अच्छी खबर: यमुना प्राधिकरण ने जेवर क्षेत्र के 96 गांवों की बदली तस्वीर, आधुनिक सुविधाओं का फैलाया जाल

यमुना प्राधिकरण ने जेवर क्षेत्र के 96 गांवों की बदली तस्वीर, आधुनिक सुविधाओं का फैलाया जाल

Tricity Today | यमुना प्राधिकरण ने जेवर के 96 गांवों की बदली तस्वीर

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, अंतरराष्ट्रीय स्तर की फिल्म सिटी और डाटा सेंटर तथा डीएफसी कॉरिडोर से जुड़ने के बाद यमुना एक्सप्रेसवे क्षेत्र में निवेश और रोजगार की अपार संभावनाएं बनी हैं। इनसे नोएडा एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण को भी राजस्व हासिल होने लगा है। इसका असर प्राधिकरण के दायरे में आने वाले जेवर क्षेत्र के कुल 96 गांवों में दिखाई दे रहा है। 

115 करोड़ रुपये खर्च हुआ
यमुना प्राधिकरण ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में करीब 115 करोड़ रुपए इन गांवों की विकास परियोजनाओं पर खर्च किया है। इसमें वे गांव भी शामिल हैं, जिन्हें स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित किया गया है। ये गांव अच्छेजा बुजुर्ग, डूंगरपुर रीलका, निलौनी शाहपुर, मिर्जापुर, रामपुर, पचोखरा, चांदपुर, मूंजखेड़ा, उस्मानपुर और आछेपुर हैं।

आधुनिक सुविधाएं विकसित की
यमुना प्राधिकरण का दावा है कि पूरे प्रदेश में किसी एक विधानसभा में इतनी तेजी और पारदर्शी तरीके से विकास कार्य नहीं हुआ है, जितना जेवर क्षेत्र के इन 96 गांवों में हुआ है। अधिकारियों का कहना है कि गांव को एक्सप्रेसवे और मुख्य मार्गों से जोड़ने के लिए शानदार सड़कें बनाई गई हैं। पानी की निकासी के लिए बेहतरीन सीवरेज सिस्टम विकसित किया गया है।

चलती रहेगी विकास यात्रा
बारात घर और स्ट्रीट लाइट जैसी सुविधाएं इन्हें शहरी लुक देती हैं। इन गांवों का आकलन कर विकास कार्यों की समीक्षा की जा सकती है। यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों का कहना है कि विकास कार्य जारी रहेंगे। अथॉरिटी का लक्ष्य इन गांवों को अत्याधुनिक सुविधाएं मुहैया कराना है। उस दिशा में अब तक बेहतरीन काम किया गया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.