बड़ी खबर: नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से प्रभावित 238 किसानों को 6 मार्च को मिलेगा प्लॉट, पहले रनवे के निर्माण का रास्ता साफ

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से प्रभावित 238 किसानों को 6 मार्च को मिलेगा प्लॉट, पहले रनवे के निर्माण का रास्ता साफ

Social Media | मौके पर जायजा लेते जिलाधिकारी और अन्य अधिकारी

यमुना प्राधिकरण 6 मार्च को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़े 238 किसानों को नई जगहों पर आवासीय भूखंड का कब्जा देगा। दरअसल जेवर एयरपोर्ट के पहले रनवे के निर्माण के लिए इन किसानों को विस्थापित करना पड़ेगा। इन्हें क्षेत्र के जेवर बांगर में बसाया जाएगा। इसी साल अप्रैल में महात्वाकांक्षी नोएडा एयरपोर्ट की नींव रखी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस शुभ अवसर पर जेवर आ सकते हैं। इसे देखते हुए प्राधिकरण ने किसानों को विस्थापित करने की प्रक्रिया तेज कर दी है। 

3627 किसानों को मिलेगा नया ठिकाना
नोएडा एयरपोर्ट के लिए विकास के लिए कुल 3627 किसानों को जेवर बांगर में बसाया जाना है। सभी किसान किशोरपुर, दयानतपुर और रोही गांव के रहने वाले हैं। हालांकि एयरपोर्ट के पहले रनवे के निर्माण में पहले चरण में सिर्फ 238 किसानों को विस्थापित किया जाना है। इन सभी के लिए जेवर बांगर में 240 प्लॉट तैयार किए गए हैं। प्राधिकरण इसी 6 मार्च को किसानों को उनका कब्जा देगा। गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी और यीडा के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया बुधवार को मौके का जायजा लेने पहुंचे थे। अब तक हुई तैयारियों से दोनें अधिकारी संतुष्ट दिखाई दिए। 

पारदर्शी रहेगी पूरी प्रक्रिया
इन नए विकसित प्लॉटों के लिए बुनियादी और आधुनिक दोनों तरह की सुविधाएं विकसित कर दी गई हैं। किसानों को देने के लिए आवंटन पत्र तैयार हो रहा है। हालांकि ड्रा के जरिए ही किसानों को प्लॉट आवंटित किए जाएंगे। प्राधिकरण, जिला प्रशासन और राज्य सरकार तीनों आवंटन की प्रक्रिया को पारदर्शी रखना चाहते हैं। ताकि बाद में काश्तकार किसी तरह की असहमति न दिखाएं। इसके लिए अपर आयुक्त मेरठ की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है। सेवानिवृत्त जज और एक आईएएस अधिकारी की निगरानी में आवंटन प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

अप्रैल में शिलान्यास हो सकता है 
किसानों की अधिग्रहीत भूमि के मुताबिक ही उन्हें नए प्लॉट दिए जाएंगे। इन प्रभावित काश्तकारों को प्लॉट देने के साथ ही नोएडा एयरपोर्ट के पहले रनवे के लिए जमीन अधिग्रहण से जुड़े मसले खत्म हो जाएंगे। इसीलिए अप्रैल में इसके शिलान्यास की तैयारी की जा रही है। प्राधिकरण के एक अधिकारी के मुताबिक, शिलान्यास की तिथि तय करने से पहले किसानों को आबादी का प्लॉट देकर किसी तरह का विवाद खत्म करना था। मगर अब यह इंतजार खत्म हो रहा था। 6 मार्च के बाद किसी भी दिन शिलान्यास की तिथि का एलान किया सकता है।

प्रथम चरण में पहले रनवे से जुड़े किसानों को प्लॉट दिया जा रहा है। इसमें कुल 238 किसान शामिल हैं। इन सभी को 6 मार्च को घर बनाने के लिए भूखंड मिल जाएगा। प्राधिकरण की कोशिश है कि इसी साल अप्रैल के अंत तक सभी 3627 प्रभावित किसानों को प्लॉट का कब्जा मिल जाए।
- डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.