इस तारीख को होगा जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास, योगी और मोदी करेंगे भूमि पूजन

BIG BREAKING: इस तारीख को होगा जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास, योगी और मोदी करेंगे भूमि पूजन

इस तारीख को होगा जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास, योगी और मोदी करेंगे भूमि पूजन

Google Image | PM Narendra Modi and CM Yogi Adityanath

इस तारीख को होगा जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास, योगी और मोदी करेंगे भूमि पूजन
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने 22-25 अगस्त के बीच किसी भी दिन जेवर एयरपोर्ट का भूमि पूजन करेंगे
  • विधायक धीरेंद्र सिंह, पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह और डॉ अरुणवीर सिंह ने आज जेवर एयरपोर्ट के भूमिपूजन स्थल का मुआयना किया
  • शासन ने गौतमबुध नगर प्रशासन को सारी तैयारियां मुकम्मल करने का आदेश दिया है
Yamuna City News: नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) के शिलान्यास की तिथियां लगभग तय हो गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) अगले महीने 22-25 अगस्त के बीच किसी भी दिन जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) का भूमि पूजन करेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) भी मौजूद रहेंगे। अब तक ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि अगस्त के दूसरे-तीसरे हफ्ते में प्रधानमंत्री जेवर एयरपोर्ट के भूमि पूजन कार्यक्रम में आएंगे। शासन ने गौतमबुध नगर प्रशासन को सारी तैयारियां मुकम्मल करने का आदेश दिया है।

इस संबंध में उत्तर प्रदेश शासन ने प्रधानमंत्री कार्यालय से पत्राचार की प्रक्रिया पूरी कर ली है। जेवर से विधायक धीरेंद्र सिंह (MLA Dhirendra Singh) नोएडा के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह (Police Commissioner Alok Kumar Singh) और यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह ने आज जेवर एयरपोर्ट के भूमि पूजन स्थल का मुआयना किया। इस मौके पर डीसीपी ज़ोन-3 अभिषेक, एडीसीपी विशाल पांडे, एसीपी जेवर रूद्र प्रताप सिंह, उपजिलाधिकारी जेवर रजनीकांत, यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के शैलेंद्र भाटिया, जनरल मैनेजर केके सिंह आदि अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद रहे। रन्हेरा, रोही, नगला छीतर व नगला शरीफ आदि गांवों के दर्जनों किसान भी उपस्थित रहे।

कोरोना वायरस की वजह से बदली तिथि
दरअसल पहले बीते मई में ही जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास और भूमि पूजन कार्यक्रम होना था। लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इसे टालना पड़ा। अब कोविड की दूसरी लहर का असर कम हो गया है। सामान्य जनजीवन और कामकाज शुरू हो गया है। इसके बाद एयरपोर्ट के निर्माण की प्रक्रिया में तेजी आई है। जमीन से संबंधित कार्यवाही भी पूरी कर ली गई है। अब प्रधानमंत्री कार्यालय ने यह स्पष्ट कर दिया है कि 22-25 अगस्त तक भूमि पूजन कार्यक्रम में आ सकते हैं। गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन भी तैयारियों को मुकम्मल करने में जुट गया है।

विधायक और अफसरों ने किया दौरा
जेवर एयरपोर्ट के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) कहां शिलान्यास करेंगे, वह स्थल निर्धारित कर लिया गया है। इसके लिए सोमवार, 26 जुलाई की दोपहर जेवर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह (MLA Dhirendra Singh), गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह (Police Commissioner Noida) और यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (YEIDA) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरुणवीर सिंह ने दौरा किया। इसी सप्ताह राज्य सरकार के अधिकारी और मेरठ के मंडलायुक्त भी शिलान्यास स्थल का दौरा करने आ रहे हैं। उम्मीद है कि अगस्त में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण शुरू हो जाएगा।

रनहेरा गांव के पास होगा पूजन
विधायक धीरेंद्र सिंह ने बताया कि रनहेरा गांव के पास पुलिस चौकी है। वहां बड़ा मैदान उपलब्ध है। जिसमें जनसभा का आयोजन किया जा सकता है। पार्किंग की अच्छी व्यवस्था हो सकती है। इसके अलावा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर भी यहां बेहद आसानी से लैंड कर सकते हैं। हेलीकॉप्टर यहां से उड़ान भर सकते हैं। यही शिलान्यास कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह और यमुना अथॉरिटी के सीईओ अरुणवीर सिंह ने भी स्थल का दौरा कर लिया है। जल्दी ही मेरठ के मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह और लखनऊ से मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी इस जगह का दौरा करेंगे। उम्मीद है कि अगले एक सप्ताह में शिलान्यास की तारीख निर्धारित कर दी जाएगी।

अगस्त में होगा कार्यक्रम
आपको बता दें कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए सभी जरूरी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं। केवल प्रधानमंत्री का कार्यक्रम मिलने की देरी थी। एयरपोर्ट के लिए अधिग्रहीत की गई जमीन से गांव का विस्थापन किया जा चुका है। जमीन की रजिस्ट्री कंपनी के नाम की जा चुकी है। यमुना अथॉरिटी ने कंपनी को कब्जा भी दे दिया है। इन गांवों से विस्थापित किए गए किसानों के लिए जेवर के पास टाउनशिप बसाई जा रही है। अब यह तय हो गया है कि 22-25 अगस्त के बीच जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास होगा।

लीज एग्रीमेंट संपन्न हुआ
कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर कम होने के बाद अब नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) के भूमि पूजन और शिलान्यास की तैयारी तेज हो गई है। पिछले हफ्ते राजधानी लखनऊ में उत्तर प्रदेश नागरिक उड्डयन विभाग और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (NIAL) के बीच जेवर में प्रस्तावित एयरपोर्ट के पहले चरण के लिए 1334 हेक्टेयर जमीन का लीज एग्रीमेंट संपन्न हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) इस मौके पर मौजूद रहे। इस एग्रीमेंट के बाद अब जमीन आधिकारिक तौर पर नियाल के नाम हो गई। इससे पहले यह यूपी नागरिक उड्डयन विभाग के नाम दर्ज थी।

जमीन सौंपी गई
राज्य सरकार की ओर से एग्रीमेंट पर विशेष सचिव नागरिक उड्डयन बिशाक और उप सचिव सत्यप्रकाश तिवारी तथा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड की तरफ से सीईओ डॉ अरुण वीर सिंह और नोडल ऑफ़िसर शैलेंद्र भाटिया ने हस्ताक्षर किए। जबकि नोएडा एयरपोर्ट के शेएरहोल्डर एग्रीमेंट पर YIAPL की तरफ़ से सीईओ क्रिसटोफ शेलमन और शोभित गुप्ता तथा NIAL की ओर से निदेशक नागरिक उड्डयन बिशाक और सीईओ डॉ अरुण वीर सिंह ने हस्ताक्षर किए। नोडल अधिकारी शैलेंद्र भाटिया ने शेयरहोल्डर एग्रीमेंट प्रस्तुत किया। साथ ही नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफ़ील्ड एयरपोर्ट, जेवर के लिए कन्सेशन एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए गये। यह हस्ताक्षर उत्तर प्रदेश सरकार की कम्पनी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड और ज़ुरिक एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी की एसपीवी YIAPL के बीच सम्पन्न हुआ।

विस्थापित हो चुके हैं परिवार
पहले चरण के निर्माण में आने वाले गांवों के किसानों को विस्थापित करने की प्रक्रिया तेजी से पूरी की जा रही है। संबंधित गांवों के किसान जेवर बांगर में विस्थापित हो चुके हैं। जिला प्रशासन ने विस्थापन के लिए कई टीमें बनाई हैं। यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ज्यूरिख कंपनी की ही सब्सिडरी कंपनी है। जबकि नियाल में नोएडा, ग्रेटर नोएडा, यमुना प्राधिकरण व प्रदेश सरकार की हिस्सेदारी है। राजधानी लखनऊ में आज नियाल व यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड के बीच शेयर होल्डिंग एग्रीमेंट पर भी हस्ताक्षर किया गया। साथ ही मुख्यमंत्री की मौजूदगी मंम जेवर एयरपोर्ट के लिए अधिग्रहित जमीन नियाल के नाम दर्ज हो है। इसके लिए नियाल ने 96 करोड़ की स्टॉम्प ड्यूटी अदा की।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.