर 2021 की तारीख इतिहास में लिखी जाने वाली है। 25 नवंबर यानी कि कल गुरुवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जेवर (Jewar) में भारत के ही नहीं बल्कि एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट का शिलान्यास करेंगे। इस जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) पर प्रति साल 70 मिलियन यात्री यात्रा करेंगे। 

नागरिक उड्डयन सचिव राजीव बंसल ने बुधवार को एक बयान जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा, "इस नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पूर्ण रूप से बनने के बाद यहां पर सालाना 70 मिलियन यात्री सफर करेंगे। पहले चरण का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। आने वाले 36 महीनों के भीतर जेवर एयरपोर्ट से पहली फ्लाइट उड़ा दी जाएगी। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का कार्य 1 अक्टूबर 2021 से शुरू हो चुका है। एयरपोर्ट का निर्माण करने वाली कंपनी को 1048 दिन का समय दिया गया है। यानी कि 29 सितंबर 2024 से पहले इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनकर तैयार हो जाएगा और देश को समर्पित हो जाएगा। सितंबर 2024 से पहले यहां पर हर हाल में पहली उड़ान भर दी जाएगी।

राजीव बंसल ने आगे कहा, "जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर 8 रनवे बनेंगे। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट 4 चरण में बनेगा। पहले चरण में 1334 हैक्टेयर जमीन पर निर्माण कार्य होगा। यह एक ग्रीन फील्ड परियोजना के तहत बनाया जाएगा। यह एयरपोर्ट कार्बन मुक्त एयरपोर्ट भी बनाया जाएगा। सबसे खास बात यह है कि यह देश का सबसे आधुनिक तकनीकी से लैस एयरपोर्ट होगा।" राजीव बंसल ने जानकारी देते हुए कहा, "पहले चरण में 12 मिलियन यात्री सालाना सफर करेंगे और अंतिम चरण यानी कि 2040-50 के बीच जेवर हवाई अड्डे की क्षमता 70 मिलियन यायात्री सालाना हो जाएगी।"

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.