अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण पहुंची, फिल्म सिटी को लेकर सीईओ से चर्चा की

Yamuna Film City : अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण पहुंची, फिल्म सिटी को लेकर सीईओ से चर्चा की

अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण पहुंची, फिल्म सिटी को लेकर सीईओ से चर्चा की

Tricity Today | अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण पहुंची

अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण पहुंची, फिल्म सिटी को लेकर सीईओ से चर्चा की यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) क्षेत्र में बनने वाली फिल्म सिटी (Yamuna Film City) को लेकर बॉलीवुड में भी रुझान बढ़ा है। गुरुवार को अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण दफ्तर पहुंची और सीईओ डॉ.अरुण वीर सिंह (Arunvir Singh IAS) से मुलाकात की। उन्होंने फ़िल्म सिटी को लेकर अपने सुझाव भी साझा किए।

यमुना प्राधिकरण सेक्टर-21 में 1000 एकड़ में फिल्म सिटी बनाने की तैयारी में है। इसकी डीपीआर सीबीआरई कंपनी बना रही है। 20 फरवरी को फिल्म सिटी की ड्राफ्ट रिपोर्ट मिल जाएगी। फिल्म सिटी को लेकर बॉलीवुड का भी रुझान बढ़ा है। गुरुवार को फिल्म अभिनेत्री गुल पनाग यमुना प्राधिकरण के दफ्तर पहुंची। वे सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह से मिलीं। गुल पनाग ने फिल्म सिटी पर चर्चा की। अपने सुझाव दिए। इस पर विस्तृत चर्चा के लिए उन्होंने अगले सप्ताह फिर आने की बात कही है।

आपको बता दें कि यमुना प्राधिकरण के सेक्टर-21 में फिल्म सिटी बसाने की तैयारी है। यहां 1,000 एकड़ में फिल्म सिटी बसाई जाएगी। इसमें 780 एकड़ जमीन औद्योगिक उपयोग की और 220 एकड़ जमीन व्यवसायिक उपयोग के लिए है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इस प्रोजेक्ट को लेकर संजीदा है और खुद इसकी निगरानी कर रहे हैं। फिल्म सिटी की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने की जिम्मेदारी शासन की ओर से यमुना प्राधिकरण को दी गई है। यमुना प्राधिकरण डीपीआर बनाने के लिए कंपनी का चयन करेगा। इसके लिए चयन प्रक्रिया चल रही है।

उत्तर प्रदेश में बनने जा रही फिल्म सिटी हॉलीवुड की तरह विकसित की जाएगी। यहां डिजिटल स्टूडियो से लेकर वीएफएक्स स्टूडियो और फिल्म अकादमी बनाई जाएंगी। अमेरिका की सबसे बड़ी कंसल्टिंग फर्म सीबीआरआई एशिया इसके लिए दुनिया भर के फिल्म स्टूडियो और थीम पार्क का अध्ययन कर रही है। इसमें हॉलीवुड और डेविड वॉर्नर ग्रुप की फ़िल्म सिटी भी शामिल हैं। अमेरिका के अलावा चीन और जापान की फ़िल्म सिटी में तकनीक व सुविधाओं का आंकलन कम्पनी करेगी।

सीबीआरआई कंपनी ने बतौर सलाहकार यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण को विचार पत्र दिया है। उसके मुताबिक पहले चरण में 12 क्षेत्रों पर खास फोकस किया जाएगा। इसमें स्टेट ऑफ आर्ट स्टूडियो, आउटडोर सेट और शूटिंग विलेज शामिल हैं। पोस्ट प्रोडक्शन के क्षेत्र में वीएफएक्स स्टूडियो बनाए जाएंगे। एडटिंग स्टूडियो होंगे। म्यूजिक डबिंग स्टूडियो भी विश्वस्तरीय होंगे। फिल्म प्रीमियर और फिल्म फेस्टीवल के लिए विशेष आयोजन स्थल होंगे। फिल्म अकादमी भी इस परिसर में अलग से बनेगी।

इसके अलावा फ़िल्म सिटी में पंचतारा होटल, डारमेट्री, रिटेल शॉप, रेस्टोरेंट और मनोरंजन पार्क भी बनेंगे। इसके अलावा फिल्म निर्माण से जुड़ी वस्तुओं और उनका इतिहास संजोता म्यूजियम भी स्थापित किया जाएगा। सलाहकार कंपनी का अथॉरिटी के साथ एमओयू हो चुका है। कम्पनी अगले महीने अपनी विस्तृत कार्य योजना रिपोर्ट पेश करेगी। इसमें फंड कैसे एकत्र किया जाए, इस बिंदु से लेकर इसके मॉडल जैसे मुद्दों पर अपनी सलाह देगी। अभी यह तय होना है कि सरकार इसके निर्माण का खर्च उठाएगी या फिर पीपीपी मॉडल पर इसे विकसित किया जाए। इंटरनेशनल कंसलटेंट कंपनी मुंबई, हैदराबाद, चैन्नई और विदेशों के तमाम फिल्म स्टूडियो संचालकों से बात कर रही है। फिल्म सिटी को लेकर दुनिया भर में चल रही बेस्ट प्रैक्टिसेस के बारे में बताया जाएगा।

कंसलटेंट कंपनी विभिन्न स्टेक होल्डर हॉलीवुड, बॉलीवुड और टॉलीवुड समेत दुनिया भर की फिल्म सिटी में फिल्म स्टूडियो व विभिन्न प्रोडक्शन हाउस से बात कर रही है। वहां की सबसे बेहतरीन चीजों को यहां की फिल्म सिटी में लाया जाएगा। शासन तय करेगा कि निर्माण के लिए कौन सा मॉडल उपयुक्त रहेगा। लेकिन यह साफ है कि फिल्म सिटी विश्वस्तरीय बनेगी। इससे कोई समझौता नहीं होगा। यह फिल्म सिटी यमुना एक्सप्रेसवे के किनारे 1000 एकड़ जमीन पर बनेगी। 

- अरुणवीर सिंह, सीईओ, यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण


 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.