आज की सबसे बड़ी खबर: यमुना प्राधिकरण 11 हजार हेक्टेयर में बसाएगा नया शहर, इंग्लैंड की 176 साल पुरानी यह कम्पनी काम करेगी

यमुना प्राधिकरण 11 हजार हेक्टेयर में बसाएगा नया शहर, इंग्लैंड की 176 साल पुरानी यह कम्पनी काम करेगी

Tricity Today | 11,104 हेक्टेयर के शहर में 35 सेक्टर बसाए जाएंगे

  • यमुना प्राधिकरण एक्सप्रेसवे के किनारे यह नया शहर बसाएगा
  • प्राधिकरण टप्पल-बाजना में लॉजिस्टिक हब विकसित करेगा
  • डिलायट कंपनी इंग्लैंड की है, यह दो महीने में पेश करेगी रिपोर्ट
  • शहर के मास्टरप्लान पर यूपी सरकार पहले ही मुहर लगा चुकी है
     
Yamuna City News : यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) अब 11 हजार हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्रफल में नया शहर बसाएगा। इस शहर का मास्टरप्लान बनाने के लिए इंग्लैंड की 176 साल पुरानी कम्पनी काम करेगी। प्राधिकरण से मिली जानकारी के मुताबिक यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) के किनारे टप्पल में लॉजिस्टक हब (नया औद्योगिक शहर) बसाया जाएगा। इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट इंग्लैंड की कंपनी डिलायट (Deloitte) बनाएगी। यमुना प्राधिकरण ने शुक्रवार को इस कंपनी का चयन किया है। अब यह कंपनी दो महीने में अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। इस औद्योगिक शहर के मास्टर प्लान को उत्तर प्रदेश सरकार ने मंजूरी दे दी है।

यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरुणवीर सिंह ने कहा, "टप्पल-बाजना में लॉजिस्टिक हब विकसित किया जाएगा। यह शहर 11,104 हेक्टेयर क्षेत्रफल में बसाया जाएगा। इस शहर में आवासीय, औद्योगिक और मिश्रित भूमि उपयोग किया जाएगा। पूरे शहर का करीब 70 फीसदी हिस्सा औद्योगिक रहेगा। इसके मास्टर प्लान को प्रदेश सरकार पहले ही मंजूरी दे चुकी है। यह इलाका भी जेवर एयरपोर्ट के पास है। यमुना प्राधिकरण ने इस शहर की डीपीआर बनवाने के लिए आरएफपी निकाली थी।"

इन कंपनियों को पछाड़कर आगे निकली डिलायट
शुक्रवार को यमुना प्राधिकरण ने डीपीआर बनाने के लिए कंपनी का चयन कर लिया है। डीपीआर बनाने के लिए डिलायट, क्रिशिल, पुशमैन, केपीएमजी और ली एसोसिएट अंतिम चरण में पहुंची थीं। प्राधिकरण ने इंग्लैंड की कंपनी डिलायट का चयन किया है। प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुणवीर सिंह ने बताया कि दो महीने में कंपनी डीपीआर सौंप देगी।

11,104 हेक्टेयर के शहर में 35 सेक्टर बसाए जाएंगे
यमुना प्राधिकरण के अधिकारियों ने बताया कि इस शहर में 35 सेक्टर बसाए जाएंगे। जेवर एयरपोर्ट के नजदीक होने की वजह से लॉजिस्टिक और वेयर हाउसिंग के लिए इलाका मुफीद रहेगा। यह पूरा अर्बन सेंटर 11,104 हेक्टेयर में बसाया जाएगा। इसमें 1,794.4 हेक्टेयर जमीन उद्योगों के लिए आरक्षित की गई है। 1,608.3 हेक्टेयर क्षेत्रफल मिश्रिम भू उपयोग के लिए आरक्षित रहेगा। इस शहर में लॉजिस्टिक और वेयर हाउसिंग कलस्टर मुख्य गतिविधि रहेगी।

डिलायट 176 साल पुरानी मल्टीनेशनल कंपनी है
डिलायट कंपनी इंग्लैंड की है। इस कंपनी का गठन 1845 में हुआ था। यह कंपनी प्रोफेशनल सर्विसेज देती है। इस कंपनी में इस समय 330000 लोग नौकरी करते हैं। यह कंपनी फाइनेंस एडवाइजरी, रिस्क एडवाजरी, टैक्स एंड लीगल की भी सेवाएं देती हैं। यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ.अरुणवीर सिंह का कहना है कि टप्पल-बाजना में लॉजिस्टिक हब विकसित किया जाएगा। इस शहर की डीपीआर बनाने के लिए कंपनी का चयन कर लिया गया है। यह कंपनी दो महीने में डीपीआर देगी।

यमुना सिटी का जिलावार दायरा
यमुना सिटी, गौतमबुद्ध नगर (फेज एक) 24739 हेक्टेयर
टप्पल-बाजना अर्बन सेंटर, अलीगढ़ (फेज दो) 11104 हेक्टेयर
राया शहरी अर्बन सेंटर, मथुरा (फेज दो) 9366 हेक्टेयर
आगरा अर्बन सेंटर (फेज तीन) 12000 हेक्टेयर

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.